--Advertisement--

बिना अनुमति VHP ब्रज के 20 जिलों में निकल रही तिरंगा यात्रा,बैकफुट पर प्रशासन

आगरा, मथूरा, फिरोजाबाद सहित एटा, कासगंज बरेली में विश्व हिंदू परिषद और अन्य हिंदू संगठन तिरंगा यात्रा निकलेंगे।

Danik Bhaskar | Jan 31, 2018, 11:27 AM IST
आगरा कासगंज में तिरंगा यात्रा के दौरान हुए बवाल के बाद विरोध स्वरूप आज विहिप ब्रज के 20 जिलो में तिरंगा यात्रा निकालने जा रहा है| आगरा कासगंज में तिरंगा यात्रा के दौरान हुए बवाल के बाद विरोध स्वरूप आज विहिप ब्रज के 20 जिलो में तिरंगा यात्रा निकालने जा रहा है|

आगरा. यूपी के कासगंज जिला में तिरंगा यात्रा पर हुई हिंसा के बाद बुधवार को विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल द्वारा निकली जा रही तिरंगा यात्रा को प्रशासन ने रोक दिया। यात्रा के शुरुआती स्थान पर प्रशासन ने आकर ज्ञापन ले लिया और यात्रा को आगे नहीं जाने दिया। बता दें, यह यात्रा बिना प्रशासन के अनुमति के निकली जा रही थी। वहीं, इस संबंध में जिलाधिकारी आगरा गौरव दयाल ने बिना अनुमति यात्रा मामले में दोषियों को चिन्हित कर कार्यवाही की बात कही है।

शहर में सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता के पुख्ता इंतजाम
- विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल के कार्यकर्ता द्वारा बुधवार को आगरा के शहीद स्मारक से कलेक्ट्रेट के लिए तिरंगा यात्रा निकली जा रही थी। बताया जा रहा है कि इस यात्रा का मुख्य उद्देश्य कासगंज हिंसा में मारे गए चंदन गुप्ता को श्रद्धांजलि देना था। साथ ही, उसे नोएडा के अखलाख के बराबर सुविधाएं दिए जाने की मांग कर रहे थे।

- वीएचपी की तिरंगा यात्रा को देखते हुए शहर में सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता कर दी गई है। ये तिरंगा यात्रा 40 ब्लॉक से होकर गुजरने वाली थी। वहीं, जिन रास्तों से यात्रा निकलने वाली थी, उसमें नाइ की मंडी और मंटोला आदि मुस्लिम क्षेत्र भी थे। जिससे प्रशासन के हाथ पांव फूले गए थे।


बिना अनुमती के निकली जा रही थी यात्रा
- ब्रज प्रान्त के संगठन मंत्री मनोज का कहना था की तिरंगा यात्रा का भारत में अनुमति लेने का कोई औचित्य ही नहीं बनता है। कोई देशद्रोही ही होगा जो इसमें आपत्ति जताएगा।
- वहीं, विहिप के प्रांत उपाध्यक्ष सुनील पराशर का कहना है की अभी यह भारत है कोई पकिस्तान नहीं, जो तिरंगा यात्रा के लिए परमिशन ली जाए। यात्रा का उद्देश्य जिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को संबोधित पांच सूत्रीय ज्ञापन देना है। ज्ञापन में चन्दन के परिवार को नोएडा में अखलाख के परिजनों जितना मुआवजा, सरकारी नौकरी और आवास के अलावा हत्यारों के लिए फांसी की मांग की जा रही थी।


क्या कहते हैं अधिकारी
- जिलाधिकारी गौरव दयाल का कहना है की माहौल को भांपते हुए शहीद स्मारक पर ही ज्ञापन ले लिया गया है और फ़िरोजाबाद में यात्रा निकलते ही एसपी सिटी राजेश कुमार ने यात्रा को रुकवा दिया और सिटी मजिस्ट्रेट के हाथों ज्ञापन ले लिया गया। बिना अनुमति यात्रा मामले में दोषियों को चिन्हित कर कार्यवाही की जाएगी।

इस यात्रा में जिलो के साथ तहसीलों को भी यात्रा के लिए आह्वाहन किया गया है| इस यात्रा में जिलो के साथ तहसीलों को भी यात्रा के लिए आह्वाहन किया गया है|
प्रशासन भी बैकफुट भी दिख रहा है। प्रशासन भी बैकफुट भी दिख रहा है।