Hindi News »Uttar Pradesh »Agra» Taj Mahal Minaret Shakes After Storm In Agra

32 करोड़ में बनकर तैयार हुआ था ताज, सिर्फ गुंबद बनाने में लगे थे 15 साल

ताज महल से करोड़ों कमाता है इंडिया, कन्जर्वेशन पर 1/4th भी नहीं होते खर्च।

DainikBhaskar.com | Last Modified - May 05, 2018, 01:22 PM IST

  • 32 करोड़ में बनकर तैयार हुआ था ताज, सिर्फ गुंबद बनाने में लगे थे 15 साल
    +1और स्लाइड देखें

    आगरा.ताज नगरी में बीते बुधवार को आए तूफान से ताजमहल को बड़ा नुकसान हुआ है। ताज की दो मीनारों में कंपन महसूस किया गया, जिससे एक मीनार की खिड़की का पल्ला टूट गया। UNESCO द्वारा घोषित वर्ल्ड हैरिटेज साइट्स में शुमार ताज के रख-रखाव पर खर्च उससे होने वाली आमदनी के मुकाबले बहुत कम होता है।

    शाहजहां ने बनवाया था भूकंप में सुरक्षित रहने वाला ढांचा

    - इतिहासकारों के मुताबिक पहली बार कुदरती कहर से ताज के मुख्य ढांचे को नुकसान पहुंचा है।
    - अप्रैल 2015 में आए भूकंप में भी इसे नुकसान नहीं हुआ था। शाहजहां द्वारा 17वीं सदी में बनवाई गई इस इमारत की मीनारें बाहर की ओर झुकी हैं, ताकि भूकंप से अगर कभी मीनार गिरे तो बाहर की ओर गिरे और गुंबद को नुकसान न हो।

    ताज से कमाई ज्यादा, रख-रखाव पर खर्च कम

    - अक्टूबर 2017 में जारी हुई रिपोर्ट के मुताबिक 2013 से 2016 के बीच ताज महल से 75 करोड़ रुपए से ज्यादा का रेवेन्यू जनरेट हुआ।
    - वहीं इस दौरान उसके रख-रखाव पर कुल 11 करोड़ रुपए खर्च किया गया।
    - अप्रैल 2016 से जून 2016 के बीच ताज महल से एंट्री टिकट और अन्य पेड सेवाओं से 8.31 करोड़ का रेवेन्यू मिला, वहीं इस दौरान इस इमारत के रख-रखाव पर कुल 24.71 लाख रुपए खर्च किए गए।
    - ताज महल के कन्जर्वेशन के लिए एएसआई को यूनेस्को से भी फंड मिलता है।

    32 करोड़ में बना था ताज महल

    - tajmahal.org.uk के मुताबिक इस खूबसूरत इमारत का निर्माण सन् 1631 में शुरू होकर सन् 1653 में पूरा हुआ था।
    - ताज महल के निर्माण के लिए शाहजहां ने अफगानी आर्किटेक्ट उस्ताद अहमद लाहौरी को लगाया था।
    - इस इमारत को बनाने में 20 हजार मजदूर जुटे थे।
    - उस जमाने में ताज महल की कंस्ट्रक्शन कॉस्ट 32 करोड़ रुपए के लगभग आई थी।
    - इसका गुंबद और मकबरा बनाने में 15 साल का वक्त लगा था, जबकि मीनारें, मस्जिद और दरवाजे 5 साल में तैयार हो गए थे।
    - मकबरे में मौजूद मुमताज की कब्र के पास अल्लाह के 99 नाम लिखे हुए हैं।

  • 32 करोड़ में बनकर तैयार हुआ था ताज, सिर्फ गुंबद बनाने में लगे थे 15 साल
    +1और स्लाइड देखें
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Agra

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×