पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सर्दियों में करें पावर सेविंग:ठंड में इलेक्ट्रिक कंजप्शन को कैसे कम करें, पावर सेविंग के क्या तरीके हो सकते हैं?

4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

उत्तरी भारत से आने वाली बर्फीली हवाओं से मैदानी इलाकों में ठंड बढ़ गई है। राजस्थान के माउंट आबू में माइनस 1.4 डिग्री टेम्प्रेचर दर्ज किया गया है। वहीं, चुरू में अब तक का सबसे कम माइनस 0.1 डिग्री टेम्प्रेचर दर्ज किया गया है। इधर, ठंड बढ़ने से घरों में टेम्प्रेचर मेंटेन रखने वाले इलेक्ट्रिक इक्विपमेंट्स का उपयोग भी बढ़ गया है। आने वाले दिनों में जैसे- जैसे सर्दी बढ़ेगी, इन सभी का यूज भी बढ़ जाएगा।

भारत इलेक्ट्रिसिटी प्रोडक्शन के मामले में दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा और सबसे ज्यादा इलेक्ट्रिसिटी कंजप्शन करने वाला देश है। सरकार की तरफ से जारी आंकड़ों के मुताबिक, 2019 में कुल कंजप्शन 94.60 अरब यूनिट था, इसमें इंडस्ट्री में होने वाला कंजप्शन 40%, डोमेस्टिक यूज में 25% रहा था।

ठंड में सबसे ज्यादा घर के इलेक्ट्रिसिटी बिल में इजाफा होता है। इसकी एक वजह यह है कि हैवी वॉट वाले इलेक्ट्रिक इक्विपमेंट्स का यूज बढ़ जाता है। रूम का टेम्प्रेचर मेंटेन रहे, इसके लिए रातभर हीटर चालू रखना पड़ता है। गर्म पानी के लिए गीजर का यूज भी बढ़ जाता है। जिनके घरों में गीजर की सुविधा नहीं है, वे आयरन रॉड का यूज पानी गर्म करने के लिए करते हैं। अगर आप भी इन सारे इलेक्ट्रिक इक्विपमेंट का यूज करेंगे, तो यह आपके बिजली के बिल को बढ़ाएगा ही, इसमें हैरानी की बात नहीं है। लेकिन अगर थोड़ा सा भी ध्यान दें और इनका सही तरीके से मैनेजमेंट करें, तो ठंड में होने वाले इलेक्ट्रिसिटी कंजप्शन को कम कर सकते हैं।

इन 3 वजह से ठंड में ज्यादा आता है इलेक्ट्रिसिटी बिल

1. ठंड में घर पर ज्यादा समय बिताना

  • ठंड में अक्सर ज्यादा समय घर पर ही बीतता है। कोरोना की वजह से तो आधे लोग वर्क फ्रॉम होम ही कर रहे हैं। ऐसे में तापमान बैलेंस करने और इंटरटेनमेंट के लिए इलेक्ट्रिक इक्विपमेंट का यूज बढ़ जाता है। हम पहले से अधिक इस तरह के इक्विपमेंट जैसे- टीवी, लाइट, ओवन का यूज करने लगते हैं। इस बार तो नहीं लेकिन विंटर ब्रेक की वजह से घर पर बच्चों के रहने से भी इस तरह से बिजली के बिल में इजाफा होता है। हालांकि, स्कूल न खुलने की वजह से अभी सभी बच्चे घर पर हैं। ऐसे में इस बार इलेक्ट्रिसिटी कंजप्शन बढ़ सकता है।

2. टेम्परेचर डाउन होना

  • भारत में दिसंबर और जनवरी में टेंपरेचर डाउन हो जाता है। ऐसे में ठंड से बचने के लिए तापमान बैलेंस करते हैं। इसके लिए हीटिंग इक्विपमेंट का यूज ज्यादा होने लगता है। इन दिनों में तो इनका उपयोग 12-12 घंटे तक होने लगता है।

3. फेस्टिवल और शादियों का सीजन

  • भारत में नंवबर और दिसंबर का समय शादियों का रहता है। दिवाली के समय यहां हिंदू धर्म की मान्यताओं के अनुसार देवउठनी ग्यारस के बाद शादियां शुरू हो जाती है। ऐसे में इन महीनों में गेस्ट का आना लगा रहता है। इसके अलावा क्रिसमस की वजह से भी लोग घरों को डेकोरेट करते हैं, जिस वजह से भी इलेक्ट्रिसिटी का बिल ज्यादा आने लगता है।

