जरूरत की खबर:आप भी नौकरी से इस्तीफा देने का मन तो नहीं बना चुके हैं! जानिए इसे सलीके से कैसे करें प्लान…

5 महीने पहलेलेखक: अलिशा सिन्हा

​​​​​भारत में हर 5 में से 4 कर्मचारी इस साल नौकरी बदलने के लिए तैयार हैं। यानी अमेरिका और दुनिया में पिछले साल से चल रहे 'द ग्रेट रेजिग्नेशन' का असर अब भारत में भी दिखने लगा है। अगर आप भी नौकरी बदलने के बारे में सोच रहे हैं, तो जरा ठहरिए। हम आपको सलीके से इस्तीफा प्लान करने में मदद कर सकते हैं जिससे आप आगे की जिंदगी सुकून से जी सकें।

करियर स्ट्रैटेजिस्ट और लीडरशिप कोच सबरीना लिंक्डइन पर करियर को लेकर अपने विचार अक्सर लिखती रहती हैं। वे कहती हैं, याद रखें कि आपने एक प्रोफेशनल के तौर पर अपनी इमेज बनाई है। इसलिए रेजिग्नेशन को हल्के में लेकर अपने नाम और प्रतिष्ठा पर गलत प्रभाव न पड़ने दें। जैसे आप शादी, बच्चे, घर का बजट, रिटायरमेंट आदि प्लान करते हैं वैसे ही रेजिग्नेशन को लेकर भी प्लानिंग करें।

उससे पहले द ग्रेट रेजिग्नेशन की पूरी कहानी पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें- भारत में भी आ रहा इस्तीफों का दौर

अमेरिका में 3.4 करोड़ ने 2021 में नौकरी छोड़ी, अब 2022 में भारत के 82% इम्प्लॉई नौकरी बदलने को तैयार है। हम सब अपने करियर में आगे बढ़ने के लिए एक नौकरी छोड़कर दूसरी नौकरी करते हैं, लेकिन ऐसे फैसले लेने में हमें जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए। आज जरूरत की खबर में हम आपको बताएंगे कि रेजिग्नेशन देने से पहले आपको किन बातों का ख्याल रखना चाहिए।

रेजिग्नेशन देने से पहले कर लें ये प्लानिंग

रेजिग्नेशन को लेकर क्या कहते हैं एक्सपर्ट्स?

बिना प्लानिंग रिजाइन करना हो सकता है गलत फैसला

हाल ही में न्यूयॉर्क टाइम्स में छपे एक लेख में करियर कोच और सलाहकार जेस वास ने कहा कि हम अक्सर वह काम करते हैं जो हम करना चाह रहे हैं, पर दूसरे हमसे कुछ और ही उम्मीद करते हैं। इस वजह से भी हम अपने करियर को लेकर सही फैसला नहीं कर पाते। इस बारे में भी जरूर सोचें कि आपके लिए क्या जरूरी है। नौकरी छोड़ना बेहतर भविष्य का सार्थक तरीका हो सकता है, लेकिन तब नहीं जब आप जल्दबाजी में यह निर्णय ले रहे हैं। इसलिए इसकी प्लानिंग अच्छी तरह से करें।

मॉन्स्टर डॉट कॉम के करियर कोच विक्की सालेमी कहते हैं कि कोविड महामारी ने हम में से कई लोगों को अपने जीवन के साथ-साथ करियर को भी परखने का मौका दिया है। ऐसे में बिना किसी प्लान के रिजाइन करना एक गलत फैसला भी हो सकता है। इसलिए जब तक आपके पास सही अवसर, सही जगह से न आए, नौकरी छोड़ने का प्लान ड्रॉप कर दें।

करियर गाइडेंस इंडिया की डायरेक्टर प्रवीण मल्होत्रा इस पर कहती हैं, हर व्यक्ति खुशी से रिजाइन नहीं करता। उसकी कोई न कोई वजह होती है। कई बार हम गलत जॉब में भी फंस जाते हैं। ऐसे में बिना सोचे जॉब छोड़ने का मन बना लेते हैं। कई बार अचानक रिजाइन करने वाली परिस्थिति हो जाती है। ऐसे लोगों को मेरी सलाह हैं कि वे याद रखें कि कोराना का दौर है। दूसरी नौकरी का हाथ में होना बेहद जरूरी है। हर नौकरी में कोई न कोई चुनौती है उसका सामना करें। इसके बाद भी अगर कोई वजह है तब बैकअप रखकर ही रिजाइन करें।