पैडी प्रोसेसिंग यूनिट योजना / 10 फीसदी राशि लगाकर छोटी राइस मिल शुरू करें, 90 फीसदी लोन सरकार देगी

इस योजना में किसी भी वर्ग और समुदाय का व्यक्ति शामिल हो सकता है। महिलाएं भी आवेदन कर सकती हैं। और विस्तृत जानकारी चाहते हैं तो खादी विलेज इंडस्ट्रीज कमीशन के ऑफिस में संपर्क करें। ऑनलाइन भी जानकारी ले सकते है।

paddy processing unit scheme; every thing about this scheme
X
paddy processing unit scheme; every thing about this scheme

Dainik Bhaskar

Jul 04, 2019, 12:49 PM IST

यूटिलिटी डेस्क. आप अपना बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो पैडी प्रोसेसिंग यूनिट योजना आपके लिए फायदेमंद हो सकती है। इसे मिनी राइस मिल भी कहते हैं। धान की फसल आने पर हर किसान को इस तरह की यूनिट में अपना माल ले जाना पड़ता है, ताकि चावल निकाला जा सके। यदि ग्रामीण क्षेत्र में यूनिट लगाते हैं तो आसपास के धान उगाने वाले किसान आपके पास आसानी से आ सकेंगे। यदि आपके प्रदेश में धान नहीं उगाया जाता है तो ऐसी स्थिति में आप धान खरीदकर भी चावल निकालकर बेच सकते हैं। आप मात्र 3 लाख 50 हजार रु. में पैडी प्रोसेसिंग यूनिट लगा सकते हैं। अगर आपके पास इतना पैसा नहीं है तो आप 90% तक लोन सरकार से ले सकते हैं। आपके पास 35 हजार रु. हैं तो भी आप यह यूनिट लगाने की योजना पर काम कर सकते हैं। 


दरअसल, खादी विलेज इंडस्ट्रीज कमीशन ऐसे बिजनेस को 90% तक लोन देता है। इस योजना में अपना व्यापार शुरू करने की कुल लागत करीब 3 लाख 50 हजार रु. आ रही है। मशीनों के लिए अनुभवी लोगों की जरूरत होगी। आपको अनुभवी लोग नहीं मिलते हैं तो आप खुद उचित ट्रेनिंग लें, फिर आवेदन करें। सीखने के बाद आप कर्मचारियों को भी सिखाएं। कच्चा माल आप ग्रामीण भागों में खेत से प्राप्त कर सकते हैं, क्योंकि ऐसे स्थानों पर ब्रांडेड राइस मिलों की डिमांड नहीं होती। वैसे भी ब्रांडेड राइस मिलों की मशीनें बहुत महंगी और काफी बड़े प्लांट में लगती हैं।

योलना से जुड़ी खास जानकारी

  1. इन मशीनों की जरूरत पड़ेगी

    इसके बाद आपको पैडी क्लीनर विद डस्ट बाउलर, पैडी सेपरेटर, पैडी दियूस्कर, राइस पॉलिशर, ब्रान प्रोसेसिंग सिस्टम, एसप्रिरटर खरीदना होगा। इन सब पर लगभग 3 लाख रुपए खर्च होंगे। इसके अलावा वर्किंग कैपिटल के तौर पर लगभग 50 हजार रुपए और खर्च होंगे। इस तरह आप 3 लाख 50 हजार रुपए में राइस मिल शुरू कर सकते हैं।

  2. इस उद्योग से संबंधित जरूरी बातें

    अपने उद्योग का जो भी नाम रख रहे हैं, उसी नाम से रजिस्ट्रेशन कराना होगा। उसी नाम पर बिजली का व्यावसायिक कनेक्शन लेना होगा।  


    - धान निकालते समय ध्यान रखें दाने टूटें नहीं, वर्ना आपको हानि हो सकती है। 


    - कितनी बड़ी यूनिट लगाना चाहते हैं, उसके अनुसार 3 से 8 श्रमिकों का इंतजाम कर लें। 


    - कितनी बड़ी मशीन खरीदना चाहते हैं, यह आप पर निर्भर करेगा। छोटी मशीन लगाते हैं तो उसे कहीं भी ले जा सकते हैं। इससे आप किसी भी किस्म का चावल निकाल सकते हैं। 


    - यदि आपके आसपास के बाजार में मशीन नहीं मिलती है तो ऑनलाइन सर्च करें। 


    - अपने उद्योग का प्रचार करें, ताकि आपको माल मिलता रहे।

  3. ऐसे करें ऑनलाइन 

    आवेदन सरकार से आर्थिक सहायता लेने के लिए आपको प्रधानमंत्री इम्प्लायमेंट जनरेशन प्रोग्राम के तहत लोन के लिए आवेदन करना होगा।

     

    - यदि ऑनलाइन आवेदन करते हैं तो फॉर्म में सभी सही जानकारी दें। कोई एक जानकारी भी गलत हुई तो फॉर्मनिरस्त हो जाएगा।

     

    - खादी एवं विलेज इंडस्ट्रीज कमीशन की ओर से कई प्रोजेक्ट्स की प्रोफाइल बनाई गई है। इसके आधार पर आप अपने प्रोजेक्ट की रिपोर्ट तैयार कर लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं।

     

    - इस यूनिट के लिए लगभग 1000 वर्ग फीट के शेड की व्यवस्था करना होगी।

  4. ये दस्तावेज लगेंगे 

    आधार कार्ड, एड्रेस प्रूफ, फोटोग्राफ, किराए से लिए शेड का एग्रीमेंट, जिस नाम से व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं उसके रजिस्ट्रेशन की कॉपी, बिजली कनेक्शन ले लिया है या लोन पास होने पर लेंगे आदि जानकारी देना होगी।

     

    ऑनलाइन आवेदन करने के लिए यहां क्लिक करें

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना