एनर्जी ड्रिंक की लत भी जानलेवा:युवाओं में तेजी से बढ़ रही कैफीन वाली एनर्जी ड्रिंक्स की लत, यह उन्हें ज्यादा एग्रेसिव बनाती है; जानिए कैसे पाएं इस लत से छुटकारा

5 महीने पहले

स्कूल स्टूडेंट्स हर दिन एवरेज 121 मिलीग्राम कैफीन लेते हैं, जो उनके हिसाब से बहुत ज्यादा है। कॉफी, चाय, कोला बेवरेज और एनर्जी ड्रिंक्स को लेकर पेरेंट्स अवेयर नहीं रहते, नतीजतन बच्चों को कैफीन की लत लगती जा रही है। यह उनकी हेल्थ को नुकसान पहुंचा रही है।

युवाओं में कैफीन की लत लगातार बढ़ रही है। स्कूलों में हुए एक सर्वे में यह सामने आया है कि इंडिया में बच्चों की हर दिन कैफीन लेने की मात्रा US के बच्चों से बहुत ज्यादा है। यूनिवर्सिटी ऑफ मेडिकल साइंस की ओर से यह सर्वे किया गया था। इसमें दिल्ली के तीन स्कूलों के 300 बच्चों को शामिल किया गया। इससे पता चला कि युवा ज्यादा कॉफी और चाय पीने के कारण कैफीन की ज्यादा मात्रा ले रहे हैं, जबकि विकसित देशों में ऐसा नहीं है।

दूसरे देशों की तुलना में भारत में कैफीन की लत ज्यादा
यूनाइटेड स्टेट्स में 12 से 16 साल तक के स्टूडेंट्स प्रतिदिन 64.8 mg कैफीन ले रहे हैं, वहीं 17 से 18 तक के टीनेजर्स प्रतिदिन 96.1 mg कैफीन लेते हैं। दूसरी ओर ऑस्ट्रेलिया पर नजर डालें, तो यहां पर 12 से 16 साल तक के टीनेजर्स 109 mg कैफीन पीते हैं। कनाडा में 8 से 12 साल के बच्चे 109 mg कैफीन लेते हैं।

भारत में कैफीन का हाई डोज ले रहे हैं स्टूडेंट
सर्वे में यह भी निकल कर आया है कि करीब 6% स्टूडेंट्स प्रतिदिन 300 mg से ज्यादा कैफीन लेते हैं, जो बेहद हानिकारक है। इसी तरह करीब 97 स्टूडेंट्स किसी न किसी के जरिए कैफीन लेते हैं, जो स्ट्रेस को भी बढ़ाती है।

कैफीन की कितनी मात्रा होती है ज्यादा?

  • नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन में पब्लिश कमेटी ऑन न्यूट्रिशन एंड काउंसिल ऑन स्पोर्ट्स मेडिसिन एंड फिटनेस की रिसर्च के मुताबिक टीनएजर्स और बच्चों को कैफीन वाली चीजों से दूर रहना चाहिए। इसके मुताबिक अगर बच्चे या टीनएजर्स कैफीन लेते भी हैं तो इसकी मात्रा 100 mg से कम ही होनी चाहिए।
  • यूएस डिपार्टमेंट ऑफ एग्रीकल्चर में फूड डेटा सेंट्रल की रिपोर्ट के मुताबिक एडल्ट को एक दिन में 400 mg से ज्यादा कैफीन नहीं लेनी चाहिए।
  • पबमेड सेंट्रल में पब्लिश रेजिना विर्जेजस्का, मिरोस्लाव जारोस और बारबरा वोजडा की रिसर्च के मुताबिक प्रेग्नेंट महिलाओं को 200 mg से ज्यादा कैफीन नहीं लेना चाहिए, क्योंकि कैफीन की ज्यादा मात्रा प्री-मैच्योर डिलीवरी, गर्भपात, बच्चे और मां के कम वजन का जोखिम बढ़ा सकती है।

कैसे जानें कि शरीर में कैफीन की मात्रा ज्यादा हो रही है?
लोगों को कैफीन की लत कब लग जाती है, उन्हें पता ही नहीं चलता। वो कितनी मात्रा में कैफीन ले रहे हैं उन्हें इस बात का भी पता नहीं चल पाता है। पबमेड में पब्लिश एलेक्जेंड्रा और जेरेमी ट्रेलर की रिसर्च के मुताबिक अगर आपमें ऐसे लक्षण दिखते हैं तो यह इशारा हो सकता है कि शरीर में कैफीन की मात्रा तेजी से बढ़ रही है...

अगर ये लक्षण दिखें तो कैफीन का इनटेक तुरंत कम कर दें।

कैफीन की लत से छुटकारा

हाइड्रेट रहने से कम होगी कैफीन की क्रेविंग
कैफीन के एडिक्शन से बचने का बेहतर तरीका है कि पानी खूब पिएं। इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिसिन की एक रिसर्च के मुताबिक ज्यादा पानी पीने से कैफीन की तलब भी कम हो जाती है। रोजाना पानी की अधिक मात्रा से बॉडी डिटॉक्सीफाई होगी और आपकी बॉडी हाइड्रेट रहेगी। US नेशनल अकेडमी ऑफ साइंस, इंजीनियरिंग एंड मेडिसिन के मुताबिक महिलाओं को एक दिन में 2.7 लीटर पानी और पुरुषों को एक दिन में 3.7 लीटर पानी पीना चाहिए।

वॉक या एक्सरसाइज करें
नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन में पब्लिश डियोगो आर लारा की रिसर्च के मुताबिक हर रोज वॉक और एक्सरसाइज करना कैफीन की लत से छुटकारा दिला सकता है।

डीप ब्रीथ प्रैक्टिस करें
पबमेड में पब्लिश एरिक एल, गारलैंड और मैथ्यू ओ. हॉवर्ड की रिसर्च के मुताबिक डीप ब्रीथ प्रैक्टिस कैफीन एडिक्शन से छुटकारा दिला सकती है। यदि आप चिंता या एंग्जायटी महसूस कर रहे हैं तो 5 मिनट के लिए गहरी सांस लें। इसके साथ ही अपने दिमाग और नर्वस सिस्टम को शांत करने के लिए मेडिटेशन की प्रैक्टिस करें। ऐसा करने से कैफीन की स्ट्रांग क्रेविंग, एंग्जायटी और बेचैनी को भी खत्म किया जा सकता है।

बेहतर नींद लें
US नेशनल एकेडमी ऑफ मेडिसिन के मुताबिक अच्छी नींद से भी कैफीन की लत छुड़ाने में मदद मिलती है, लेकिन कम नींद लेने से आपकी कैफीन छुड़ाने की लत पर बुरा असर पड़ता है। हेल्दी स्लीप हैबिट अपनाएंगे तो धीरे-धीरे कैफीन की तलब कम होने लगेगी।

डाइट में फाइबर से भरपूर चीजें शामिल करें
नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन में पब्लिश एस्ट्रिड नेहलिग की रिपोर्ट के मुताबिक फाइबर वाली डाइट ब्लड में कैफीन रिलीज को कम कर सकती है। धीमी गति से पचने वाली फाइबर युक्त चीजें जैसे कि साबुत अनाज, बीन्स, दाल, स्टार्च वाली सब्जियां, नट्स और बीज खाने से कैफीन की लत से छुटकारा मिल सकता है।

एल-थीनाइन युक्त चीजें खाएं
एल-थीनाइन अमीनो एसिड एंग्जायटी और ब्लड प्रेशर कम करने में मदद कर सकते हैं। एफएल डोड, डीओ कैनेडी और उनके साथियों की पबमेड में पब्लिश रिसर्च के मुताबिक ऑर्गन मीट, शकरकंद, अंडे, शेल फिश, फैटी फिश, लहसुन, ब्रोकली, सनफ्लॉवर सीड्स, छोले, ब्लूबेरीज में एल-थीनाइन की भरपूर मात्रा होती है। ये चीजें खाने से कैफीन की लत से छुटकारा मिल सकता है।

ग्रीन टी की आदत डालें
कैफीन ड्रिंक के बदले ग्रीन टी लेने की कोशिश करें। इसमें पावरफुल एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं जो कि बॉडी से हार्मफुल टॉक्सिंस को बाहर निकालते हैं। ग्रीन टी पीने से ओवरऑल कैफीन इनटेक कम हो जाता है।