Hindi News »Uttar Pradesh News »Agra News» Chandan Gupta Mother Tells Personal Details On Thirteenth Day Of Kasganj Violence

मौत के 13वें दिन चंदन की छत पर लहराया 50ft ऊंचा तिरंगा, मां ने कही ये बातें

रवि श्रीवास्तव | Last Modified - Feb 08, 2018, 03:40 PM IST

DainikBhaskar.com ने कासगंज हिंसा में मारे गए चंदन गुप्ता के परिवार से बात की।
  • मौत के 13वें दिन चंदन की छत पर लहराया 50ft ऊंचा तिरंगा, मां ने कही ये बातें
    +2और स्लाइड देखें

    आगरा. गणतंत्र दिवस पर भड़की कासगंज हिंसा को 13 दिन बीत चुके हैं। शहर की आबो-हवा भी अब धीरे धीरे सामान्य हो गयी है, लेकिन हिंसा में मारे गए चंदन गुप्ता की माँ संगीता गुप्ता का दर्द कम होने का नाम ही नहीं ले रहा। वे अभी भी गुमसुम हैं। चंदन की बात करने पर बेसुध हो जाती हैं, और कहती हैं- "मेरा बेटा होता, तो मुझे रोने नहीं देता।" DainikBhaskar.com ने चंदन के घर जाकर उसके परिवार का हालचाल जाना।

    तेरहवीं पर चंदन की छत पर लहराया तिरंगा

    - चंदन के त्रियोदेशी संस्कार पर उसके घर की छत पर तिरंगा फहराया गया। उसके पिता ने बताया, "हमने बेटे की आत्मा की शांति के लिए 50 फीट ऊंचा तिरंगा फहराया है। उसके कातिलों को तिरंगे में मेरे बेटे की ही शक्ल नजर आएगी। मेरा बेटा चंदन था, उसकी खुशबू से पूरा देश महकेगा।"

    बेटा होता तो कभी रोने नहीं देता

    - घटना के 13 दिन बाद भी चंदन के घर पर भीड़ लगी रहती है। पिता बाहरी कमरे में उसकी फोटो के पास बिस्तर लगाकर लेटे रहते हैं। मां बरामदे में जमीन पर ही अपने बच्चे को याद करती रहती हैं।
    - संगीता की देखभाल उनकी बहन और चंदन की मौसी प्रीती कर रही हैं। उन्होंने बताया, "दीदी रात में भी बेटे को याद कर नींद से उठ जाती हैं। हम लाख कोशिश कर रहे हैं, लेकिन यह भूलती ही नहीं।"
    - संगीता से जब पूछा गया कि बेटे की कौन-सी बात सबसे ज्यादा याद आती है, इस पर उन्होंने कहा, "उसकी एक-एक बात याद आती है। वह होता तो मुझे कभी रोने नहीं देता। छोटा था, लेकिन भाई-बहन सबका ख्याल रखता था।"
    - "मेरा बेटा दूसरों की सेवा में विश्वास रखता था। गरीबों को कंबल बांटता था, खाना देता था। फिर भी उसे बेरहमी से मार दिया गया।"

  • मौत के 13वें दिन चंदन की छत पर लहराया 50ft ऊंचा तिरंगा, मां ने कही ये बातें
    +2और स्लाइड देखें

    बुलेट बाइक का शौकीन था चंदन, मौत से पहले दिया था मुस्लिम को ब्लड

    - पिता सुशील गुप्ता ने बताया, "चंदन को बुलेट बाइक का शौक था। तिरंगा यात्रा से एक दिन पहले ही किसी दोस्त की बुलेट मांग कर लाया था। और उस पर तिरंगा लगाकर रखा था।"
    - "वो सोशल वर्क में आगे रहता था। उसने गरीबों की सेवा के लिए संकल्प फाउंडेशन बनाया था, जिसके तहत सोशल वर्क करता था। मेरे बेटे में राष्ट्रभक्ति का जज्बा खूब भरा हुआ था।"
    - "घटना से कुछ दिन पहले ही उसने ब्लड डोनेट किया था, वह भी मुस्लिम को, फिर भी उसका खून बहा दिया गया।"

  • मौत के 13वें दिन चंदन की छत पर लहराया 50ft ऊंचा तिरंगा, मां ने कही ये बातें
    +2और स्लाइड देखें

    10वें दिन पहली बार दंगे की धारा में केस दर्ज

    - हिंसा के 10वें दिन सोमवार को पुलिस ने पहली बार किसी पर सांप्रदायिक हिंसा की धारा 153 (ए) में केस दर्ज किया। मंगलवार को दंगे का दूसरा केस दर्ज हुआ।
    - इसमें अफवाहों को रोकने के लिए वॉट्सऐप ग्रुप चलाने वाले 2 एडमिन को नामजद किया गया है। इन पर धार्मिक भावनाओं को भड़काने का आरोप है।
    - मंगलवार को चंदन हत्याकांड में आरोपी सलमान को पुलिस ने कासगंज में गिरफ्तार कर लिया।

आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Agra News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Chandan Gupta Mother Tells Personal Details On Thirteenth Day Of Kasganj Violence
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From Agra

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×