--Advertisement--

लड़की के साथ हुआ गैंगरेप, फि‍र भी बात क्यों नहीं मान रही पुलिस?

आगरा. थाना खंदौली क्षेत्र में एक महिला के साथ बोलेरो में गैंगरेप की कहानी को पुलिस ने झूठा करार दे दिया है।

Dainik Bhaskar

Jan 15, 2018, 04:19 PM IST
महिला के साथ चलती कार में गैंगरेप कर हाईवे पर फेंक फरार हुए बदमाश। महिला के साथ चलती कार में गैंगरेप कर हाईवे पर फेंक फरार हुए बदमाश।

आगरा. थाना खंदौली क्षेत्र में एक महिला के साथ बोलेरो में गैंगरेप की कहानी को पुलिस ने झूठा करार दे दिया है। केस स्पंज कर पीड़िता के खिलाफ कार्यवाही करने की तैयारी कर रही है। पुलिस जांच में सामने आया है कि महिला के परिजनों पर 2 महीने पहले रेप का केस दर्ज हुआ था। उसी मामले को निपटाने के लिए रेप के बदले रेप के मामले में दूसरे पक्ष को फंसाने के लिए साजिश रची थी। वहीं, पीड़ित युवती अभी भी अपने साथ घटना होने की बात कह रही है।

क्या है पूरा मामला?

- रविवार रात पुलिस कंट्रोल रूम नंबर पर महिला ने सूचना दी कि अपने भाई के घर जा रही एक विधवा महिला के साथ बदमाशों ने चलती गाड़ी में गैंगरेप किया और उसे हाइवे पर फेंककर फरार हो गए।

- सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने पीड़िता का मेडिकल करवाया और केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

- मामले में रात से ही रंजिशन मुकदमा लिखाने की बात भी सामने आ रही थी। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी।

पहले की छेड़छाड़, विरोध पर किया गैंगरेप

- पीड़ित युवती ने बताया था कि वो एत्माउद्दौला के प्रकाश नगर निवासी शब्बो (काल्पनिक) के पति की दो साल पहले मौत हो चुकी है।

- वर्तमान में वो अपनी मां के साथ रहती है और परिवार चलाने को सदर क्षेत्र में एक ब्यूटी पार्लर में काम करती है।

- शब्बो के मुताबिक, रविवार शाम करीब सात बजे रामबाग से अपने भाई के पास सादाबाद जाने के लिए टैक्सी की तलाश में खड़ी थी। एक बोलेरो रुकी, जिसमे तीन आदमी बैठे हुए थे।

- ड्राइवर ने कहा कि गाड़ी सादाबाद जाएगी और जल्दी पहुंचा देगी। मैं गाड़ी में बैठ गई। बैठते ही गाड़ी चल पड़ी, शक हुआ तो सवारी न बिठाने की बात पूछी। ड्राइवर ने आगे टेढ़ी बगिया से सवारी लेने की बात कही।

- थोड़ी दूर चलते ही गाड़ी में बैठे दोनों युवकों ने मेरे साथ छेड़छाड़ शुरू कर दी। युवक नशे में थे और एक दूसरे को तिलक सिंह और गुलाबो के नाम से बुला रहै थे।

- किसी का फोन आने पर उन्होंने अपने गांव घाटमपुर जाने में देर हो जाने की बात भी कही थी। विरोध के बाद दोनों ने बारी-बारी रेप किया।

- इसके बाद इसी हालत में एक्सप्रेस-वे के खंदौली इंटरचेंज पर फेंक कर फरार हो गए।

जांच में सामने आई लड़की की ये बात

- पीड़िता के 100 नंबर करने पर पुलिस पहुंची और मेडिकल करवाया गया।

- मामले में तत्काल थाना खंदौली में पीड़िता की तहरीर पर दो नामजद और एक अज्ञात पर रेप का केस दर्ज कर पुलिस आरोपियों की तलाश में जुट गई।

- पुलिस को जांच में पता चला कि लड़की सिर्फ अपने मां के साथ प्रकाश नगर में रहती है। उसने जिनके खिलाफ नामजद केस कराया है, उसमें से एक तिलक सिंह की बहन का रेप 2 महीने पहले हुआ है। रेप के मामले में शब्बो के परिजन नामजद हैं। सादाबाद के घाटमपुर गांव में उसी केस को खत्म करने के लिए साज‍िश रची गई है।
- फिलहाल, मामले में महिला का कहना है कि वो किसी दबाव में नहीं है। गाड़ी में उसने नाम सुने थे तो नामजद मुकदमा लिखाया है। पहले कभी उन लोगों से नहीं मिली हूं और न पहले से जानती हूं।

लड़की के खि‍लाफ कार्रवाई करेगी पुलिस

- एसपी ग्रामीण अखिलेश नारायण ने बताया, ''मामले की मैं खुद जांच कर रहा था। जब आरोपियों की तलाश में पुलिस घाटमपुर पहुंची तो वहां से सारा मामला साफ हो गया।

- सर्विलांस और सीसीटीवी चेक करने पर मामला फर्जी पाया गया है। पुलिस ने केस स्पंज कर दिया है और गलत आरोप लगाकर पुलिस को गुमराह करने के जुर्म में महिला और अन्य साजिश करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की पुलिस तैयारी कर रही है।

महिला ने दो लोगों के खि‍लाफ नामजद केस दर्ज करवाया। महिला ने दो लोगों के खि‍लाफ नामजद केस दर्ज करवाया।
गैंगरेप की कहानी को पुलिस ने झूठा करार दे दिया है। गैंगरेप की कहानी को पुलिस ने झूठा करार दे दिया है।
X
महिला के साथ चलती कार में गैंगरेप कर हाईवे पर फेंक फरार हुए बदमाश।महिला के साथ चलती कार में गैंगरेप कर हाईवे पर फेंक फरार हुए बदमाश।
महिला ने दो लोगों के खि‍लाफ नामजद केस दर्ज करवाया।महिला ने दो लोगों के खि‍लाफ नामजद केस दर्ज करवाया।
गैंगरेप की कहानी को पुलिस ने झूठा करार दे दिया है।गैंगरेप की कहानी को पुलिस ने झूठा करार दे दिया है।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..