आगरा / ट्रंप की सुरक्षा में 2 हजार जवान और एटीएस-एनएसजी कमांडो लगेंगे, बंदरों को भगाने के लिए लंगूर तैनात होंगे

10 companies of paramilitary forces will be keen to protect the trump
X
10 companies of paramilitary forces will be keen to protect the trump

  • 10 कंपनी अर्धसैनिक बल और 10 कंपनी पीएसी के अलावा कई जिलों को पुलिस फोर्स भी बुलाया गया है
  • अमेरिकी राष्ट्रपति की यात्रा के लिए शाहजहां और मुमताज की कब्रों की पहली बार मडपैक ट्रीटमेंट से सफाई हो रही है

दैनिक भास्कर

Feb 21, 2020, 08:01 PM IST

आगरा. 24 फरवरी को प्रस्तावित अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की यात्रा को लेकर सुरक्षा घेरा तैयार कर लिया गया है। हालांकि, सुरक्षा व्यवस्था को लेकर अफसरों को कुछ भी बताने का निर्देश नहीं है, लेकिन जो जानकारी सामने आई है, उसके अनुसार 10 कंपनी अर्धसैनिक बल, 10 कंपनी पीएसी के साथ एटीएस और एनएसजी के कमांडो को तैनात किया जाएगा। एक कंपनी में करीब 100 जवान होते हैं। वहीं, ताजमहल के आसपास से बंदरों को भगाने के लिए लंगूरों को भी तैनात किया जाएगा।

ट्रंप जहां से गुजरेंगे वहां के मोबाइल फोन ऑटोमेटिक बंद हो जाएंगे

ताजमहल का दीदार करने के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया 24 फरवरी को आगरा आएंगे। आगरा के एसपी सिटी बोत्रे रोहन प्रमोद ने बताया- ''ताजमहल से एयरपोर्ट के बीच सुरक्षा व्यवस्था के लिए कई जिलों की पुलिस को लगाया गया है। पैरा मिलिट्री फोर्स, पीएसी, एनएसजी कमांडो, एटीएस सड़क और छतों पर तैनात रहेंगे। सुरक्षा व्यवस्था का पूरा खाका तय है है, पर हम इसके बारे में बता नहीं सकते हैं। अमेरिकी टीम सैटेलाइट से भी निगरानी करेगी, इस वजह से ट्रम्प जहां से भी गुजरेंगे वहां के मोबाइल ऑटोमेटिक बन्द हो जाएंगे। पुलिस के वायरलेस और सीयूजी फोन्स की फ्रीक्वेंसी पहले से दे दिए जाने के कारण उनके संचार के साधन चलते रहेंगे। ट्रम्प के करीब रहकर सुरक्षा व्यवस्था संभालने का काम अमेरिकी सुरक्षा एजेंसियां ही करेंगी।

बैटरी कार या गोल्फ कार से ताजमहल जाएंगे ट्रंप

एसपी सिटी बोत्रे रोहन प्रमोद के अनुसार वीआईपी विजिट के दौरान हर मूवमेंट की सुरक्षा और स्वागत संबंधी तैयारियां पूरी हो गई हैं। हम फुलप्रूफ काम कर रहे हैं। विजिट के दौरान ट्रंप की दो कारें काफिले में होंगी और वो किस कार में होंगे यह केवल कुछ ही लोगों को जानकारी होगी। यह कार सिर्फ अमर विलास होटल तक ही जा सकती है, क्योंकि सुप्रीम कोर्ट की गाइडेंस के चलते इसके आगे 50 मीटर तक एक रास्ता उन्हें बैटरी वाहन या गोल्फ कार से ही तय किया जाएगा।

मडपैक ट्रीटमेंट से साफ हो रहीं शाहजहां और मुमताज की कब्र
अमेरिकी राष्ट्रपति की यात्रा को देखते हुए मुगल शहंशाह शाहजहां और मुमताज की कब्रों की पहली बार मडपैक ट्रीटमेंट के जरिए सफाई की जा रही है, ताकि उस पर एक भी दाग न दिखे। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) ने दोनों कब्रों पर मुल्तानी मिट्टी का लेप लगाकर गंदगी और दाग मिटाने का काम शुरू कर दिया है। ताजमहल बनने के बाद यह पहला मौका है जब एएसआई ने कब्रों पर मुल्तानी मिट्टी लगाकर मडपैक ट्रीटमेंट से सफाई कार्य करवा रहा है।

ताजमहल के 500 मीटर के दायरे में ईंधन से चलने वाली गाड़ियों पर रोक लगी है
दरअसल, ट्रंप का दौरा 24 फरवरी को प्रस्तावित तो है, लेकिन मुख्य अड़चन यह है कि सुप्रीम कोर्ट ने ताजमहल के 500 मीटर के दायरे में ईंधन से चलने वाली गाड़ियों पर रोक लगाई है। ऐसे में यह देखना होगा कि क्या अमेरिकी राष्ट्रपति के काफिले को ताजमहल के पास तक जाने की इजाजत मिलती है या वह ताजमहल के पूर्वी गेट से बैटरी चालित गोल्फ-कार्ट से ताजमहल तक जाने के लिए सहमति देते हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना