पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वर्ल्ड वेजिटेरियन डे:हर 4 नए संक्रामक रोगों में से 3 का कारण जानवर हैं, मांसाहारी खाने में पानी की बर्बादी 15 गुना ज्यादा होती है; मीट डाइट छोड़ने में 8 तरीके करेंगे मदद

2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • शोधकर्ताओं ने पाया है कि वेजिटेरियन डाइट लेने वालों में कुछ तरह के कैंसर की संभावना 50% कम हो जाती है
  • सीडीसी के मुताबिक, भोजन के जरिए जानवरों से इंसान में जर्म्स फैल सकते हैं, वेज डाइट से भुखमरी खत्म हो सकती है

दुनिया कोरोनावायरस से जूझ रही है। हमने साल 2020 का आधे से ज्यादा वक्त संक्रमण के डर में गुजार दिया है। इसी महामारी के दौरान हम पहली बार वर्ल्ड वेजिटेरियन डे भी मना रहे हैं। कोरोना की शुरुआत में कहा जा रहा था कि यह चमगादड़ों के जरिए फैला। बाद में इसमें पेंगोलिन का नाम भी शामिल हुआ। ऐसे में यह जानना जरूरी है कि क्या मांस खाने की आदत इंसान के लिए जानलेवा भी बनी हुई है।

4 में से 3 नए संक्रमण जानवरों से आते हैं

  • सेंटर्स फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन(सीडीसी) के मुताबिक, हम रोज कई तरह से जानवरों के संपर्क में आते हैं, लेकिन जानवरों में रहने वाले कुछ जर्म्स आपको बीमार भी कर सकते हैं। जानवरों से इंसानों तक पहुंचने वाले जर्म्स से होने वाली बीमारियों को जूनोटिक कहते हैं। इन जर्म्स के कारण मौत भी हो सकती है।
  • सीडीसी के अनुसार, जूनोटिक बीमारियां काफी आम होती हैं। वैज्ञानिकों ने यह अनुमान लगाया है कि 10 में से 6 से ज्यादा संक्रमण जानवरों के जरिए इंसानों में फैल सकती है। इसके अलावा हर 4 नए या उभरते संक्रामक रोगों में से 3 जानवरों से आता है।

आपके नॉन वेज खाने के कारण लोग भूखे रहते हैं

  • पेटा के मुताबिक, भोजन के लिए जानवरों को पैदा करना या पालना काफी खराब है, क्योंकि जानवर ज्यादा अनाज खाकर थोड़ा मीट, डेरी प्रोडक्ट या अंडे उपलब्ध कराते हैं। जानवरों को एक किलो मांस के लिए 10 किलो तक अनाज खिलाना पड़ता है।
  • वर्ल्ड वॉच इंस्टीट्यूट के अनुसार, दुनिया में जहां हर 6 में से 1 व्यक्ति रोज भूखा रहता है। ऐसे में मीट का प्रोडक्शन करना अनाज का गलत उपयोग होता है। अगर अनाज का इस्तेमाल सीधे इंसान ही करे, तो यह ज्यादा असरदार होगा।
  • पेटा की वेबसाइट बताती है कि प्लांट बेस्ड डाइट दुनिया में भुखमरी को खत्म कर सकती है। 2050 तक अनुमानित 900 करोड़ लोगों के लिए धरती पर पर्याप्त खाना होगा। हालांकि, ऐसा तभी मुमकिन होगा, जब अनाज का 40% उत्पादन भोजन के लिए पाले गए जानवरों के बजाए सीधे इंसानों के ही काम आए।
  • पेटा इंडिया के अनुसार, एक शुद्ध वेजिटेरियन भोजन के लिए रोज 1137 लीटर पानी की जरूरत होती है, लेकिन मीट आधारित भोजन के लिए रोज 15 हजार लीटर से ज्यादा पानी की जरूरत होती है।

कई बीमारियों का कारण भी है मांसाहार
WHO ने अनुमान लगाया है कि हर साल जूनोसिस के कारण करीब 100 करोड़ लोग बीमारियों का शिकार होते हैं और लाखों लोग अपनी जान गंवा देते हैं। पेटा के मुताबिक, आपकी थाली में शामिल मीट, डेरी प्रोडक्ट्स और अंडों के कारण आप दिल की बीमारियों, मोटापा, कैंसर, डायबिटीज और यहां तक कि नपुंसक भी हो सकते हैं। शोध में पाया गया है कि वेजिटेरियन डाइट लेने वाले लोगों में कुछ तरह कैंसर की संभावना 50% तक कम हो जाती है।

अगर आप भी वेजिटेरियन डाइट अपनाना चाहते हैं तो यह कुछ टिप्स मददगार हो सकती हैं....

