जरूरत की खबर:कभी सोचा है आपकी मौत के बाद फेसबुक, ट्विटर कौन संभालेगा? जानिए, कैसे चुन सकते हैं अकाउंट का वारिस?

2 महीने पहलेलेखक: सुनीता सिंह

एलन मस्क इन दिनों ट्वीट को लेकर भी चर्चा में रहते हैं। हाल ही में उन्होंने अपनी मौत को लेकर एक ट्वीट कर दिया। उन्होंने लिखा– 'अगर मेरी मौत रहस्यमय तरीके से हो जाती है… आपको जानकर अच्छा लगा।' वैसे तो उनका ट्वीट किसी और संदर्भ में था, लेकिन इस पर अमेरिकी यूट्यूब स्टार जिम्मी डोनाल्डसन ने कहा– अगर ऐसा होता है तो मैं ट्विटर संभाल लूंगा। जवाब में मस्क ने ओके लिख दिया।

यह तो हुई मजाक-हंसी की बात। पर क्या आपने सीरियसली सोचा है कि हमारे जान से प्यारे सोशल मीडिया अकाउंट का हमारे बाद क्या होगा? वह अकाउंट जहां हमारी पसर्नल फोटो, चैट सब सेव है।

आज जरूरत की खबर में बात करेंगे कि मरने के बाद आपके फेसबुक, इंस्टाग्राम का क्या होता है? हमारे गाइड में वह सब कुछ शामिल है जो आपको जानना जरूरी है

सबसे पहले जानते हैं…

सोशल मीडिया पर कितने यूजर्स

  • Facebook: 291 करोड़
  • Youtube: 256.2 करोड़
  • Whatsapp: 200 करोड़
  • Instagram: 147.8 करोड़
  • Twitter: 43.6 करोड़

सोर्स: Statista survey 2022

Facebook से शुरुआत करते हैं...

फेसबुक पर वारिस चुनने का क्या प्रोसेस है?

हां, फेसबुक मरने के बाद किसी को वारिस बनाने या उस अकाउंट को हमेशा के लिए डिलीट करने का ऑप्शन देता है। चूंकि फेसबुक पर आपकी बहुत सी पर्सनल चीजें होती है ऐसे में आप वारिस के तौर पर अपने किसी करीबी को चुन सकते हैं, जो आपकी जगह आपका अकाउंट को चला सकता है।

इसके काम के लिए आपको फेसबुक अकाउंट की सेटिंग एंड प्राइवेसी में जाना होगा

  • सबसे पहले फेसबुक के सेटिंग ऑप्शन में जाएं। यहां personal account information पर क्लिक करना है।
  • जिसके अंदर सबसे आखिर में account ownership and control का ऑप्शन मिलेगा।
  • अब account ownership and control के अंदर Memorialisation सेटिंग में जाना है।
  • यहां आपको दो विकल्प फेसबुक की तरफ से दिए जाते हैं।
  • पहला ऑप्शन है Legacy Contact और दूसरा Delete account after death.

Legacy Contact

यहां आप किसी और को आपका अकाउंट ऑपरेट करने का अधिकार दे सकते हैं। पोस्ट करने से लेकर पोस्ट डिलीट करने और प्रोफाइल फोटो अपडेट करने तक का अधिकार आपके Legacy Contact के पास होगा।

यहां तक कि वो आपके अकाउंट को हटाने के लिए फेसबुक को बोल सकता है। जो भी Legacy Contact होगा उसके मुताबिक आपका वारिस सिर्फ उन्हीं पोस्ट को डिलीट या मैनेज कर सकता है जो आपके मौत के बाद डाली जाएंगी।

Delete account after death: इसमें आप चाहें तो इसे हमेशा के लिए डिलीट कर सकते हैं या फिर इसे याद के तौर पर रख सकते हैं। इसके लिए फेसबुक अकाउंट पर आपके नाम के ठीक बाद ‘Remember' का ऑप्शन दिखाई देगा।

यदि आप ये ऑप्शन चुनते हैं, तो आपके मरने के बाद आपके परिवार का कोई सदस्य यदि फेसबुक को आपकी मौत के बारे में इन्फॉर्म करना होगा। मौत से जुड़ी जानकारी जैसे डेथ सर्टिफिकेट आपके परिवार को फेसबुक को देना पड़ता है।

अब Instagram से जुड़ी जानकारी जानते हैं…

फेसबुक और इंस्टाग्राम दोनों के ओनर मार्क जुकरबर्ग हैं। एक ही ओनर होने की वजह से इंस्टाग्राम की पॉलिसी 90 परसेंट तक फेसबुक जैसा ही है। मरने के बाद ही इंस्टाग्राम अकाउंट को पूरी तरह से बंद किया जा सकता है या फिर उसे याद के तौर पर रखा जा सकता है।

किसी इंसान के मरने पर उसके परिवार के सदस्य या दोस्त अकाउंट को Memorialize करा सकते हैं। ये तभी होगा जब कोई फैमिली मेंबर या कोई फ्रेंड इंस्टाग्राम हेल्प सेंटर http://surl.li/bzjcr पर सभी जरूरी जानकारी जैसे डेट ऑफ बर्थ, डेथ सर्टिफिकेट सबमिट करके इस प्रोसेस को पूरा किया जा सकता है।