इन 10 तरीकों से कर सकते हैं पावर सेविंग

1. घर में गेप भरें, जिससे ठंडी हवा को रोक सकें

  • अक्सर हम सभी के घर में कई तरह के गेप होते हैं, जिसकी वजह से घर में ठंडी हवा आती है। यह गेप आपको घरों की दीवारों में आए क्रेक्स, खिड़कियों और दरवाजों में नजर आ सकते हैं। इस वजह से घर ठंडा हो जाता है। इन्हें हम अगर पूरी तरह से फिक्स कर देंगे, तो घर का टेम्प्रेचर डाउन नहीं होगा और इलेक्ट्रिक इक्विपमेंट की जरूरत नहीं रहेगी।

2. हीटिंग सिस्टम की एफिशिएंसी चेक करें

  • ठंड के दिनों में हीटिंग सिस्टम लाकर घरों में रखते हैं। अगर आप घरों में अच्छी एफिशिएंसी का हीटर लाकर रखेंगे तो आपका इलेक्ट्रिसिटी बिल कम आएगा। कई बार खराब या पुराने हो गए हीटर इलेक्ट्रिसिटी का कंजप्शन ज्यादा करते हैं। इस वजह से भी इलेक्ट्रिसिटी बिल बढ़कर आता है। अगर आपका हीटर रिपेयरिंग मांग रहा है, तो उसे जल्द ठीक करा सकते हैं।

3. एनर्जी एफिशिएंट लाइट का यूज करें

  • नवंबर और दिसंबर का समय शादी और हॉलिडे सीजन रहता है। ऐसे में हम घर के डेकोरेशन के लिए भी लाइट लगाते हैं। अगर इस तरह की लाइट बाजार से ला रहे हैं, तो इसका खासा ध्यान रखें कि लाइट एनर्जी एफिशिएंट हो। इस तरह की लाइट इलेक्ट्रिसिटी कंजप्शन कम करती है। ​​​​​​

4. टेम्प्रेचर कंट्रोल के लिए थर्मोस्टेट यूज करें

  • थर्मोस्टेट एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है। इसे इलेक्ट्रिकल सर्किट की सीरीज में लगाया जाता है। यह टेम्प्रेचर को कंट्रोल करता है। हम इसकी हीटिंग पावर को कम कर सकते हैं। इससे इलेक्ट्रिसिटी कंजप्शन में कमी आ सकती है। इसलिए टेम्प्रेचर कंट्रोल करने वाले थर्मोस्टेट का ही यूज करें।

5. हीटर की जगह अलाव जलाएं

  • जरूरी नहीं कि टेम्प्रेचर मेंटेन करने के लिए हम इलेक्ट्रिक इक्विपमेंट का ही यूज करें। पहले जब ये संसाधन का उपयोग नहीं था, तब भी लोग अलाव जलाकर ठंड को कम करते थे। अगर घर के अंदर अलाव और फायर प्लेस की जगह है, तो उसका यूज करें।

6. सनलाइट का फायदा उठाएं

  • घर में ऐसी जगह बनाएं, जहां से सीधी सनलाइट अंदर आ सके। इससे घर का टेम्परेचर भी सही रहेगा, और बॉडी को भी विटामिन D मिलेगा। इस बात का ध्यान रखें, जब तक सनलाइट है, तब तक सभी इलेक्ट्रिक इक्विपमेंट बंद रखें।

7. विंडो को कवर करें

  • अगर आपके घर में एनर्जी एफिशिएंट विंडो नहीं हैं, तो उन्हें प्लास्टिक शीट से कवर कर दें। इससे बाहर से घर के अंदर आने वाली हवा रुक जाएगी और घर में लगे हीटर इक्विपमेंट का यूज कम होगा।

8. पानी गर्म करने तरीकों में बदलाव करें

  • आप पानी गर्म करने के तरीके बदल दें, तो आपको इससे फायदा होगा। जरूरी नहीं कि हमेशा गीजर या इलेक्ट्रिक हीटर पर ही पानी गर्म करें। इसके लिए गैस पर भी पानी रख सकते हैं।

9. ठंड में फ्रिज का इस्तेमाल बंद कर दें

  • अगर आप अपने घर में फ्रिज का इस्तेमाल करते हैं, तो उसका उपयोग करना बंद कर दें। अगर खाना फ्रिज में नहीं भी रखेंगे तो ठंड में जल्दी खराब नहीं होता है। इससे आपके बिल में कम आएगी।
खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपने काम को नया रूप देने के लिए ज्यादा रचनात्मक तरीके अपनाएंगे। इस समय शारीरिक रूप से भी स्वयं को बिल्कुल तंदुरुस्त महसूस करेंगे। अपने प्रियजनों की मुश्किल समय में उनकी मदद करना आपको सुखकर...

और पढ़ें