अभिजीत मर्डर केस / विधान परिषद सभापति आए सामने, पत्नी मीरा यादव के आरोपों को बताया बेबुनियाद



यूपी विधान परिषद के सभापति रमेश यादव यूपी विधान परिषद के सभापति रमेश यादव
X
यूपी विधान परिषद के सभापति रमेश यादवयूपी विधान परिषद के सभापति रमेश यादव

  • सभापति ने कहा कि काफी दिनों से लखनऊ गया नहीं और न किसी से हुई मुलाकात
  • पुलिस की जांच पर जताया भरोसा, बोले- जल्द सामने आएगा सच

Dainik Bhaskar

Oct 23, 2018, 05:23 PM IST

एटा. बेटे अभिजीत यादव की हत्या के बाद मंगलवार को यूपी विधान परिषद के सभापति रमेश यादव पहली बार मीडिया के सामने आए। उन्होंने पुलिस पर भरोसा जताते हुए कहा कि जांच चल रही है, जो सच होगा, वह सभी को मालूम पड़ जाएगा। उन्होंने पत्नी मीरा यादव के आरोपों को बेबुनियाद बताया।

 

हम काफी दिनों से लखनऊ नहीं गए: सभापति रमेश यादव ने कहा कि न तो घटना की रात वह वहां (लखनऊ) में थे, न मीरा यादव से मुलाकात हुई है, तो हम क्या कह दें। हम तो यहीं थे। हार्ट सर्जरी हुई है। केवल अनुपूरक बजट के समय हम लखनऊ गए थे। हत्या कैसे व किन परिस्थितियों में हुई है, यह पुलिस की जांच में स्पष्ट हो जाएगी। 

 

मां मीरा ने बार-बार बदले बयान: विधान परिषद के सभापति के बेटे अभिजीत की दो दिन पूर्व लखनऊ के दारुलशफा स्थित उनके आवास में संदिग्ध हाल में हुई थी। हालांकि मीडिया द्वारा सवाल उठाए जाने के बाद हरकत में आई पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया तो चौंकाने वाला खुलासा हुआ। रिपोर्ट के मुताबिक, अभिजीत की मौत गला दबाने से हुई थी। जबकि अभिजीत की मां मीरा यादव ने मौत को सामान्य बताया था। 

 

हत्या के पीछे बताया पति का हाथ: शक के आधार पर पुलिस ने मीरा यादव को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उन्होंने अपना जुर्म कबूल लिया। बताया कि उन्होंने चुन्नी से बेटे का गला दबा दिया था। जिससे उसकी मौत हो गई। उन्होंने साक्ष्यों से भी छेड़छाड़ की थी। हालांकि कोर्ट ने उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। लेकिन पेशी के दौरान मीरा यादव ने अपना बयान बदलते हुए इस हत्या के पीछे पति रमेश यादव का हाथ बताया। 
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना