पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

आरटीजीएस सिस्टम में बदलाव, सुबह 8 की बजाय 7 बजे से ही कर सकेंगे डिजिटल ट्रांसफर

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • आरबीआई ने जून में एनईएफटी और आरटीजीएस पर शुल्क खत्म करने का फैसला भी लिया था

यूटिलिटी डेस्क. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने डिजिटल ट्रांजेक्शन को बढ़वा देने के लिए रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट (आरटीजीएस) सिस्टम का समय बढ़ा दिया है। अब सुबह 8 बजे के बजाय 7 बजे से RTGS शुरू होगा। नई सर्विस 26 अगस्त 2019 से लागू हो गई है। आरटीजीएस से कम से कम 2 लाख रुपए या उससे ज्यादा की रकम ट्रांसफर की जाती है।

क्या होता है RTGS ?
आरटीजीएस ट्रांजेक्शन (इंटरनेट बैंकिंग से पैसों का लेन-देन) रियल टाइम बेसिस पर होती है। आरटीजीएस का इस्तेमाल बड़े अमाउंट के ट्रांजेक्शन के लिए किया जाता है। ट्रांजेक्शन करते ही दूसरे अकाउंट में पैसा ट्रांसफर हो जाता है। दूसरे-चौथे शनिवार को बैंक की छुट्टी के साथ-साथ यह सर्विस बंद रहती है। वहीं, रविवार और बैंक की जब-जब छुट्टी होती है ये सर्विस बंद रहती है।

RTGS की नई टाइमिंग
RTGS की टाइमिंग अभी तक सुबह 8 बजे से थी, इसे अब सुबह 7 बजे से शुरू किया गया है। फिलहाल, ग्राहकों के लिए RTGS के लिए शाम 6 बजे तक का वक्त मिलता था। वहीं इंटर-बैंक ट्रांजेक्शन की टाइमिंग सुबह 8 बजे से शाम 7.45 बजे तक होती है। नए आदेश के बाद अब RTGS सुबह 7 बजे से शुरू होगा और शाम 6 बजे तक चलेगा। इसके अलावा इंटर बैंक ट्रांजेक्शन टाइमिंग भी सुबह 7 से शाम 7.45 बजे तक होगी।
 

एनईएफटी दिसंबर से 24 घंटे
आरबीआई ने कुछ दिन पहले यह फैसला भी लिया था कि दिसंबर से नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर (एनईएफटी) की सुविधा 24 घंटे कर दी जाएगी। फिलहाल दूसरे और चौथे शनिवार के अलावा सभी वर्किंग-डे में सुबह 8 बजे से शाम 7 बजे तक यह सुविधा मिल रही है। 

एनईएफटी के जरिए 2 लाख रुपए तक फंड ट्रांसफर किया जा सकता है। इससे ज्यादा रकम ट्रांसफर करने के लिए आरटीजीएस की सुविधा है। डिजिटल ट्रांजेक्शन को बढ़ावा देने के लिए आरबीआई इन सुविधाओं का समय बढ़ा रही है। आरबीआई ने जून में एनईएफटी और आरटीजीएस पर शुल्क खत्म करने का फैसला भी लिया था।
 

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आर्थिक दृष्टि से आज का दिन आपके लिए उपलब्धियां ला रहा है। उन्हें सफल बनाने के लिए आपको दृढ़ निश्चयी होकर काम करना है। आज कुछ समय स्वयं के लिए भी व्यतीत करें। आत्म अवलोकन करने से आपको बहुत अधिक...

और पढ़ें