पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चिंता को तनाव में न बदलें:चिंता से बच नहीं सकते, फायदे उठा सकते हैं, जानें चिंता को फायदेमंद बनाने के 4 तरीके

5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जेनी टाटिज. कोरोनावायरस के चलते संभावित खतरों और नकारात्मक परिणामों के बारे में तनाव होना अब बहुत आम हो गया है। लेकिन इस तनाव में खो जाने के अपने जोखिम हैं। जो आपकी आगे की तैयारियों को प्रभावित कर सकते हैं। हम में से बहुत लोग तनाव में हैं और चिंता कर रहे हैं। लेकिन, इस चिंता को हम अपने मोटिवेशन, स्ट्रेटेजी और प्लानिंग के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं।

साइकोलॉजिस्ट लिजाबेथ रोमर कहती हैं कि चिंता करना सामान्य है लेकिन उस चिंता में आगे की प्लानिंग और खुद को मोटिवेट करने की गुंजाइश होनी चाहिए। ऐसी चिंता हमारे काम की हो सकती है। लेकिन इसके उलट सिर्फ चिंता करना जिसमें हम आशा खो देते हैं उतना ही खतरनाक होता है।एक्सपर्ट्स के मुताबिक चिंता के दौरान किसी चीज के सभी पहलुओं को समझने में हम अपना 100% देते हैं।

1- अपनी चिंताओं को स्वीकारें

  • काम, जॉब, पढ़ाई, करियर और बिजनस को लेकर चिंता सभी को होती है। लेकिन कोरोनावायरस में यह ज्यादा होने लगी है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक तनाव (stress) और चिंता (worries) दोनों अलग-अलग चीजें हैं। जब आप चिंता करते हैं तब आपकी आशाएं बनी रहती हैं।
  • चिंता के दौरान आप नए रास्ते, प्लान और स्ट्रेटेजी की खोज में होते हैं। लेकिन जब आप इसी चिंता में अपनी आशा खो देते हैं तो वह तनाव में बदल जाती है। इसलिए चिंता करें लेकिन आशा न छोड़ें।

यह भी पढ़ें- स्टडी में दावा- एक्सरसाइज करने से भी नहीं कम हो रहा कोरोना का मानसिक तनाव, लेकिन 5 और तरीके कर सकते हैं आपकी मदद...

यह भी पढ़ें- कोरोना से सावधान रहें चिंतित नहीं; तनाव का असर इम्युनिटी और मेटाबॉलिज्म पर पड़ता है, ऑफिस में तनाव से बचने के 6 उपाय...

2- कई चीजों के बारे में एक साथ न सोचें

  • आमतौर पर जब आप चिंता कर रहे होते हैं तो आप अपनी सोच को अटेंड कर रहे होते हैं। जो कुछ भी आपके दिमाग में आता है उसे तवज्जो देते हैं और उसके तमाम पहलुओं को खंगालते हैं। यानी आप एक अलग दुनिया में होते हैं जहां आप चीजों का आकलन कर रहे होते हैं।
  • इस दौरान दिमाग में कोई दूसरा काम न लाएं या किसी दूसरी चीज के बारे में न सोचें। यानी चिंता के दौरान आप दिमाग को सिंगल टास्किंग रखें न कि मल्टी टास्किंग।
  • अगर आप कई चीजों के बारे में एक साथ सोच रहे हैं तो आपके ऊपर मानसिक दबाव बढ़ जाएगा। आप अवसाद जैसी स्थितियों में भी जा सकते हैं। इसके अलावा इसका दूसरा नुकसान यह है कि आपकी चिंता फ्रूट-फुल नहीं होगी यानी आप चिंता तो करेंगे लेकिन उसका कोई लाभ नहीं होगा। इसलिए चिंता के दौरान किसी एक ही चीज पर फोकस करें।

यह भी पढ़ें- कोरोनावायरस में तनाव के साथ एंग्जाइटी भी बढ़ रही है, इसे कम करने के 10 उपाय...

यह भी पढ़ें- अवसाद में घिरे व्यक्ति को 12 बातों से पहचान सकते हैं, मैसेज पढ़कर भी समझ सकते हैं; डिप्रेशन के बारे में वो सबकुछ जो आप जानना चाहते हैं...

यह भी पढ़ें- देश की करीब 20% आबादी मानसिक रूप से बीमार; एक्सपर्ट्स की सलाह- ऐसे लोग अकेले और अंधेरे में न रहें, रूटीन को फॉलो करें, क्योंकि डिप्रेशन का अंत है मौत...

3- चिंता करने से न डरें

  • एक्सपर्ट्स के मुताबिक खुद को “डोंट वरी” जैसा असंभव टास्क न दें। चिंता तो रोजमर्रा की जिंदगी में बहुत आम है। इसलिए चिंता का स्वागत करें। बस इस बात का ध्यान रखें कि चिंता तनाव का रूप न ले। जब भी आपको चिंता हो अकेले में जाकर खुद को उसमें लगा लें। जिस बारे में आप सोच रहे हैं उसके हर पहलू के बारे में सोचें। अच्छे और बुरे पक्ष का आकलन करें। यह भी सोचें कि जिस बारे में आप चिंता कर रहे हैं उसमें रिस्क फैक्टर कितना है और किस तरह का है। आप उससे कैसे निपटेंगे।
  • एक्सपर्ट्स के मुताबिक इस तरह की चिंता जरूरी भी होती है। हम चिंता को भी बैलेंस कर उसके फायदे ले सकते हैं। इस तरह की चिंता को माइंड थेरेपी भी कहा जा सकता है। जो हमें फायदे दे सकती है।

4- हमेशा चिंता न करें

  • चिंता का भी एक वक्त होना चाहिए। असमय चिंता करने के कई जोखिम हैं। जब आप कभी भी चिंता करना शुरू कर देते हैं तो आप उस वक्त कर रहे काम को डिस्टर्ब करते हैं या उसे रोक देते हैं। ऐसा करने से वर्क प्रेशर बढ़ जाता है जो मानसिक तनाव का कारण बन सकता है।
  • एक्सपर्ट्स के मुताबिक किसी भी समय पर चिंता करने से रिजल्ट के तौर पर कुछ नहीं मिलता और जो कुछ मिलता भी है वह उतना ठोस नहीं होता।
  • एक दिन में जो कुछ भी आप के दिमाग में आए उसे आप अपनी लिस्ट में रखें और उसे एकांत में सोचें। एक दिन में एक घंटे से ज्यादा चिंता करना मानसिक तनाव का कारण बन सकता है। इसलिए कम और फ्री टाइम में ही चिंता करें।
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय निवेश जैसे किसी आर्थिक गतिविधि में व्यस्तता रहेगी। लंबे समय से चली आ रही किसी चिंता से भी राहत मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए बहुत ही फायदेमंद तथा सकून दायक रहेगा। ...

    और पढ़ें