जरूरत की खबर:5 से 14 साल के बच्चों में ओमिक्रॉन का खतरा ज्यादा; बड़ों की तुलना में बच्चों में ओमिक्रॉन के अलग लक्षण

7 महीने पहले

ओमिक्रॉन वैरिएंट दुनिया के सभी देशों में तेजी से फैल रहा है। भारत में भी इसके मरीज लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं। एक तरफ ओमिक्रॉन की तस्वीर पूरी तरह से क्लियर नहीं हो रहीं वहीं इससे जुड़े हर नई रिपोर्ट एक्सपर्ट्स को हैरान कर रही है।

हाल में ही में वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) यूरोप ने चेतावनी दी है कि ओमिक्रॉन 5 से 14 साल के बच्चों को तेजी से इन्फेक्ट कर रहा है। एक रिपोर्ट के अनुसार कई देशों में ओमिक्रॉन इन्फेक्शन के मामले बच्चों में 2 से 3 गुना बढ़े हैं। इससे पहले साउथ अफ्रीकी डॉक्टर ने भी ओमिक्रॉन को 5 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए ज्यादा खतरनाक बताया है। साउथ अफ्रीका के हॉस्पिटल में कोरोना के मरीज, खास कर बच्चों की संख्या में तेजी से बढ़ रही है। इनमें भी 5 साल के छोटे बच्चों को अस्पताल में भर्ती करने की ज्यादा जरूरत पड़ रही है। इसका एक कारण बच्चों को वैक्सीन ना लगाना है। इस वजह से बच्चे इस वैरिएंट की चपेट में आसानी से आ रहे हैं।

कई देशों में बच्चों को वैक्सीन वैक्सीन नहीं लगी है। ऐसी ऐसी स्थिति में जानिए नया वैरिएंट कितना खतरनाक है? बच्चों में किस तरह से लक्षण देखने को मिल रहे हैं ? इस तरह बचाएं अपने बच्चों को नए वैरिएंट से ...