पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

ठंड का साइंस:सर्दी ज्यादा लगने की वजह सिर्फ मौसम नहीं, बल्कि हमारा माइंडसेट भी; जानें बॉडी को इसके मुताबिक कैसे ढालें

5 महीने पहलेलेखक: तारा पार्कर-पाेप
  • कॉपी लिंक

भारत के मैदानी इलाकों में इन दिनों ठंड बढ़ गई है। पहाड़ी इलाकों की बात करें, तो कश्मीर और हिमाचल में झील और झरने जमने लगे हैं। हिमाचल प्रदेश के लाहौल स्पीति के काजा में तापमान माइनस 20 डिग्री तक पहुंच गया है। ऐसे में लोग घरों से बाहर कैसे निकलें? खुद को ठंड में कैसे बचाएं?

एक्सपर्ट्स कहते हैं कि ठंड से बचने के लिए जरूरी नहीं कि घर में कैद हो जाएं। इसके लिए अलग से प्लानिंग करें। इसके लिए ठंड के साइंस को समझना बहुत जरूरी है और यह जानना भी कि ठंड में शरीर कैसे रिएक्ट करता है।

ठंड का साइंस क्या है?

  • यूएस आर्मी रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ इनवायरमेंट में साइकोलॉजिस्ट जॉन कैस्टलानी कहते हैं कि ठंड में आप क्या कर रहे हैं और किस तरह के कपड़े पहन रहें, ये बातें आप पर निर्भर करती हैं। लेकिन, कपड़े ऐसे पहनें जो ठंड को रोक सके। इसलिए जरूरी यह है कि आपका माइंडसेट ठंड से बचने वाला होना चाहिए।
  • मन ही मन सोचना कि आपको ठंड नहीं लग रही। इतना काफी नहीं होगा। इसके लिए आपको कुछ कदम उठाने पड़ेंगे, जिससे हमारा शरीर ठंड के मुताबिक ढल सके। इंसान का शरीर किसी दूसरे जीव की तुलना में ज्यादा तेजी से ढल सकता है।
  • दिसंबर में जब हमें ज्यादा ठंड लगती है और हम बाहर निकलने से बचते हैं। लेकिन, इसी तापमान में हम फरवरी महीने में बाहर निकलने के लिए उत्सुक रहते हैं, क्योंकि हमें लगता है कि वसंत का मौसम घर से निकलने के लिए अच्छा है। ये सब बातें हमारी माइंडसेट पर निर्भर करती हैं।

उंगलियां, घुटने, कान और नाक जल्दी ठंडे होते हैं

स्टडी में पता चला है कि समय के साथ हमारा शरीर ठंड के मुताबिक ढल सकता है। दरअसल, जब हमारा शरीर ठंड महसूस करता है तो वह एक तरह का साइकोलॉजिकल रिस्पॉन्स होता है। इसमें ब्लड सेल्स खून के फ्लो को कम कर देती हैं। इससे शरीर के अंदर की गर्माहट कम हो जाती है। यही वजह है कि उंगलियां, घुटने, कान और नाक जल्दी ठंडे हो जाते हैं। ऐसे में हमें ब्लड फ्लो को सामान्य बनाए रखने की कोशिश करनी चाहिए।

3 से 7 दिन का समय लगता है

शरीर को ठंड की आदत कैसे हो जाती है, इसको लेकर अभी तक वैज्ञानिकों में एक राय नहीं है। लेकिन, तमाम रिसर्च बताते हैं कि ठंड के मुताबिक ढलने में शरीर को 3 से 7 दिन का समय लगता है। इसके लिए हमें शरीर को तैयार करना होगा।

ये भी पढ़ें- बच्चों को इस विंटर ब्रेक में घर पर दें वैकेशन जैसा फील, यह तरीके अपना सकते हैं

शरीर को ठंड के हिसाब से कैसे ढालें?

  • हम कुछ एक्टिविटी और एक्सरसाइज के जरिए ठंड से बच सकते हैं। इसके लिए हमें वॉक करनी चाहिए। योग करना चाहिए। इंडोर और आउटडोर गेम्स खेलने चाहिए। हम वह सारी चीजें कर सकते हैं, जिससे शरीर में गरमाहट बनी रहे।
  • ठंड में आपने किस तरह के कपड़े पहने हैं, ये बात भी बहुत मायने रखती है। ठंड में हमें ऊनी कपड़े पहनने चाहिए। कॉटन के कपड़े बिल्कुल न पहनें। सिर को टोपी या ऊनी कपड़े से जरूर ढंकें, क्योंकि ठंड सिर के हिस्से से ही शरीर में पहुंचती है।
  • ठंड में हाथों और पंजों का भी ख्याल रखना चाहिए। जूतों को हल्का ढीला करके पहनना चाहिए। यदि ठंड में ज्यादा टाइट जूते पहनेंगे, तो ये आपके ब्लड के फ्लो को रोक सकता है। हाथों में ग्लव्स होना भी जरूरी है।
  • न्यू ईयर को सेलिब्रेट करने के लिए अगर आप दोस्तों के साथ बाहर जाने वाले हैं या कोई आयोजन कर रहे हैं, तो इस दौरान कुछ बातों का जरूर ध्यान रखें। बाहर हीटर का इंतजाम जरूर रखें। गर्म कपड़े पहनें। मास्क भी पहनें।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज की स्थिति कुछ अनुकूल रहेगी। संतान से संबंधित कोई शुभ सूचना मिलने से मन प्रसन्न रहेगा। धार्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करने से मानसिक शांति भी बनी रहेगी। नेगेटिव- धन संबंधी किसी भी प्रक...

और पढ़ें