मरने के बाद इंस्टाग्राम अकाउंट को याद के तौर पर ऐसे रख सकते हैं

  • मेमोरियलाइज्ड इंस्टाग्राम अकाउंट में मरने वाले व्यक्ति के नाम के आगे ‘Remembering’ शब्द होता है।
  • उस अकाउंट पर शेयर्ड पोस्ट जैसे फोटो-वीडियो वैसी ही रहती हैं जैसे की डेथ से पहले थीं। उसे वह सारे लोग देख सकते हैं जिनके साथ मरने वाले व्यक्ति ने शेयर किया था।
  • एक बार इंस्टाग्राम अकाउंट को Remembering करने के बाद अकाउंट में मौजूदा पोस्ट, प्रोफाइल इंफार्मेशन या सेटिंग्स में चेंज नहीं किया जा सकता है।
  • कोई भी Remembering अकाउंट में लॉग इन नहीं कर सकता है न ही वो अकाउंट पब्लिक इंस्टाग्राम स्पेस में दिखाई देगा।

Twitter पर मरने के बाद अकाउंट चलाने की कोई पॉलिसी नहीं है

एक बार ट्विटर को आपके डेथ की वेरिफाइड इंफार्मेशन मिलती है वो आपके अकाउंट को डिलीट कर देता है। इसके लिए आपके परिवार का कोई मेंबर ट्विटर से आपके अकाउंट को डिलीट करने की रिरक्‍वेस्‍ट भेज सकता है। इस काम के लिए उन्हें यूजर का डेथ सर्टिफिकेट देना होगा। उसके बाद आपकी पोस्‍ट, फोटोग्राफ और अकाउंट को डिलीट कर दिया जाएगा।

YouTube कौन हैंडल करेगा जब आप नहीं रहेंगे

म्यूजिक और वीडियो देखने के लिए सबसे बेस्ट प्लेटफॉर्म यूट्यूब को माना जाता है। यूट्यूब पर अपने कंटेंट के जरिए लाखों-करोड़ों कमाने वाले लोगों भी बहुत ज्यादा हैं। ऐसे में एक बिजनेस प्लेटफॉर्म होने के साथ इसकी यूसेज भी अच्छी खासी है। ऐसे में कोई अगर कोई यूट्यूब अकाउंट होल्डर चाहता डेथ के बाद उसका अकाउंट कोई और इस्तेमाल करे तो उसको यूट्यूब को एक लीगल कॉन्‍ट्रैक्‍ट भेजना होगा। इसमें यह बताना होगा कि आपकी मौत के बाद कौन अकाउंट हैंडल करेगा। अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो यूट्यूब एक टाइम लिमिट के बाद अकाउंट इस्तेमाल न होने पर उसे उसे बंद कर देगा।

Google की पॉलिसी यह है

फेसबुक से अलग है गूगल अकाउंट लीगेसी जिसमें आप अपनी लीगेसी खुद को बना सकते हैं। मतलब गूगल अकाउंट लीगेसी में आप खुद तय कर सकते हैं कि आपके मरने के बाद आपके अकाउंट को कब डिलीट किया जाए।

पहली शर्त जो आपको मानना पड़ेगी वो ये कि गूगल कब आपको इनएक्टिव मान ले। जैसे तीन महीने या फिर अधिकतम 18 महीने। गूगल इस दौरान SMS और मेल से इन्फॉर्म भी करता रहेगा। आप ये भी तय कर सकते हैं कि किसको और कितना बताया जाए, लेकिन ये ऑप्शनल है। आप ऑटो रिप्लाई भी सेट कर सकते हैं जो हमें थोड़ा फनी लगा। मतलब मरने के बाद कोई मेल करे तो उसको क्या रिप्लाय मिले कि भई अपन तो निकल लिए आपको ईमेल नहीं मिला क्या। सारी प्रक्रिया पूरी होने के बाद आप चाहें तो ये तय भी कर सकते हैं कि कौन आपका डेटा डाउनलोड कर सकता है। एक बार आपके इनएक्टिव रहने की समय सीमा पूरी हो गई तो आपका गूगल अकाउंट अपने आप हमेशा के लिए डिलीट हो जाएगा।

मरने के बाद इतने समय तक अकाउंट रहता है एक्‍टिव ?

फेसबुक पर तब तक अकाउंट एक्‍टिव रहता है जब तक उसे आपकी मृत्‍यु की सूचना कोई ना दे। वहीं लिंकेडिन पर भी मृत्‍यु की सूचना पहुंचने ही अकाउंट बंद हो जाता है। पिनट्रस्‍ट अकाउंट को कभी बंद नहीं किया जा सकता है, जबकि ट्विटर अकाउंट को 6 महीने बाद बंद हो जाता है। कंपनी को आपकी मृत्‍यु के बारे में बताने के बाद आपका गूगल का अकाउंट बंद हो जाता है।

खबरें और भी हैं...