राहत / रेल में नहीं परोसा जा सकेगा खराब या बासी खाना, QR कोड से मिलेगी खाने की पूरी जानकारी

प्रतीकात्मक फोटो। प्रतीकात्मक फोटो।
X
प्रतीकात्मक फोटो।प्रतीकात्मक फोटो।

दैनिक भास्कर

Sep 19, 2019, 11:24 AM IST

यूटिलिटी डेस्क. रेल सफर के दौरान अक्सर खाने को मिलने वाले सामान के खराब या बासी खाने की शिकायतें सामने आती रहती हैं। यात्रियों कि इस परेशानी को हल करने के लिए रेल मंत्रालय नई शुरुआत करने जा रहा है। रेलवे ट्रेनों में यात्रियों को दिए जाने वाले खाने के पैकेट पर उससे संबंधित आवश्यक जानकारी के लिए क्यूआर कोड (QR Code) जरूरी होंगे। इसके लिए IRCTC नियम तैयार कर रहा है। इस नए सिस्टम को फेज वाइस तरीके से लागू किया जाएगा।


रेल के खाने पर QR कोड जरूरी

  • QR कोड को स्कैन करने से यात्रियों को खाने की जानकारी मिलेगी। इस कोड को स्कैन पर यात्री खाने की सही कीमत, पैकिंग कब, कहां और कितने बजे हुई इस तरह की कई बातें जान सकेंगे है।
  • इससे पहले रेलवे ने खाने की गुणवत्ता और उसको बनाने वाले रसोइयों पर नजर रखने के लिए यात्रियों को IRCTC की वेबसाइट पर अब खाना ऑर्डर करने से पहले किचन में बन रहे खाने को देखने की सुविधा उपलब्ध दी थी।

क्या होता है क्यूआर कोड?

  • क्यूआर कोड का इस्तेमाल सबसे पहले जापान की कंपनी ने किया था। 
  • इसमें क्यूआर का मतलब क्विक रिस्पांस होता है। इस कोड को तेजी से रीड करने के लिए बनाया गया है। 
  • यह बारकोड का अपग्रेड वर्जन है। बारकोड के कटने-फटने की परेशानी के कारण क्यूआर कोड बनाया गया है।
  • क्यूआर कोड का खास तरह की जानकारी को सांकेतिक शब्दों में बदलने के लिए प्रयोग किया जाता है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना