अलीगढ़ / ट्यूशन टीचर ने कक्षा दो के छात्र पार ही हैवानियत की हदें, सीसीटीवी में कैद वारदात



टीचर की पिटाई से बच्चे की मानसिक हालत बिगड़ गई है। टीचर की पिटाई से बच्चे की मानसिक हालत बिगड़ गई है।
X
टीचर की पिटाई से बच्चे की मानसिक हालत बिगड़ गई है।टीचर की पिटाई से बच्चे की मानसिक हालत बिगड़ गई है।

  • पिता ने सीसीटीवी फुटेज देखा तो उनके होश उड़े
  • एसएसपी ने आरोपी टीचर पर केस दर्ज करने का दिया आदेश

Dainik Bhaskar

Nov 18, 2018, 06:55 PM IST

अलीगढ़. एक ट्यूशन टीचर ने कक्षा दो के छात्र के साथ हैवानियत की हदें पार कर दी। उंगलियों को मुंह में दबाकर काटा, कान और बाल पकड़ कर झोकझोर दिया। थप्पड़, घूंसे, चप्पल यहां तक कि ग्लास से मासूम बच्चे पर वार किया। इसके बावजूद सात वर्षीय मासूम ने माता-पिता से शिकायत नहीं की, वह टीचर के जुर्म को सिसकते हुए सहता रहा। यह मामला नौरंगाबाद इलाके का है। 

 

 

बच्चे की मानसिक हालत बिगड़ गई है। बेटे की हालत देखकर पिता को जब अनहोनी की आशंका हुई तो सीसीटीवी फुटेज देखा। जिसे देखने के बाद उनकी भी रूह कांप गई। एसपी क्राइम आशुतोष द्विवेदी ने बताया कि आरोपी टीचर पर केस दर्ज किया गया है। जल्द ही उसकी गिरफ्तारी होगी। 

 

तीन दिन पहले की घटना

नौरंगाबाद के दुर्गा नगर विकास नगर की गली नंबर दो निवासी अमित कुमार शर्मा का सात वर्षीय बेटा अनुज कुमार कक्षा दो का छात्र है। उसे शास्त्रीनगर निवासी एक टीचर ट्यूशन पढ़ाने घर आता है। शुक्रवार रात अमित सीसीटीवी फुटेज चेक कर रहा था, तभी उसे 15 नवंबर की रिकाॅर्डिंग में कुछ ऐसा दिखा, जिसे देखकर उसके होश उड़ गए।

 

पानी पिलाकर पीटता रहा टीचर

अनुज को उसका टीचर बेरहमी से पीट रहा था। टीचर ने बच्चे को गाड़ी की चाभी से मारा। उसकी चारो उंगली मुंह में दबा ली और थप्पड़ मारते हुए अपने पैरों से उसके पैरों को दबा दिया। अनुज अपने टीचर के जुर्म को सहता रहा। बाल पकड़कर खींचते हुए टीचर उसे डांट रहा है। कान पकड़कर खींचने पर अनुज बुरी तरह रो रहा है। पिटाई के दौरान टीचर ने अनुज को पानी भी पिलाया। हैवानियत भरा वीडियो देखकर पिता अनुज के होश उड़ गए। 

 

आरोपी ने सुलह का बनाया दबाव

पिता अमित अपने बच्चे को लेकर थाने पहुंचा। लेकिन यहां थानाध्यक्ष नहीं मिले। तभी आरोपी टीचर अपने दो भाईयों व एक नेता के साथ थाने पहुंच गया। आरोप है कि टीचर ने अपनी गलती मानते हुए सुलह करने का दबाव बनाया। वहीं नेता ने सुलह न करने पर धमकी दी। नेता मामले को रफा दफा करने के लिए कहा है। अमित ने बताया कि बेटा अनुज सदमे से बाहर नहीं निकल पाया है। अमित ने बताया कि अब बेटे का इलाज किसी मानसिक रोग विशेषज्ञ से कराना पड़ेगा। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना