--Advertisement--

हिमस्खलन में एटा का जवान शहीद, सरकार देगी 25 लाख रुपए की मदद

एटा का जवान नीलेश बाबू (45) लेह में ड्यूटी के दौरान हिमस्खलन में दबकर 4 दिन पूर्व शहीद हो गया।

Danik Bhaskar | Feb 04, 2018, 10:58 AM IST
लेह में हिमस्खलन में एटा जवान लेह में हिमस्खलन में एटा जवान

एटा (यूपी). यहां बागवाला थाना क्षेत्र का जवान नीलेश बाबू (45) लेह में ड्यूटी के दौरान हिमस्खलन में दबकर 4 दिन पूर्व शहीद हो गया। शहीद का पार्थिव शरीर शनिवार देर रात उसके पैतृक गांव कसौन पहुंचा। जहां रविवार को पूरे राजकीय सम्मान के साथ शहीद का अंतिम संस्कार किया गया।

सरकार ने दिया आर्थ‍िक मदद...

- शहीद के परिजनों को उत्तर प्रदेश शासन द्वारा 25 लाख रुपए का चेक दिया गया। इसमें 20 लाख रुपए शहीद की पत्नी और 5 लाख रुपए शहीद के पिता को दिया गया। एटा के सांसद राजवीर सिंह ने भी 2 लाख रुपए देने की घोषणा की है।
- एटा जिला प्रशासन ने एनएच-91 पर शहीद के गांव के पास 1000 वर्ग मीटर जमीन दी है। यही शहीद का अंतिम संस्कार किया गया। यह हरचंद्रपुर ग्राम सभा की पाम ट्री प्लान्टेसन की जमीन है।
- जिसमें से 1000 वर्ग मीटर जमीन जिला प्रशाशन ने शहीद की अंत्येष्टि पर उनके परिजनों की मांग पर दी है। अंत्येष्टि से पूर्व उबड़ खाबड़ जमीन को जेसीबी से समतल कर तैयार किया गया।

उमड़ा सैलाब
- शहीद नीलेश की शव यात्रा में हजारो लोगों का जन सैलाब उमड़ गया। अंतिम संस्कार में पूर्व सेना के अधिकारियों, एटा के सांसद राजवीर सिंह, एटा सदर के विधायक विपिन वर्मा, मारहरा विधायक बीरेंद्र लोधी,कासगंज सदर के विधायक देवेंद्र लोधी, अमापुर के विधायक देवेंद्र प्रताप सिंह, पटियाली के विधायक ममतेश शाक्य, एटा के जिला अधिकारी अमित किशोर, एटा के एसएसपी अखिलेश कुमार चौरसिया के अतिरिक्त सैकड़ो लोगो ने शहीद के पार्थिव शरीर पर फूल मालाएं चढ़ाकर श्रद्धाजंलि दी।
- इसके बाद शहीद को उनके बेटे ने मुखाग्नि दी। बता दें कि शहीद ने अपने पीछे पत्नी के साथ एक पुत्र और एक पुत्री छोड़ गए। शहीद के मौत की खबर मिलते ही पूरे गांव में मातम पसरा हुआ है।
- परिवारीजनों ने बताया कि 3 दिन पहले दिराश में भारी मात्रा में हिमस्खलन हो गया था। इसके चलते ड्यूटी करते हुए नीरेश बाबू शहीद हो गए। इसकी जानकारी सेना के माध्यम से परिवारीजनों को मिली थी।