पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रोनाल्डो ने सॉफ्ट ड्रिंक को कहा नो:सॉफ्ट ड्रिंक की जगह कॉफी पिएं, उम्र 10 साल तक बढ़ जाएगी, कैंसर का रिस्क 12% कम होगा, सुसाइड के ख्याल भी नहीं आएंगे

एक महीने पहले

फुटबॉलर क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान अपनी टेबल से सॉफ्ट ड्रिंक की बोतलें हटाईं तो चारो तरफ इसकी चर्चा शुरू हो गई। रोनाल्डो ने कहा कि सॉफ्ट ड्रिंक पीने की जगह लोगों को पानी पीने पर अधिक ध्यान देना चाहिए क्योंकि यह स्वास्थ्य के लिए बेहतर है।

रोनाल्डो के टेबल से दो बॉटल हटा देने पर कंपनी को करीब 293 अरब रुपए का नुकसान हो गया। सॉफ्ट ड्रिंक सेहत के लिए नुकसानदायक है, ये बात तो सभी जानते हैं, लेकिन ये नहीं जानते कि हर साल दुनिया भर में 2 लाख से ज्यादा मौतें सॉफ्ट ड्रिंक की वजह से होती हैं।

हेल्थ मामलों पर लिखने वाले दुनिया के मशहूर राइटर वेड मेरेडिथ ने एक रिसर्च में बताया है कि कोल्ड ड्रिंक आपके शरीर में जाने के एक घंटे के भीतर क्या असर डालती है।

हार्वर्ड स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ की स्टडी से पता चला है कि मीठे सॉफ्ट ड्रिंक्स केवल मोटापा ही नहीं बढ़ाते बल्कि जान के दुश्मन भी हैं। मीठे सॉफ्ट ड्रिंक्स की वजह से दुनिया भर में हर साल 2 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो जाती है। इसकी वजह से हर साल लगभग डेढ़ लाख लोग डायबिटीज के शिकार, लगभग 6000 लोग कैंसर का शिकार और लगभग 44,000 लोग दिल की बीमारियों का शिकार होकर मर जाते हैं।

सॉफ्ट ड्रिंक नहीं तो फिर क्या पिएं
वैसे तो रोनाल्डो ने सॉफ्ट ड्रिंक की जगह पानी पीने की सलाह दी है, लेकिन आप चाहें तो नींबू पानी, फ्रेश जूस, नारियल पानी या फिर कॉफी भी पी सकते हैं। द न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में कॉफी कैफीन एंड हेल्थ के नाम से पब्लिश हुई एक स्टडी के मुताबिक कॉफी पीने से दिल की बीमारी, टाइप 2 डायबिटीज, डिप्रेशन, सुसाइड, लिवर कैंसर, मेलेनोमा और प्रोस्टेट कैंसर सहित कई बीमारियों का खतरा कम हो जाता है।

कॉफी पीने से घटती है डेथ रेट
दुनिया भर में कॉफी को लेकर की गई स्टडी में यह बात सामने आई है कि एक दिन में 5 से 6 कप कॉफी (400 मिलीग्राम कैफीन) पीने से डेथ रेट घटती है। एक स्टडी के मुताबिक दिन में 3 से 5 कप कॉफी पीने वालों में जल्दी मरने का खतरा 15% तक कम हो जाता है। कॉफी पीने वाले पुरुष और महिला दोनों में सुसाइड का खतरा 50 प्रतिशत तक कम हो जाता है, क्योंकि कॉफी दिमाग में उस केमिकल के प्रोडक्शन को बढ़ाने में मदद करती है, जिनमें एंटीडिप्रेसेंट इफेक्ट होते हैं। यह स्टडी 2,00,000 लोगों में कई सालों तक की गई।

कॉफी पीने वालों में मौत की आशंका 10 साल तक कम हो जाती है
ब्रिटेन में हुई एक स्टडी से पता चला है कि कॉफी पीने वालों में मौत की आशंका करीब 10 साल तक कम हो जाती है। ये स्टडी करीब पांच लाख लोगों पर की गई। टफ्ट्स यूनिवर्सिटी की न्यूट्रिशन एक्सपर्ट एलिस लिष्टेनश्टाइन कहती हैं कि कॉफी पीने से ही जवान रहा जा सकता है। इसलिए कॉफी पीनी चाहिए।

खुश रहने में मदद करती है कॉफी
अमेरिका के नेशनल कैंसर स्कूल में रिसर्चर एरिका लॉफ्ट फील्ड की स्टडी में पता चला है कि यदि हम 24 घंटे में 4 से 5 कप यानी 400 मिलीग्राम कॉफी पीते हैं तो इसके कई फायदे हैं। कॉफी में एक हजार से भी अधिक केमिकल कंपाउंड पाए जाते हैं जिनमें एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो कोशिकाओं की रक्षा करते हैं और खुश रहने में भी मदद करते हैं।