पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

टीनएजर की सेहत संकट में:90% से ज्यादा टीनएजर फल और सब्जी की जगह जंक फूड खा रहे, जानें बच्चों की डाइट हेल्दी कैसे बनाएं

नई दिल्ली3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

लॉकडाउन के दौरान टीनएजर में जंक फूड खाने की आदत बढ़ गई। आलू चिप्स, चिकेन नगेट, कोल्ड्र ड्रिंक्स जैसे प्रोसेस्ड और कंफर्ट फूड का कंजम्प्शन बढ़ गया है। हाल ही में अमेरिकन हेल्थ एजेंसी सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन (CDC) ने एक रिपोर्ट जारी की है।

रिपोर्ट के मुताबिक टीनएजर उतना फल और सब्जियां नहीं खा रहे, जितना खाना चाहिए। फलों और सब्जियों की जगह प्रोसेस्ड और जंक फूड ने ले ली है, जबकि इसे लेकर अमेरिकी एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट ने पहले से ही डाइट्री गाइडलाइन जारी कर रखी है। जंक फूड सेहत के लिए ठीक नहीं हैं और इनको खाने से शरीर को जरूरी न्यूट्रिएंट नहीं मिलते।

90% से ज्यादा टीनएजर ICMR की डाइट फॉलो नहीं करते

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) भी अलग-अलग ऐज ग्रुप के लिए खान-पान को लेकर गाइडलाइन जारी करती है। ICMR ने एक रिसर्च में पाया है कि देश के ग्रामीण इलाकों में सिर्फ 3% और शहरी इलाकों में सिर्फ 7% टीनएजर ही ऐसे हैं, जो पर्याप्त मात्रा में फल और सब्जियां खा रहे हैं।

जंक फूड का चटपटा टेस्ट फलों और सब्जियों से टीनएजर को दूर कर रहा है

टीनएजर फलों और सब्जियों से दूर क्यों रहते हैं? इसे लेकर CDC ने स्टडी की। इसमें पाया कि ज्यादातर टीनएजर इसके महत्व को गंभीरता से नहीं लेते। कुछ टीनएजर ऐसे हैं, जिन्हें जंक और प्रोसेस्ड फूड के आगे फलों और सब्जियों का टेस्ट अच्छा नहीं लगता। इन वजहों को ध्यान में रखते हुए CDC ने 5 ऐसे तरीके बताए हैं, जिनके जरिये टीनएजर फलों और सब्जियों की तरफ अपनी निर्भरता बढ़ा सकते हैं।

इन 5 तरीकों से पैरेंट्स अपने बच्चों की डाइट में शामिल करें फल और सब्जियां-

1. सौते सब्जियां (भाप में बनी हुई)

सब्जियों की तमाम किस्में जैसे ब्रोकली, मशरूम, बेबी कॉर्न, बेल पेपर और पत्तेदार सब्जियों को भाप दें। उन्हें नमक, काली मिर्च और अपने पसंदीदा मसालों के साथ तैयार करें। फलों को भी आप खाने के साथ स्टार्टर के तौर पर शामिल कर सकते हैं। ऐसा करने से बच्चे फलों और सब्जियों को खाने में रुचि लेंगे।

2. स्नैकिंग

स्वेट ट्रेनर कायला इटिनेस कहती हैं कि आप अपने आहार में अधिक सब्जियां डालकर, उन्हें डिप या स्नैक्स में शामिल कर सकते हैं। चुकंदर हम्मस, शिमला मिर्च, गाजर और ककड़ी को स्नैक्स के विकल्पों के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं।

3. सलाद

मेन कोर्स के साथ फलों और सब्जियों को सलाद के तौर पर खाने से ज्यादा बेहतर तरीका और कोई नहीं है। अपने सलाद में साग की 3-4 किस्में शामिल करें और बच्चों को रोचक अंदाज में परोसें। एक्सपर्ट्स के मुताबिक सलाद के तौर पर सब्जियों और फलों को खाने में शामिल करना सबसे ज्यादा फायदेमंद है। यह डाइजेशन के लिए तो अच्छा होता ही है। साथ ही इसमें भारी मात्रा में न्यूट्रिएंट भी पाए जाते हैं।

4- दाल में सब्जियां मिलाएं

स्टडी में पाया गया है कि सब्जियों की तुलना में बच्चे दाल खाना ज्यादा पसंद करते हैं। पालक जैसे पत्तेदार साग को अरहर, मूंग या चना दाल में मिलाया जा सकता है। ऐसा करने से दाल बहुत स्वादिष्ट हो जाती है और दाल के साथ बच्चे को एक वेज लोडेड डाइट भी मिल जाएगी।

5- सब्जियों और फलों का डिश बनाएं

अपनी पसंद की सब्जियों के साथ ट्रेडिशनल डिशेज को ट्राई करें। सब्जियों और फलों को आप दलिया, ओट्स, खिचड़ी, पोहा और उपमा के तौर पर तैयार कर सकते हैं। वे न केवल अधिक स्वादिष्ट होंगे, बल्कि न्यूट्रिएंट से भी भरपूर होंगे।

फलों और सब्जियों को कम खाने से हो सकता है न्यूट्रिएंट इम्बैलेंस

एक्सपर्ट्स के मुताबिक फल और सब्जियां कम खाने से बच्चों में न्यूट्रिएंट इम्बैलेंस यानी पोषक तत्वों की कमी हो सकती है। यह कई तरह की बीमारियों की वजह बन सकता है।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज मार्केटिंग अथवा मीडिया से संबंधित कोई महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकती है, जो आपकी आर्थिक स्थिति के लिए बहुत उपयोगी साबित होगी। किसी भी फोन कॉल को नजरअंदाज ना करें। आपके अधिकतर काम सहज और आरामद...

और पढ़ें