आगरा / कारागार में बंदी ने फांसी लगाकर की खुदकुशी, जाली नोट छापने वाले गैंग का था सदस्य



प्रतीकात्मक। प्रतीकात्मक।
X
प्रतीकात्मक।प्रतीकात्मक।

  • जेल अस्पताल में दवा लेने गया, तभी मौका पाकर उठाया आत्मघाती कदम
  • जेल प्रशासन को नहीं लगी भनक

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2019, 03:48 PM IST

आगरा. जिला कारागार में बुधवार रात एक बंदी ने पेड़ से लटककर खुदकुशी कर ली। वह नकली नोट छापने के आरोप में छह सितम्बर को पकड़ा गया था। पुलिस के अनुसार, बंदी ने गमछे से फांसी का फंदा बनाया। जिसे पेड़ से बांधकर उससे लटक गया। ऐसे में जेल की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल उठने लगे हैं। 

एसटीएफ ने छह सितंबर को शहीद नगर एकता पार्क के पास से स्कैनर, प्रिंटर की मदद से स्टांप पेपर पर सौ-सौ के जाली नोट छापने वाले गिरोह के पांच सदस्यों को पकड़ा था। एसटीएफ ने गिरोह के कब्जे से 35 हजार रुपए बरामद किए थे। 

 

इस गिरोह में थाना सदर राजपुर चुंगी के कृष्णपुरी निवासी ओमकार झा भी शामिल था। बताया जाता है कि, बुधवार रात वह जेल अस्पताल में दवा लेने गया था। लेकिन उसे अस्पताल के बाहर लगे पेड़ से गमछे के सहारे लटकते हुए देखा गया। लेकिन इस बात की भनक जेल प्रशासन को तब लगी जब बंदियों ने शव देख शोर मचाया। शव को फंदे से उतारा गया। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। 

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना