आगरा / हिंसा के आरोपी को पकड़ने के लिए दरोगा ने भेष बदला, ठेले पर केले बेचे; वीडियो वायरल

दरोगा संजीव ने भेष बदलकर तीन दिन तक घूमे।
दरोगा संजीव तोमर। दरोगा संजीव तोमर।
X
दरोगा संजीव तोमर।दरोगा संजीव तोमर।

  • नागरिकता कानून के विरोध में हिंसक प्रदर्शन का एक आरोपी फिरोजाबाद से भागकर आगरा में छिप गया था
  • दरोगा संजीव तोमर ठेला लेकर उन-उन इलाकों और गलियों में गए जहां आरोपी के छिपे होने की आशंका थी
  • उनकी मुहैया कराई जानकारी के आधार पर पुलिस आरोपी को पकड़ने में कामयाब रही

दैनिक भास्कर

Dec 26, 2019, 04:03 PM IST

आगरा. उत्तर प्रदेश के आगरा में हिंसा के एक आरोपी का पता लगाने के लिए एक दरोगा ने भेष बदलकर संवेदनशील इलाके में ठेला पर केले बेचे। यही नहीं, इसके लिए दरोगा ने अपनी मूंछे कटवा दी। गंदे कपड़े भी पहनें, ताकि कोई उन्हें पहचान नहीं पाए। केला बेचते हुए दरोगा सीसीटीवी में कैद हो गया। अब इसका वीडियो वायरल हो रहा है।


दरअसल, नागरिकता कानून के खिलाफ आगरा से सटे फिरोजाबाद में 20 और  21 दिसंबर को हिंसक प्रदर्शन हुआ था। इनमें दो लोगों की मौत भी हुई थी। हिंसा के बाद एक आरोपी आगरा के मंटोला इलाके में आकर छिप गया था। फिरोजाबाद पुलिस ने यह इनपुट आगरा पुलिस को दिया। अफसरों ने इसकी जिम्मेदारी आगरा में मंटोला क्षेत्र के सुभाष बाजार पुलिस चौकी प्रभारी दरोगा संजीव तोमर को दी। 

जहां आरोपी छुपा था वहां की रेकी की 

संजीव ने उस इलाके में आरोपी की लोकेशन का पता लगाने के लिए ठेले पर केले बेचने का फैसला किया। वह ठेला लेकर उन-उन इलाकों और गलियों में गए जहां आरोपी के छिपे होने की आशंका थी। दरोगा ने इसके लिए मूंछे साफ करा दी। फुटपाथ से ऐसे कपड़े भी खरीदे, जिससे कोई पहचान न सके। मिशन कामयाब रहा। जो सूचनाएं चाहिए थीं, वो सही पाई गईं। पुलिस के अनुसार, आरोपी को पकड़ लिया गया। पुलिस सूत्रों ने बताया कि इस ऑपरेशन को अंजाम देने के लिए दरोगा संजीव ने 5 दर्जन केले बेचे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना