Hindi News »Uttar Pradesh »Agra» Police Commando Adopts Abandoned Girl Child

पैदा होते ही मां की मौत-बाप ने छोड़ा बेसहारा, मसीहा बनकर पहुंचा ये कमांडो

बिहार के नक्सल प्रभावित क्षेत्र के कमांडो ने किया दिल जीतने वाला कारनामा।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Feb 10, 2018, 06:42 PM IST

  • पैदा होते ही मां की मौत-बाप ने छोड़ा बेसहारा, मसीहा बनकर पहुंचा ये कमांडो
    +2और स्लाइड देखें

    आगरा. पिछले कुछ दिनों से यूपी पुलिस में तैनात कॉन्सटेबल सोशल मीडिया पर छाया हुआ है। वैसे तो अकसर पुलिसवालों को लेकर उनकी बदसलूकी और रिश्वतखोरी के किस्से वायरल होते हैं, लेकिन आगरा का यह कॉन्सटेबल अपने अच्छे कामों के लिए पॉपुलर हो रहा है। मूलतः अलीगढ़ से ताल्लुक रखने वाले सचिन कौशिक ने अपनी इस खास मुहिम DainikBhaskar.com के साथ शेयर की।

    कमांडो बना बच्ची के लिए फरिश्ता

    - सचिन ने हाल ही में यह पोस्ट अपने पेज पर शेयर की। उन्होंने बिहार के नक्सल प्रभावित क्षेत्र कैमूर पहाड़ी में पोस्टेड कमांडो मनीष आनंद के सराहनीय काम को बताया।
    - कैमूर जिले से 70 किमी दूर बसे आधन गांव में यशोदा देवी नाम की महिला की बच्ची को जन्म देने के 3 दिन बाद मौत हो गई। डिलीवरी के बाद उसमें खून की कमी हो गई थी।
    - उसके पति को जब पता चला कि उसने लड़की को जन्म दिया हैं, वह बच्ची को छोड़ कर चला गया।
    - बच्ची को तीन महीने तक उसके रिश्तेदारों ने संभाला, लेकिन फिर हाथ खड़े कर दिए। गांव के किसी व्यक्ति ने SCEPH नाम की चैरिटी संस्था को फोन किया। यह संस्था कमांडो मनीष आनंद चलाते हैं।
    - जैसे ही मनीष को बच्ची के बारे में पता चला वे तुरंत उसके घर पहुंच गए। गांव पहुंचकर उन्हें बच्ची की स्थिति का अंदाजा हुआ। उन्होंने उस बच्ची को लीगली अडॉप्ट किया है और अब उसकी पालन-पोषण से लेकर पढ़ाई तक का खर्च उठा रहे हैं।

  • पैदा होते ही मां की मौत-बाप ने छोड़ा बेसहारा, मसीहा बनकर पहुंचा ये कमांडो
    +2और स्लाइड देखें

    पुलिस की छवि सुधारना चाहते हैं सचिन

    - मूलतः जनपद अलीगढ़ के क़स्बा गोरई के रहने वाले सचिन कौशिक फेसबुक के जरिए लोगों की नजरों में पुलिस की छवि सुधारने में लगे हैं। इसके लिए इन्होंने एक पूरा पेज डिजाइन किया है, जिस पर पुलिसवालों द्वारा किए अच्छे कामों को हाइलाइट किया जाता है।
    - इनका मानना है कि, "पुलिसवाले भी उसी समाज से आते हैं, जिसमें सभी रहते हैं। तो फिर लोग पुलिस से इतनी नफरत क्यों करते हैं? यह बात सब जानते हैं कि पुलिसवाले हफ्ते के सातों दिन और 24 घंटे सेवा में तत्पर रहते हैं। रोड पर किसी को कोई भी प्रॉब्लम आए तो वो सबसे पहले 100 नंबर पर पुलिस से हेल्प मांगता है। फिर उन्हें विलेन क्यों माना जाता है। पब्लिक को पुलिस के प्रति ज्यादा संवेदनशील होने की जरूरत है।"
    - सचिन कौशिक के फेसबुक पेज 'पुलिस छवि सुधार : एक मुहिम' के एक साल में 53 हजार से ज्यादा फॉलोअर्स बने।

  • पैदा होते ही मां की मौत-बाप ने छोड़ा बेसहारा, मसीहा बनकर पहुंचा ये कमांडो
    +2और स्लाइड देखें

    खुद मानते थे पुलिस को बेईमान

    - 2010 में इनका सिलेक्शन यूपी पुलिस में हुआ। सचिन बताते हैं, "पुलिस में भर्ती से पहले मैं भी यही सोचता था कि पुलिस में सिर्फ भ्रष्टाचार भरा है और सारे पुलिसवाले घूसखोर हैं। नवंबर 2014 में मुझे आगरा के टूरिज्म पुलिस स्टेशन में पोस्टिंग मिली। यहां आने के बाद मेरा नजरिया बदल गया। यहां विदेशी टूरिस्ट्स को हेल्प करना होता था। मैंने महसूस किया कि अब मैं इंटरनेशनल लेवल पर काम कर रहा हूं। मैं पूरे देश को रिप्रेजेंट कर रहा था। ऐसे में मुझे लगा कि यदि विदेशी टूरिस्ट का एक्सपीरिएंस खराब रहा तो इससे पूरे देश की छवि खराब होगी।"
    - "एक दिन हमारे पास रूस का टूरिस्ट कंप्लेंट लेकर आया। उसका सामान और पर्स चोरी हो गया था। मेरे साथी पुलिसवालों ने मिलकर अपनी जेब से पैसे इकट्ठा किए और उसे दे दिए। जब मैंने सभी से इसका कारण पूछा तो एक ही जवाब मिला- यार इनकी हेल्प नहीं करेंगे तो ये घर जाकर अपने इंडिया को खराब कहेंगे। देश के लिए इतना तो कर ही सकते हैं।"
    - "वहीं से मेरा एटीट्यूड पुलिस सर्विस को लेकर बदल गया। मैंने महसूस किया कि सिर्फ टूरिस्ट पुलिस स्टेशन में ही नहीं, बल्कि देशभर में कई ऐसे पुलिसवाले हैं जो ईमानदारी से लोगों की सेवा कर रहे हैं। तभी मैंने फेसबुक पर पुलिस के गुडवर्क को हाइलाइट करने वाले पोस्ट डालने शुरू किए। उन पोस्ट्स पर मुझे बेहतरीन रिस्पॉन्स मिला और मैंने इसे एक मुहिम का रूप दे दिया।"

आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Agra News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Police Commando Adopts Abandoned Girl Child
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Agra

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×