उन्नाव दुष्कर्म मामला / सपा नेता प्रोफेसर रामगोपाल यादव ने कहा- कानून व्यवस्था पूरी तरह लचर, लगे राष्ट्रपति शासन

सपा नेता और राज्यसभा सांसद प्रोफेसर रामगोपाल यादव (फाइल फोटो) सपा नेता और राज्यसभा सांसद प्रोफेसर रामगोपाल यादव (फाइल फोटो)
X
सपा नेता और राज्यसभा सांसद प्रोफेसर रामगोपाल यादव (फाइल फोटो)सपा नेता और राज्यसभा सांसद प्रोफेसर रामगोपाल यादव (फाइल फोटो)

  • उन्नाव दुष्कर्म कांड को लेकर योगी सरकार पर बोला हमला
  • कहा- पहले ही कहा था कि पीड़िता का बचना बहुत मुश्किल

दैनिक भास्कर

Dec 07, 2019, 06:49 PM IST

फिरोजाबाद. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और राज्यसभा सांसद प्रोफेसर रामगोपाल यादव ने उन्नाव कांड को लेकर भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था पूरी तरह से लचर है। यहां राष्ट्रपति शासन लगा देना चाहिए। 

फिरोजाबाद में शनिवार को एक निजी कार्यक्रम में आए सपा नेता रामगोपाल यादव ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि उन्नाव की घटना पर पहले कोई कार्रवाई नहीं हुई। मैंने सदन में भी इस विषय पर कहा था कि दुष्कर्म पीड़िता 90 प्रतिशत जल चुकी है, उसका जिंदा रहना मुश्किल है। 

उन्होंने कहा कि अपराधियों को राजनीतिक संरक्षण मिलता है। उत्तर प्रदेश की व्यवस्था बिल्कुल लचर है। उन्नाव घटना के जो आरोपी हैं उन पर भी वैसी कार्रवाई नहीं हो सकती है जो हैदराबाद में हुई है।

यह है मामला
गैंगरेप पीड़ित लड़की को उसी के गांव के आरोपी शिवम ने शादी का झांसा देकर अपने जाल में फंसाया। दुष्कर्म के वीडियो बनाकर ब्लैकमेल किया। परेशान होकर लड़की अपनी बुआ के घर रायबरेली चली गई। शिवम ने यहां भी 12 दिसंबर 2018 को अपने साथी शुभम के साथ रेप किया।

रायबरेली कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने 5 मार्च, 2019 को केस दर्ज किया। बाद में शिवम ने कोर्ट में सरेंडर किया। जबकि शुभम फरार रहा। 30 नवंबर को शिवम जमानत पर रिहा होकर आया। 5 दिसंबर को रायबरेली कोर्ट में सुनवाई के लिए जा रही पीड़ित को जला दिया गया। पुलिस ने शिवम, उसके पिता रामकिशोर, शुभम, हरिशंकर और उमेश बाजपेयी को गिरफ्तार किया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना