पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना की तीसरी लहर से बचने के उपाय:संक्रमण से बचने के लिए हर रोज 30 मिनट योग करें, अगर कोरोना के हुए हैं शिकार तो इन 6 एक्सरसाइज से होगी तेज रिकवरी

3 महीने पहले

जून में भारत को कोरोना की दूसरी लहर से थोड़ी राहत मिलती दिख रही है। हालांकि ये लहर अभी पूरी तरह मंद नहीं पड़ी है। इस बीच देश में थर्ड वेव आने की आशंका भी जाहिर की जा रही है और अब दिल्ली एम्स के चीफ रणदीप गुलेरिया ने कहा है कि अगले 6 से 8 हफ्तों में यानी 2 महीने के अंदर कोविड-19 की तीसरी लहर दस्तक दे सकती है। इसलिए लापरवाही भारी पड़ सकती है।

ICMR के पूर्व कंसल्टेंट डॉक्टर वीके भारद्वाज कहते हैं- कोरोना की तीसरी लहर ज्यादा खतरनाक हो सकती है। इसलिए हेल्दी डाइट के साथ एक्सरसाइज बेहद जरूरी है। हर रोज कम से कम 30 मिनट की एक्सरसाइज आपको संक्रमण से बचाने में मदद कर सकती है।

डॉक्टर भारद्वाज कहते हैं कि शरीर की प्रतिरोधक क्षमता सुधारने में योग आपकी मदद कर सकता है। डॉक्टर ने कुछ योगासन और फेफड़े के लिए एक्सरसाइज भी बताई है तो चलिए सबसे पहले जानते हैं कुछ सरल योग आसन के बारे में जो इम्यूनिटी मजबूत कर संक्रमण से बचाते हैं...

अधो मुख श्वानासन
अधो मुख श्वानासन साइनस संक्रमण को खत्म करने का एक शानदार तरीका है, जो सर्दी के कारण होने वाले किसी भी दबाव से राहत दिलाता है। ये आसन आपके पूरे शरीर में व्हाइट ब्लड सेल्स का सर्कुलेशन बढ़ाता है जो संक्रमण को रोकने में मदद करते हैं।

सेतुबंधासन
यह छाती के साथ थाइमस को भी खोलता है। टी सेल्स बनाने में मदद करता है। जिससे संक्रमण से लड़ने में मदद मिलती है।

सुप्त मत्स्येन्द्रासन
इसे डिटॉक्स पोज के रूप में भी जाना जाता है। जो स्पाइनल ट्विस्ट करता है और धड़ को स्ट्रेच करता है। इससे पेट, किडनी, आंतों में सर्कुलेशन बढ़ता है और डाइजेशन दुरुस्त होता है। हेल्दी डाइजेशन इम्यूनिटी मजबूत करने के लिए जरूरी है।

धनुरासन
ये आसन पेट पर दबाव डालता है, जिससे पाचन तंत्र मजबूत होता है और पेट के अंगों में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ाकर स्वस्थ करता है। साथ ही व्हाइट ब्लड सेल्स का सर्कुलेशन भी बढ़ाता है।

भुजंगासन
इससे छाती में खिंचाव आता है जिससे सांस लेने में आसानी रहती है। साथ ही डाइजेशन में भी मदद करता है, जिसकी वजह से खाने के जरूरी न्यूट्रिशन शरीर को मिलते हैं।

ब्रीदिंग एक्सरसाइज
कोरोना का सबसे ज्यादा असर फेफड़े पर होता है। इसलिए ब्रीदिंग एक्सरसाइज सबसे ज्यादा जरूरी है। फेफड़े की मजबूती के लिए अलोम-विलोम या कपालभाती कर सकते हैं।

वॉकिंग
रिकवरी तेजी से हो इसके लिए आपकी हल्की फिजिकल एक्टिविटी भी जरूरी है। आप अपने कमरे में ही धीरे-धीरे 10 से 15 मिनट वॉक करें। अगर सांस लेने में दिक्कत न हो रही हो तो आप धीरे-धीरे टाइम बढ़ा भी सकते हैं।

कैट कैमल
एक ही कमरे में ज्यादा देर तक बैठे या लेटे रहने की वजह से आपकी स्पाइनल मसल्स में दर्द हो सकता है। इसलिए आप यह एक्सरसाइज करें, इससे रीढ़ की हड्डी मजबूत होती है।

लेग एंड टो लिफ्ट
अपने दोनों हाथ छत की तरफ रखें और अपने पैरों के पंजों पर खड़े रहने की कोशिश करें। अगर जरूरत पड़े तो अपने हाथ कमर पर भी रख सकते हैं। इसे 15 बार करें। धीरे-धीरे संख्या बढ़ाएं। एक पैर को जमीन पर रखें और दूसरा पैर सामने की तरफ ऊपर उठाएं।

हिप ब्रिज
सारा दिन बैठने या लेटने की वजह से हिप मसल्स ओर जॉइंट्स में भी पेन हो सकता है। इसलिए यह एक्सरसाइज जरूर करें।

योग

कोविड-19 से रिकवरी में योग काफी सहायक है। इससे रिकवरी तेजी से होती है। इसलिए अगर माइल्ड यानी बेहद हल्के लक्षण वाले लोग मेडिटेशन, अनुलोम विलोम, कपालभाती जरूर करें।