Hindi News »Uttar Pradesh »Agra» Bride Gives Up Board Exam In Agra

रात में लिए फेरे सुबह पेपर देने पहुंची दुल्हन, कॉलेज से हुई दुल्हन की विदाई

आगरा. यहां एक छात्रा शादी के अगले द‍िन दुल्हन के जोड़े में पेपर देने कॉलेज एग्जाम देने पहुंची।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Feb 20, 2018, 03:57 PM IST

रात में लिए फेरे सुबह पेपर देने पहुंची दुल्हन, कॉलेज से हुई दुल्हन की विदाई

आगरा (यूपी). थाना एत्माद्दौला क्षेत्र में एक छात्रा रात भर जागकर फेरे लेने के बाद सुबह दुल्हन के जोड़े में पेपर देने कॉलेज एग्जाम देने पहुंच गई। दुल्हन छात्रा की पढ़ाई के प्रति ललक देख कर कॉलेज ने मिसाल पेश करते हुए उसके लिए कार मंगवाई और उसकी विदाई की। कॉलेज की प्रिंसिपल ने कहा, 'बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ' नारे के लिए इससे अच्छी मिसाल क्या होगी।

फेरों के बाद मां से कही एग्जाम देने की बात...

- बता दें, एत्माद्दौला थाना क्षेत्र के शाहदरा पर रहने वाली सपना का मंगलवार को यूपी बोर्ड का कम्प्यूटर का एग्जाम था।

- सपना और उसके परिवार की मर्जी से सोमवार को उसकी शादी हुई थी।

- मंगलवार सुबह तड़के फेरे होने के बाद सपना ने अपनी मां से पेपर देने की बात कही तो मां-बाप ने उसका सहयोग करते हुए उसे एग्जाम देने जाने की इजाजत दे दी।

हाथों में मेहंदी-लाल जोड़े में एग्जाम देने कॉलेज पहुंची छात्रा

- इस काम में थोड़ा सा कहने पर ससुरालवाले भी मान गए और सपना अपनी सहेली स्वाती के साथ हाथों में मेहंदी और हल्दी लगाए दुल्हन के लाल जोड़े में अपने सेंटर अवन्ती बाई लोधी इंटर कॉलेज पहुंच गई।

- कॉलेज पहुंचते ही लोग सपना को देखने लगे और जब उन्हें उसकी कहानी पता चली तो हर कोई उसकी तारीफ करते नहीं थक रहा था।

मैं आगे पढ़ना चाहती हूं...

- सपना ने बताया, सोमवार को मेरी शादी थी, मैं आगे पढ़ना चाहती थी, इसलिए आज यहां पेपर देने आई हूं।

- सपना की सहेली स्वाती ने बताया, आज सपना पढ़ाई के लिए आई है, यह एक मिसाल है। उसका पढ़ने का मन था, इसलिए घरवालों के मना करने पर भी उसने मनाया और पढ़ने आ गई।

- शादी के बाद तो ससुराल जाना ही है, लेकिन अगर पढ़ने का मन है तो वो पढ़ ही रही है।

एग्जाम के बाद कॉलेज से हुई स्पेशल विदाई

- सपना की इस हिम्मत को देखकर कॉलेज स्टॉफ बहुत खुश हुआ और प्रि‍ंसि‍पल बी. दास ने उसकी पेपर के बाद स्पेशल विदाई की।

- सपना के लिए एक गाड़ी का इंतजाम किया गया और सहेलियों के साथ खुद प्रिंसिपल और अन्य स्टॉफ ने उसको खुशी-खुशी घर के लिए विदा किया।

- प्रिंसिपल बी. दास ने कहा, यह बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ के लिए मिसाल है। अपनी पढ़ाई के लिए यह बच्ची शादी के बाद दुल्हन के रूप में आई है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Agra

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×