Hindi News »Uttar Pradesh »Agra» चूहों ने पोली कीं बिल्डिंगें: Terror Of Rats And Storms: Another Building Collapsed

चूहों ने पोली कर दीं यहां की बिल्डिंगें, तेज हवा चलते ही यूं भरभराकर गिर रहीं

आगरा के एमपीपुरा गुम्मट में कुछ दिनों के अंतराल में दूसरा मकान गिरा।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Apr 21, 2018, 12:08 PM IST

आगरा, यूपी। ताजगंज के एमपीपुरा गुम्मट में शुक्रवार शाम एक और कमजोर मकान भरभराकर गिर पड़ा। यह मकान रामप्रकाश सिंह बघेल का बताया जाता है। 11 अप्रैल को आए तूफान से मकान में दरारें आई थीं। इस इलाके के कई मकानों की नीवें चूहों ने खोखली कर दी हैं।मकान गिरने से पहले छत पर बंदरों का झुंड उछलकूद करते दिखाई दे रहा है। इससे यह अंदाजा किया जा सकता है कि, मकान कितना जर्जर हो चुका था। वो जरा-सा भी झटका नहीं झेल पाया। कुछ दिन पहले भी इसी तरह एक मकान गिरा था।


-ताज नगरी आगरा में कमजोर मकान के गिरने का वीडियो सामने आया है। वीडियो में देखा जा सकता है कि 2 मंजिला मकान कैसे चंद सेकंड में धराशायी हो गया। छत पर कुछ बंदर धमाचौकड़ी करते दिखाई देे रहे हैं। अचानक मकान हिलता है और भरभराकर गिर जाता है।
-यह मकान ताजगंज के एमपीपुरा गुम्मट में राम प्रकाश बघेल का बताया जाता है। उनका कहना है कि 11 अप्रैल को आगरा में आए तूफान के कारण मकानों में दरारें पड़ गई थीं। धीमे-धीमे दरारें फैलती जा रही थीं। उन्होंने मिस्त्री को मकान की मरम्मत के लिए बुलाया था। लेकिन उससे पहले ही मकान गिर गया।
-मकान की खस्ता हालत को देखते हुए रामप्रकाश बघेल ने अपने परिवार को पहले ही दूसरी जगह शिफ्ट कर दिया था। हालांकि हादसे में उनकी गृहस्थी का सामान जरूर नष्ट हो गया।
-हादसे में उनकी पड़ोसिन सीमा बघेल बाल-बाल बच गईं।
-उल्लेखनीय है कि इस इलाके में चूहों का आतंक है। चूहों ने कई मकानों की नींवें खोखली कर दी हैं। इससे पहले राजेश बघेल का मकान भी इसी तरह जमींदोज हो गया था।

-उधर, बंदरों ने भी शहर में आतंक मचा रखा है। कुछ समय पहले तत्कालीन कमिश्नर प्रदीप भटनागर ने बंदरों की नसबंदी अभियान शुरू किया था। इस पर करीब 2 करोड़ रुपए खर्च हुए थे। लेकिन अब फिर से हालत वही हो गई है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Agra

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×