नागरिकता कानून / काफी उत्तेजक थे एएमयू के छात्र, हिंसा का सामने आया पहला सीसीटीवी, एसएसपी बोले- ये खुद मजबूत सबूत

15 दिसंबर को एएमयू में हुए हिंसक प्रदर्शन का सीसीटीवी सामने आया है।- फाइल
X

  • उत्तर प्रदेश के एएमयू में 15 दिसंबर को जामिया में पुलिस कार्रवाई से बिगड़ा था माहौल
  • सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट ने लिया था मामले का संज्ञान, अलीगढ़ पुलिस ने कोर्ट में दाखिल किया जवाब

दैनिक भास्कर

Dec 24, 2019, 04:13 PM IST

अलीगढ़. दिल्ली की जामिया यूनिवर्सिटी में पुलिस की कार्रवाई की खबर जैसे ही देश में फैली, उत्तर प्रदेश की अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में 15 दिसंबर को उग्र प्रदर्शन हुए थे। सैकड़ों छात्रों ने कैंपस से बाहर निकलकर जमकर हंगामा किया था। पथराव कर रहे छात्रों को पुलिस ने कैंपस के भीतर खदेड़कर हालात पर काबू पाया था। इसका सीसीटीवी सामने आया है, जो उस रात हुई हिंसा की असल कहानी बयां कर रहा है। 

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश कुलहरि ने कहा- अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में हुई कार्रवाई का सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट ने संज्ञान लिया था। कोर्ट को भेजी गई रिपोर्ट में लिखा गया है कि एएमयू के छात्र आक्रामक थे और उन्होंने जानबूझकर गड़बड़ी पैदा की। पुलिस ने आत्मरक्षा के लिए गैरघातक हथियारों का इस्तेमाल किया था। उन्होंने कहा- हर आदमी अपने हिसाब से अपनी बात रखता है। सीसीटीवी खुद सच्चाई बयां करेंगे। छात्र काफी उत्तेजक थे। बुरी तरह गेट को तोड़ रहे थे। 

सीसीटीवी, जिसमें जो कुछ दिख रहा....
तारीख 15 दिसंबर। समय 08:22 बजे। सैकड़ों छात्र दौड़ते हुए, बाबे सैयद गेट की तरफ बढ़ रहे हैं। कई छात्रों ने कपड़ों से मुंह ढंक रखे थे। लेकिन, इससे पहले सुरक्षाकर्मियों ने गेट बंद कर दिया था। उग्र छात्र गेट को हिला-हिलाते हैं। इसी बीच कुछ छात्र कैंपस से बाहर निकलते हैं। छात्र यहां पुलिसकर्मियों से उलझते हैं। पुलिस एक्शन में आती है। पुलिस ने बल प्रयोग करते हुए छात्रों को कैंपस के भीतर खदेड़ा तो एएमयू की संपत्ति को तहस-नहस करना शुरू कर दिया गया। 

पुलिस पर बर्बर कार्रवाई का आरोप
पुलिस पर आरोप भी लगा था कि उसने एएमयू का मुख्य द्वार बाबे सैयद गेट को तोड़कर अंदर प्रवेश किया था और छात्रों के साथ बर्बरता की। इसके बाद एएमयू के छात्र और अन्य संगठन पुलिस कार्रवाई का विरोध कर रहे थे। कुछ लोग पुलिस कार्रवाई के विरोध में हाईकोर्ट और सुप्रीमकोर्ट चले गए थे। इस पर अलीगढ़ पुलिस ने कोर्ट में जवाब दाखिल किया है। हालांकि, पुलिस ने लिखित अनुमति के बाद एएमयू कैंपस में प्रवेश किया था। इसलिए छात्र नेता पुलिस के साथ एएमयू के वीसी और रजिस्ट्रार के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना