--Advertisement--

स्कूलों में नहीं बंटा स्वेटर,अखिलेश का तंज- टेंडर होने में कहीं मई-जून न हो जाए

स्कूलों में स्वेटर बच्चों को नहीं मिला है। योगी सरकार चाहती थी कि 25 दिसंबर को स्कूलों में बच्चों को स्वेटर मिल जाए।

Dainik Bhaskar

Dec 27, 2017, 12:21 PM IST
स्वेटर नहीं बंटने पर अखिलेश यादव योगी सरकार पर ट्वीट कर तंज कसा है। स्वेटर नहीं बंटने पर अखिलेश यादव योगी सरकार पर ट्वीट कर तंज कसा है।

लखनऊ/ हाथरस. बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में बच्चों को अभी तक स्वेटर नहीं बांटा गया है। इसको लेकर पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने तंज कसा है। उन्होंने कहा-"कहीं हमारे बच्चे झूठी उम्मीदों पर आग तापते न रह जाएं।" एक बार रद्द हुआ स्वेटर का टेंडर...

- बता दें कि बेसिक शिक्षा निदेशालय की ओर से जारी स्वेटर खरीद के टेंडर के लिए सिर्फ दो कंपनियों ने फॉर्म डाला था। इससे टेंडर निरस्त कर 27-28 दिसंबर को दोबारा ऑनलाइन टेंडर मांगा गया था।
- योगी सरकार पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन 25 दिसंबर को स्वेटर बांटना चाहती थी, लेकिन टेंडर फाइनल न हो पाने की वजह से नहीं हो पाया।
- प्राइमरी और हाई प्राइमरी स्कूलों में 1.53 करोड़ विद्यार्थियों के लिए फ्री में स्वेटर बांटे जाने हैं। इस पर कुल 390 करोड़ का खर्च आने का अनुमान है।
-टेंडर निरस्त होने पर अखिलेश ने ट्वीट किया, सरकार बार-बार स्वेटर के टेंडर कैंसिल कर रही है। बच्चे सरकार की तरफ से दिए जाने वाले स्वेटर का इंतजार कर रहे हैं। कहीं ऐसा न हो कि टेंडर प्रक्रिया पूरी होते मई-जून आ जाए।

इस वजह से हुई देरी
- जुलाई 2017 में प्रदेश सरकार ने बेसिक शिक्षा विभाग के कुल 59 हजार स्कूलों में पढ़ रहे 1.53 करोड़ से अधिक बच्चों को फ्री स्वेटर बांटने की घोषणा की थी। लेकिन विभाग ने इस प्रस्ताव पर सरकार की प्राशासनिक एवं वित्तीय मंजूरी लेने में 3 महीने का टाइम लगा दिया।

- इसके बाद अक्टूबर के तीसरे सप्ताह में शासन की ओर से मंजूरी मिलने के बाद टेंडर जारी करने का काम शुरू कर दिया था।
- निकाय चुनाव की आचार संहिता के दौरान राज्य निर्वाचन आयोग की मंजूरी के बिना स्वेटर खरीदने के टेंडर पर रोक लगा दी गई।
- विभाग की ओर से मंजूरी मांगने पर आयोग ने 18 नवम्बर को स्वीकृति जारी की। जिसके बाद प्रदेश सरकार ने 30 नवम्बर तक बेसिक स्कूलों में स्वेटर बांटने का निर्देश जारी किया था। लेकिन अभी तक स्वेटर बांटने का काम शुरू नहीं हो पाया है।

ठंड में ठिठुर रहे नौनिहाल
-हाथरस जिलों के सरकारी स्कूलों में बच्चों को दिए जाने वाले स्वेटर का कुछ पता नहीं है। बच्चे ठंड में ठिठुरने के लिए मजबूर है। स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों ने कहा, "उन्हें ठंड लग रही है, लेकिन उनके पास पहनने के लिए स्वेटर नहीं है। बीएसए हाथरस रेखा सुमन ने कहा,"अभी स्वेटर नहीं आया है, इसलिए बच्चो को नहीं मिल पाए है।"

अखिलेश ने कहा- कहीं ऐसा न हो, टेंडर होते-होते मई-जून हो जाए। अखिलेश ने कहा- कहीं ऐसा न हो, टेंडर होते-होते मई-जून हो जाए।
प्रदेश के सरकारी स्कूलों में बच्चे ठंड से ठिठुर रहे हैं। प्रदेश के सरकारी स्कूलों में बच्चे ठंड से ठिठुर रहे हैं।
X
स्वेटर नहीं बंटने पर अखिलेश यादव योगी सरकार पर ट्वीट कर तंज कसा है।स्वेटर नहीं बंटने पर अखिलेश यादव योगी सरकार पर ट्वीट कर तंज कसा है।
अखिलेश ने कहा- कहीं ऐसा न हो, टेंडर होते-होते मई-जून हो जाए।अखिलेश ने कहा- कहीं ऐसा न हो, टेंडर होते-होते मई-जून हो जाए।
प्रदेश के सरकारी स्कूलों में बच्चे ठंड से ठिठुर रहे हैं।प्रदेश के सरकारी स्कूलों में बच्चे ठंड से ठिठुर रहे हैं।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..