जरूरत की खबर:सेक्स एंड द सिटी के किरदार की तरह गुजरात की क्षमा खुद से कर रहीं शादी, बताया सेल्फ लव, जानिए क्या है यह?

4 महीने पहलेलेखक: सुनीता सिंह

24 साल की क्षमा बिंदु वडोदरा से हैं। 11 जून को उनकी शादी होने वाली है। इसमें 7 फेरों से लेकर सारे रीति-रिवाज और पारंपरिक अनुष्ठान होंगे। यहां तक शादी के बाद हनीमून पर गोवा भी जाएंगी, लेकिन बिना किसी दूल्हे के। इस तरह की शादी को सोलोगैमी कहते हैं।

क्षमा का कहना है कि वो कभी शादी नहीं करना चाहती थीं, लेकिन दुल्हन बनने का सपना हमेशा से था। खुद से शादी कर वो सेल्फ-लव का एक उदाहरण सेट करना चाहती हैं।

आज की जरूरत की खबर में जानते हैं जे.के. हॉस्पिटल के प्रोफेसर और साइकेट्रिस्ट डॉ.प्रीतीश गौतम से सेल्फ-लव के बारे में।

सेल्फ लव क्या है?
सेल्फ लव का मतलब है खुद से प्यार करना और खुद से ही लगाव रखना। खुद की भलाई और खुश रहने के लिए वो सब कुछ करना, जो आप कर सकते हैं। जब आप अपने शरीर और आत्मा का ख्याल रखकर अपनी लाइफ को बेहतर बनाते हैं, इसे एक खास मकसद मानते हुए जीते हैं तो यही सेल्फ लव कहलाता है। ऐसे लोगों के लिए अपनी खुशी ही सबसे ऊपर होती है।

सेल्फ लव को टेस्ट करने के लिए चेक करें कि आपका स्वभाव ऊपर लिखे पॉइंट से मिलता है कि नहीं ।

सवाल- क्या खुद से प्यार करना जरूरी है?
जवाब–
हां, यदि आप खुद से प्यार नहीं करते हैं, तो आप दूसरों से भी प्यार नहीं कर सकते। खुद से प्यार करना एक खुशहाल जिंदगी जीने का पॉजिटिव तरीका है। जो लोग खुद से प्यार करते हैं, वो दूसरों की तुलना में फिजिकली और मेंटली दोनों ही तरीके से हेल्दी रहते हैं। ऐसे लोगों का मन शांत रहता है और वो अपनी लाइफ में ग्रो करते हैं।

वे अपने हेल्थ और वर्क पर फोकस कर पाते हैं। जब किसी इंसान को अपने आप से प्यार होता है, तो वह अपने आप के लिए पॉजिटिव महसूस कर सकता है। मुश्किल हालात से भी खुद को आसानी से निकाल लेता है। इसके अलावा ऐसे लोग अपने आत्मसम्मान का भी खास ध्यान रखते हैं।

सवाल- क्या सेल्फ लव, सेल्फिश (स्वार्थी) होने जैसा नहीं है?
जवाब–
इन दोनों बातों के बीच एक पतली लाइन जितना फर्क है। सेल्फ लव का मतलब बिल्कुल ये नहीं है कि कोई स्वार्थी हो जाए और हमेशा अपने फायदे के बारे में ही सोचे। अगर अपने फायदे से किसी और को परेशानी होती है तो वो सेल्फ लव नहीं, बल्कि सेल्फिशनेस है। जबकि कोई आत्मसम्मान को ठेस पहुंचाने की कोशिश करे तो उस दौरान खुद के लिए कदम उठाएं। ये सेल्फ लव है और ये काफी जरूरी है।

यह तो हुई सेल्फ की बातें। अब वापस क्षमा बिंदु पर आते हैं। और एक्सपर्ट से जानते हैं कि

सवाल - क्या जो क्षमा बिंदु कर रही हैं वो सेल्फ लव है?
जवाब–
नहीं, खुद से शादी करना सेल्फ लव नहीं, बल्कि नार्सिसिस्टिक पर्सनालिटी डिसऑर्डर (NPD) नाम की साइकोलॉजिकल समस्या है। इस डिसऑर्डर में मरीज self-obsessed होता है।