  • मोटिवेट रहें: यदि आप नॉन वेज डाइट छोड़ना चाहते हैं, तो आपको इसके लिए अच्छे कारण की जरूरत होगी। यह कारण ही आपको वेज डाइट पर रहने के लिए मोटिवेट करेगा। ऐसे में पहले यह पता कर लें कि आप नॉनवेज क्यों छोड़ना चाहते हैं।
  • अच्छी रेसिपी तलाशें: नॉन वेज छोड़ने का कारण हो सकता है कि आप स्वाद को लेकर परेशान रहें। ऐसे में अच्छी वेजिटेरियन रेसिपी आपकी मदद कर सकती हैं। इसके लिए आप इंटरनेट की मदद ले सकते हैं।
  • धीरे-धीरे नॉन वेज छोड़ें: नॉनवेज एकदम नहीं छोड़ पा रहे हैं तो धीरे-धीरे अपनी डाइट में वेज की मात्रा बढ़ाएं। हर हफ्ते नई वेज रेसिपी इस काम में आपकी मदद कर सकती है। नॉन वेज छोड़ने की शुरुआत रेड मीट से करें।
  • नया डाइट प्लान बनाएं: आप जो भी खाना रोज खाते हैं, उसकी एक लिस्ट तैयार करें। इसके बाद देखें कि आपकी पुरानी नॉन वेज डाइट के वेज विकल्प क्या हो सकते हैं। नए विकल्पों की मदद से नई लिस्ट तैयार करें, जिसमें केवल वेज डाइट शामिल हो।
  • जंक फूड से बचें: वेजिटेरियन डाइट शुरू करने से आपको जंक फूड खाने का लाइसेंस नहीं मिल जाता है। अगर ऐसा हो रहा है तो अपनी डाइट में फलों और सब्जियों की मात्रा को बढ़ा दें। साबुत अनाज, बीन्स, नट्स, सोया प्रोटीन और दूसरे पोषण आपकी मदद कर सकते हैं।
  • दूसरे देशों के खाने का स्वाद: वेजिटेरियन बनने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि आपको इससे नई चीजों को ट्राय करने की प्रेरणा मिलती है। इस बात का फायदा उठाएं और इंटरनेट या रेसिपी बुक्स की मदद से नए देशों की वेज रेसिपी का स्वाद लें।
  • परिवार और दोस्तों की भूमिका: अगर आप वेजिटेरियन बनने जा रहे हैं, तो आपको परिवार और दोस्तों से इस बारे में बात करनी होगी, क्योंकि नॉन वेज बंद करने के बाद भी आप उनके साथ खाना तो खाएंगे ही। ऐसे में उन्हें इस बात की जानकारी देना आपके लिए मददगार होगा।
  • मजा लें: सबसे जरूरी है कि आप अपनी डाइट में आए बदलाव का मजा लें। आपने वेजिटेरियन रहना चुना है, इस बात का मजा लें और खुश रहें। लगातार अच्छा खाना खाते रहना इस काम में आपकी मदद कर सकता है।

वेजिटेरियन और वीगन में क्या फर्क है?
हमनें वेजिटेरियन और वीगन शब्द कई बार सुने हैं, लेकिन इनके मतलब को लेकर हमेशा एक कंफ्यूजन रहती है। पेटा के मुताबिक, वेजिटेरियन डाइट लेने वाले लोग किसी भी जानवर को अपनी डाइट में शामिल नहीं करते हैं। जबकि, वीगन जानवरों से मिलने वाले किसी भी चीज का सेवन नहीं करते, जैसे- अंडे, दूध, पनीर।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज व्यक्तिगत तथा पारिवारिक गतिविधियों के प्रति ज्यादा ध्यान केंद्रित रहेगा। इस समय ग्रह स्थितियां आपके लिए बेहतरीन परिस्थितियां बना रही हैं। आपको अपनी प्रतिभा व योग्यता को साबित करने का अवसर ...

और पढ़ें