Hindi News »Uttar Pradesh »Agra» Funeral Of Martyr's In Etah

शहीद का अंतिम संस्कार; पाकिस्तान की गोलीबारी में शहीद हुए थे रजनीश, जुलाई में थी बहन की शादी

शहीद का पार्थिव शरीर पैतृक गांव पहुंचते ही कोहराम मच गया।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jun 14, 2018, 05:47 PM IST

  • शहीद का अंतिम संस्कार; पाकिस्तान की गोलीबारी में शहीद हुए थे रजनीश, जुलाई में थी बहन की शादी
    +1और स्लाइड देखें
    मंगलवार को शहीद हुए थे रजनीश।

    एटा.भारत-पाक सीमा पर शहीद हुए रजनीश का अंतिम संस्कार थाना जैथरा क्षेत्र के सदियापुर गांव किया गया। शहीद के अंतिम दर्शन के लिए लोगों का हुजूम लगा था। बता दें कि मंगलवार को जम्मू के सांबा सैक्टर के चमलियाल में पाकिस्तान की नापाक गोलीबारी में देश के चार जाबांज शहीद हो गए थे। जिसमें एटा जिले के रजनीश यादव भी शामिल थे।

    -शहीद रजनीश यादव का पार्थिव शरीर गुरुवार सुबह उनके पैतृक गांव जैथरा थाना क्षेत्र के सदियापुर पहुंचा। शहीद का शव पहुंचते ही परिवार औऱ गांव में कोहराम मच गया। वहीं, परिजनों ने पाकिस्तान के खिलाफ सरकार के नरम रुख को लेकर गुस्सा जाहिर करते हुए कहा कि एक बार सेना को एक सप्ताह के लिए अपने तरीके से काम करने दिया जाए।

    2012 में हुए थे भर्ती
    - शहीद रजनीश का जन्म 1986 में एटा जिले के जैथरा थाना क्षेत्र के सदियापुर गांव में हुआ था और 2012 में वो बीएसएफ में भर्ती हुए थे। शहीद रजनीश के भतीजे ने अखिलेश ने कहा कि पाकिस्तान की ये नापाक हरकत है। वो हमेशा छुपकर वार करता है, ये उसकी गीदड़ वाली चाल है।
    - हमारे चाचा पेट्रोलिंग पर जा रहे थे तभी उनपर छुपकर वार किया गया। इससे हमारे देश के जवानों का मोरल डाउन होता है और हमारी सरकार कोई एक्शन नहीं लेती है।
    - भारत सरकार सिर्फ अपनी गद्दी को देख रही है और सरकार चला रही है।


    2013 में हुई थी शादी
    -शहीद रजनीश की शादी 2013 में हुई थी। 4 साल का एक बेटा भी है जिसका नाम दर्श हैं। इनकी दो बहनें सपना और हेमलता हैं जबकि एक छोटा भाई है।
    - अगले महीने जुलाई में बहन की शादी होने वाली थी जिसमें रजनीश को आना था।
    - रजनीश के पिता राजवीर सिंह पेशे से किसान हैं।

  • शहीद का अंतिम संस्कार; पाकिस्तान की गोलीबारी में शहीद हुए थे रजनीश, जुलाई में थी बहन की शादी
    +1और स्लाइड देखें
    शहीद को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Agra News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Funeral Of Martyr's In Etah
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Agra

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×