उस पर इस तरह का जुनून सवार होता है कि वो सिर्फ अपने बारे में ही सोचते रहता है। यहां तक की दूसरों का अटेंशन लेना भी काफी पसंद होता है। वो जान-बूझकर ऐसी हरकतें करता है, जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग उसकी तारीफ करें या उसके बारे में बात करें। क्षमा भी इस तरह के डिसऑर्डर का शिकार हो सकती हैं।

तारीफ के भूखे होते हैं NPD वाले लोग
नार्सिसिस्टिक पर्सनालिटी डिसऑर्डर वाले लोग अक्सर ऐसे लोगों से घिरे रहना पसंद करते हैं, जो उनके ईगो को सेटिस्फाई करते हों। यानी ऐसे लोग दूसरों से तारीफ पाने के लिए कुछ भी कर सकते हैं।

सवाल– नार्सिस्टिक पर्सनालिटी डिसऑर्डर की वजह क्या है?
जवाब –
एक रिसर्च के अनुसार फेसबुक, इंस्टाग्राम सहित सोशल मीडिया का एडिक्शन भी इसका कारण हो सकता है। सोशल मीडिया पर एक तस्वीर पर हजारों लाइक मिल जाते हैं। इससे उस व्यक्ति को खुशी मिलती है कि उसे इतने लोग पसंद करते हैं। जब यह तारीफ नहीं मिलती है, तब वह डिप्रेशन में चले जाते हैं। ऐसे में वह व्यक्ति अपने अंदर की खूबसूरती को नजरअंदाज कर देता है।

इसके अलावा जेनेटिक, सोशल और साइकोलॉजिकल कारणों से भी व्यक्ति इस सिचुएशन में चला जाता है। जैसे…

  • परवरिश में हद से ज्यादा लाड़-प्यार मिला हो।
  • परिवार या दोस्तों के बीच नेग्लेक्ट किया गया हो ।
  • माता-पिता के खराब संबंध के कारण घर में अशांति ।
  • इस डिसऑर्डर की जड़ जेनेटिक भी हो सकती है।

सवाल-क्या तरीका है बचने का?
जवाब-
आमतौर इस परेशानी की जड़ें बचपन में ही फैलने लगती हैं। अपना बिहेवियर बच्चे के प्रति बैलेंस्ड रखें। अच्छा काम करने पर उसकी तारीफ करें, वहीं जब कोई गलती करें तो उसे समझाएं भी। पॉजिटिव और निगेटिव दोनों ही सिचुएशन को एक्सेप्ट करना सिखाएं। दूसरों के प्रति सम्मानजनक रवैया रखना भी सिखाएं।

अगर ये परेशानी बड़ों में हो तो इससे बचने के लिए करें ये उपाय …

  • ध्यान यानी मेडिटेशन करें, ध्यान करने से आप खुद के बारे में जान पाते हैं।
  • अपनी कमियां और अच्छाइयां दोनों के बारे में जानें और एक्सेप्ट करें।
  • याद रखें आपके जैसा दुनिया में एक ही है।
  • खुद को पॉजिटिव कामों में बिजी रखें और किसी से कम्पेयर न करें।
  • अपनी सक्सेस को सेलिब्रेट करें, लेकिन उसे सिर पर न चढ़ाएं।

सिचुएशन ज्यादा बिगड़ गई है तो डॉक्टर की मदद लें और सही समय पर उपचार शुरू कर दें, ताकि समस्या पर आसानी से काबू पाया जा सके।

चलते-चलते जान लेते हैं

  • खुद से शादी करने को सोलोगैमी कहते हैं।
  • ऐसी शादी की खबर पहली बार 20 साल पहले सुनने में आई थी। अमेरिकन सीरीज सेक्स एंड द सिटी में एक किरदार था कैरी ब्रैड शॉ उसने शादी की थी। लेकिन यह शो एक कॉमेडी ड्रामा था।
  • बात शादी तक ही सीमित नहीं है। 33 साल की एक ब्राजीलियन मॉडल ने खुद से शादी करने के कुछ दिन बाद खुद से ही तलाक भी ले लिया था।
  • आपको पता मार्केट में आज सोलोगैमी पैकेज भी उपलब्ध है। इसमें शादी की जरूरतों को ध्यान में रखकर अंगूठी से लेकर दूसरी चीजों को शामिल किया गया है।