आगरा / बच्चे के हाथ से टूटा मोबाइल तो नौकर ने गला दबाकर मार डाला, 12 दिन बाद मिला शव



धनराज। -फाइल धनराज। -फाइल
X
धनराज। -फाइलधनराज। -फाइल

  • आगरा के सैंया थाना इलाके का मामला
  • एक सितंबर को नौकर ने अगवा कर की थी हत्या

Dainik Bhaskar

Sep 13, 2019, 04:02 PM IST

आगरा. 12 दिन पहले आगरा जिले के सैंया थाना इलाके से अगवा हुए बच्चे का शव शुक्रवार को खेत में पड़ा मिला। बच्चे का शव उसके हत्यारे की निशानदेही पर पुलिस ने बरामद किया है। बच्चे के हाथों से घर में काम करने वाले नौकर का मोबाइल टूट गया था। इससे नाराज होकर नौकर ने बीते 1 सितंबर को अगवा कर लिया। इसके बाद खेत में ले जाकर उसकी हत्या कर दी। पुलिस ने नौकर के खिलाफ अपहरण व हत्या का केस दर्ज किया है। 

 

कक्षा तीन का छात्र था मृतक

रजपुरा गांव निवासी लोकेंद्र का बेटा धनराज कक्षा तीन का छात्र था। उसके घर में बृथला निवासी अनिल मवेशियों की देखभाल का काम करता था। पुलिस पूछताछ में नौकर अनिल ने बताया कि, वह पशुओं की देखभाल से मिलने वाले पैसे से नया मोबाइल लेकर आया था। धनराज ने उसका मोबाइल लिया और खेलते समय वह हाथों से छूट गया। जिससे मोबाइल टूट गया। 

 

शमसाबाद में करने लगा था नौकरी
मोबाइल टूटने से अनिल गुस्से में आ गया। लेकिन वह अपने मालिक के बेटे से कुछ नहीं कह सका। उसने धनराज की हत्या करने की साजिश रची। लोकेंद्र से घर जाने के लिए पैसे उधार लिए और बहला फुसलाकर धनराज को अपने साथ ले गया। इसके बाद गांव के किसान राजवीर के खेत में ले जाकर धनराज की गला दबा कर हत्या कर दी और शव फेंक दिया। वह शमसाबाद में मजदूरी करने लगा, लेकिन पुलिस ने उसे पकड़ लिया। 

 

काफी दिनों से थी तलाश

एसपी देहात रवि कुमार ने बताया कि, अनिल के खिलाफ अपहरण हत्या का मुकदमा दर्ज कर उसे जेल भेजा जा रहा है। उसने मोबाइल तोड़ने के गुस्से खफा होकर उसकी हत्या की है। पुलिस उसे काफी दिनों से तलाश कर रही थी पर मिल नहीं पा रहा था। 

 

a href="https://dbapp.in/2MhFpXL"> DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना