केरल का मशहूर अवियल:इसके बिना अधूरा है ओणम, खाने में भी यह हेल्दी; इस रेसिपी को बनाने पर आपको मिलेगा इनाम

2 महीने पहले

केरल की पारंपरिक डिश अवियल है। इसके बिना ओणम (त्योहार) अधूरा होता है। यानी अवियल को ओणम पर जरूर बनाया जाता है। यह एक ऐसी रेसिपी है जिसे बहुत ही कम समय में तैयार किया जा सकता है। चलिए पर्व के पकवान सीरीज में हम आज अवियल बनाना सीखते हैं। यह इस सीरीज की छठवीं रेसिपी है। इसे बनाने का तरीका सीखा रही हैं, केरल के कोट्टयम की क्यूरेटिंग शेफ प्रिमा कुरियन।

अवियल के बारे में खान-पान विशेषज्ञ पुष्पेश पंत एक कहानी सुनाते हैं...

केरल के उत्सव भोजों के व्यंजनों में अवियल सबसे महत्वपूर्ण है। जनश्रुति के अनुसार पांडव राजकुमार भीम ने अज्ञातवास के दौरान राजा विराट की राजरसोई में खाना पकाने का काम करते हुए अवियल पहली बार बनाया। दूसरी लोक कथा के अनुसार केरल के एक प्रतापी शासक के यहां एक बार अतिथियों की इतनी बड़ी भीड़ जुट गई कि भोजन कम पड़ने का संकट उत्पन्न हो गया। भंडार में जितनी भी सब्ज़ियां नजर आईं राजा ने उनको मिलाकर स्वादिष्ट और पौष्टिक अवियल बनवाया।

अब इसे बनाने का तरीका जान लें

2-3 लोगों के लिए बनाना है, तो चाहिए ये सामग्री:

  • मिली-जुली सब्ज़ियां जैसे- जिमीकंद, कुंदरू, बीन्स, गाजर, कच्चा केला, सहजन- 2 कप लंबाई में पतली कटी हुईं
  • गाढ़ा और खट्‌टा दही- 1/2 कप
  • ताजा नारियल- 1 कप कद्दूकस किया हुआ
  • जीरा- 1 छोटा चम्मच
  • हरी मिर्च- 6 (लंबाई में बीच से कटी हुई)
  • हल्दी पाउडर- 1/4 छोटा चम्मच
  • कढ़ी पत्ते- 2 डंठल
  • नारियल तेल- 1 1/2 बड़े चम्मच
  • नमक- स्वादानुसार

बनाने में समय लगेगा- 40-45 मिनट

बनाने का तरीका:

  • कड़ाही में आधा बड़ा चम्मच तेल, सारी सब्ज़ियां, कढ़ी पत्ते और दो हरी मिर्च (लंबाई में कटी हुई) डालें।
  • थोड़ा-सा पानी छिड़ककर भून लें। इसे एक तरफ रख दें।
  • अब नारियल, जीरा, हरी मिर्च (बची हुई) और हल्दी पाउडर को मिक्सर में दरदरा पीस लें।
  • इस पेस्ट को पकी हुई सब्ज़ी में डालकर दो मिनट तक मिलाते हुए पकाएं।
  • अब इसमें मिलाएं नमक, बचा हुआ नारियल का तेल।
  • बस अवियल तैयार है, इसे चावल के साथ परोसें।

जीतिए रोज 3100-3100/- रु के पांच इनाम...
यह पकवान बनाकर आप इसका वीडियो 9190000090पर मिस्ड कॉल के जरिए हम से साझा कर सकते हैं। सर्वश्रेष्ठ पांच वीडियो को रोज मिलेंगे मिक्सर-ग्राइंडर जैसे अन्य आकर्षक इनाम।

पर्व के पकवान में ऐसे ही कुछ और आर्टिकल भी पढ़ेंः

1. गोवा में भी फेमस है भरलेली केली:कोंकणी इसे कहते हैं सात्विक फलाहारी, खूब आता है स्वाद जब केले में होती है नारियल की स्टफिंग

पूरे हिंदुस्तान में व्रत वाले दिन केले खाए जाते हैं। आपने भी खाए होंगे। आज हम आपको केले की एक ऐसी रेसिपी बताएंगे, जो आसानी से भी बन जाएगी और आपके मुंह का स्वाद भी बदल जाएगा। (पढ़िए पूरी खबर)

2. गुजरात की फराली तरकारी:सब्जियों का संगम है ये, चावल और पापड़ के साथ बढ़ेगा इसका स्वाद; इसे बनाने पर मिलेगा इनाम

गुजरात में फराली तरकारी काफी मशहूर है। इसे नवरात्र के वक्त खासतौर से बनाया जाता है। इसके अलावा दीवाली के वक्त यानी कार्तिक के महीने में भी ज्यादातर लोग इसे बनाना पसंद करते हैं। हेल्थ के नजरिए से देखा जाए, तो ये हेल्दी डिश है। (पढ़िए पूरी खबर)

खबरें और भी हैं...