बांके बिहारी, इस्कॉन व प्रेम मंदिर में हो रहे कृष्ण जन्‍माष्‍टमी पर विशेष आयोजन; ताजनगरी भी हुई कृष्णमय / बांके बिहारी, इस्कॉन व प्रेम मंदिर में हो रहे कृष्ण जन्‍माष्‍टमी पर विशेष आयोजन; ताजनगरी भी हुई कृष्णमय

ठा.बांकेबिहारी मंदिर में साल में एक ही दिन श्रीकृष्ण जन्मोत्सव पर मंगला आरती होती है।

Dainilbhaskar.com

Sep 03, 2018, 03:37 PM IST
मथुरा में जन्मोत्सव मनाने की ज मथुरा में जन्मोत्सव मनाने की ज

मथुरा. भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव यहां धूमधाम से मनाया गया। प्रभु के अवतरण के बाद पंचामृत से अभिषेक किया। इसके बाद विशेष श्रृंगार कर आरती की गई और भक्तों के बीच आधा किलो के लड्डू का प्रसाद बांटा गया। श्रीकृष्ण जन्माष्टमी कार्यक्रम मनाने के लिए देश-दुनिया के लाखों श्रद्धालु मथुरा-वृंदावन में जुटे थे। जन्मोत्सव के उपलक्ष्य में बांके बिहारी, इस्कॉन व प्रेम मंदिर में विशेष कार्यक्रम आयोजित किए गए।

नृत्यगोपालदास ने किया श्रीकृष्ण का अभिषेक : श्रीकृष्ण के अवतरित होते ही बधाई गीत गूंजे। राम जन्म भूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास, श्रीकृष्ण जन्मस्थान के सचिव कपिल शर्मा, अनुराग डालमिया, गोपेस्वर नाथ चतुर्वेदी ने भगवान श्रीकृष्ण का अभिषेक किया। 1008 कमल पुष्पों से पुष्पार्चन किया गया। जयपुर में बनवाई गई सोने-चांदी की कामधेनू गाय के दूध से अभिषेक किया गया। इस कामधेनू गाय में सोने से देवताओं के विभिन्न स्वरूप उकेरे गए हैं।

प्रेम मंदिर में हुई रासलीला : प्रेम मंदिर में नंदलाला के जन्मोत्सव से पहले शुरू हुए कार्यक्रम देर रात तक चलते रहे। रात 8 बजे से यहां कृष्ण रासलीला आयोजित की गई। बांके बिहारी मंदिर के सहायक प्रबंधक उमेश सारस्वत ने बताया कि भगवान के अभिषेक के बाद रात 1:55 बजे ठाकुरजी की मंगला आरती हुई। यह आरती साल में सिर्फ एक बार ही होती है। वहीं, मंदिर के प्रांगण में श्रीकृष्ण की सुंदर झांकियां भी सजाई गई।

नंदगांव में बांटे गए आधा किलो के लड्डू : परंपरा के अनुसार, बरसाना के लाड़ली महल से गोस्वामी समाज कान्हा के जन्म की बधाई देने नंदभवन गया। यहां नंदगांव के गोस्वामी बरसाना के गोस्वामियों को लड्डू और कचौड़ियां बांटी गईं। ये लड्डू नंदगांव में ही बनाए गए थे। इससे पहले शाम को नंदभवन में नंदगांव और बरसाना के गोस्वामियों के बीच समाज गायन किया गया। बता दें कि जन्माष्टमी और राधाष्टमी की पूर्व संध्या पर मथुरा में आधा किलो के लड्‌डू का प्रसाद बांटने की परंपरा है, जो आठ दशक से चली आ रही है।


X
मथुरा में जन्मोत्सव मनाने की जमथुरा में जन्मोत्सव मनाने की ज
COMMENT