--Advertisement--

आगरा: बाइक सवार दो सिपाहियों को ट्रक ने रौंदा, हालत गंभीर

आगरा. सिकंदरा के शास्त्रीपुरम इंडस्ट्रीयल एरिया में दो सिपाहियों को ट्रक ने रौंद दिया।

Danik Bhaskar | Dec 21, 2017, 02:37 PM IST
अोवरलोड ट्रक को रोक रहे थे सिप अोवरलोड ट्रक को रोक रहे थे सिप

आगरा. यहां दो पुलिसकर्मियों को ओवरलोड ट्रक रोकना भारी पड़ गया। ओवरटेक कर गाड़ी के आगे आए सिपाहियों को ड्राइवर ने रौंद दिया और ट्रक को मौके पर छोड़ फरार हो गया। हादसे में इलाज के दौरान एक की मौत हो गई, जबकि दूसरे की हालत गंभीर बनी हुई है।

ओवरटेक के चक्कर में स्लिप हुई गाड़ी


- घटना थाना सिकंदरा के इंडस्ट्रियल एरिया में हुई। चीता मोबाइल ड्यूटी पर तैनात सिपाही सुभाष यादव (45) और सुमित पटेल (36) सुबह अपनी बाइक से गश्त पर निकले थे।
- इसी दौरान ओवरलोड ट्रक नो एंट्री में घुस आया, दोनों ने उसे रोकने का इशारा किया। न रुकने पर पीछा किया और अरतौनी पुल के पास ओवरटेक कर गाड़ी आगे लगाने की कोशिश की।
- इस दौरान उनकी बाइक स्लिप हो गई, ट्रक ड्राइवर ने भी गाड़ी नहीं रोकी और उन्हें रौंद दिया। घटना के बाद ड्राइवर ट्रक छोड़कर फरार हो गया।
- मौके पर मौजूद सिपाही सत्येंद्र प्रताप ने उन्हें निकाला और साथियों को सूचना दी। दोनो सिपाहियों को एक कार में लादकर प्राइवेट हॉस्पिटल पहुंचाया, जहां इलाज के दौरान सुभाष की मौत हो गई। सुमित पटेल का इलाज चल रहा है, हालत गंभीर बताई जा रही है।
- घटना के बाद मौके पर एसएसपी अमित पाठक, एएसपी श्लोक कुमार भी पहुंचे। सिपाहियों के परिजनों को सूचना दे दी गई।

सिपाही की पत्नी की तबीयत बिगड़ी, कराया गया एडमिट

- सुभाष मूल रूप से फिरोजाबाद के रहने वाले हैं, उनकी पत्नी अनीता, दो बच्चे हैं।
- हादसे की जानकारी पर सुभाष के घर मे कोहराम मच गया है। सुभाष की पत्नी और बहन का अस्पताल में रो-रो कर बुरा हाल है। ज्यादा रोने के कारण सुभाष की पत्नी की भी तबीयत खराब हो गई, उन्हें भी एडमिट करना पड़ा है।
- वहीं, खबर लिखे जाने तक सुमित के घर से कोई भी अस्पताल नहीं पहुंच पाया था।

वसूली से जुड़ी घटना मान रहे स्थानीय लोग


- एएसपी श्लोक कुमार ने कहा, ''ट्रक ड्राइवर फरार है। फि‍लहाल, घायल सिपाही का इलाज हमारी प्राथमिकता है।''
- बता दें, पूरे प्रकरण में स्थानीय लोग मामले को वसूली से जुड़ा हुआ भी बता रहे हैं।
- प्रत्यक्षदर्शी दीपक के अनुसार, ''यहां रोजाना आने वाली गाड़ियों से वसूली होती है और पुलिसकर्मी भरा हुआ ट्रक देखते ही पीछे भागते हैं।''