--Advertisement--

विडंबना / पैरों पर गिरकर दिव्यांग ने सुनाई व्यथा, डिप्टी सीएम बोले-ज्यादा नाटक मत करो



डिप्टी सीएम के पैरों पर गिरकर नौकरी की मांग करता जगजीत डिप्टी सीएम के पैरों पर गिरकर नौकरी की मांग करता जगजीत
X
डिप्टी सीएम के पैरों पर गिरकर नौकरी की मांग करता जगजीतडिप्टी सीएम के पैरों पर गिरकर नौकरी की मांग करता जगजीत

  • डिप्टी सीएम के शब्द सुनकर आहत है दिव्यांग का परिवार 
  • मृतक आश्रित कोटे की नौकरी के लिए 16 सालों से दौड़ रहा है दिव्यांग

Dainik Bhaskar

Oct 13, 2018, 06:53 PM IST

आगरा. मृतक आश्रित कोटे के तहत नौकरी पाने के लिए शनिवार को एक दिव्यांग उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा के पैरों पर गिर पड़ा। लेकिन उप मुख्यमंत्री ने उसकी विवशता को नाटक करार दे दिया। इससे दिव्यांग का परिवार आहत है। खास बात यह है कि दिव्यांग ढाई दशक से भाजपा कार्यकर्ता है। पूर्व में सह मीडिया प्रभारी भी रह चुका है। पत्नी का कहना है कि उप मुख्यमंत्री की संवेदनाएं खत्म हो चुकी हैं। घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वॉयरल हो रहा है। 

 

दिव्यांग जगजीत चोपड़ा

मायूस होकर घर लौटा जगजीत: प्रदेश के डिप्टी सीएम और आगरा के प्रभारी मंत्री दिनेश शर्मा आज आगरा पहुंचे। महिला सशक्तिकरण यात्रा और समीक्षा बैठक के लिए आए डिप्टी सीएम जब सर्किट हाउस से निकले तो वहां कई लोगों ने अपनी-अपनी समस्याएं बताईं। जगजीत चोपड़ा भी अपनी मांग को लेकर डिप्टी सीएम के पास पहुंचा था। अपनी अर्जी बताने के बाद परेशान जगजीत उनके पैरों में गिर गए। इस पर डिप्टी सीएम ने कहा कि नाटक मत करो, हम देख रहे हैं। नाटक जैसे शब्द को सुनकर जगजीत मायूस होकर घर लौट आया है। 

 

सरकारी कर्मचारी थे माता-पिता: जगजीत के पिता और माता सरकारी कर्मचारी थे। ड्यूटी टाइम में उनकी मौत हुई थी। जगजीत 80 प्रतिशत विकलांग हैं और ओबीसी वर्ग से आते हैं। इसके बावजूद वह बीते 16 सालों से नौकरी के लिए भटक रहे हैं। पत्नी मोनिका चोपड़ा ट्यूशन पढ़ाकर घर का खर्च चलाती है। पिछली 5 तारीख को जगजीत अपनी परेशानी लेकर डिप्टी सीएम से मिले थे। आज जब उन्हें उनके दोबारा आगरा आने की जानकारी हुई तो फिर वो उनसे मिलने पहुंच गए।

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..