अलीगढ़ / रोड पर हनुमान चालीसा और महाआरती; लोग बोले- खुले में नमाज पढ़ी जा सकती है तो पूजा-पाठ क्यों नहीं?



X

  • भाजपा किसान मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने हनुमान चालीसा का पाठ किया और महाआरती की
  • इसमें पूर्व मेयर शकुंतला भारती समेत बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता और स्थानीय लोग शामिल हुए

Dainik Bhaskar

Jul 21, 2019, 01:48 PM IST

अलीगढ़. यहां पक्की सराय स्थित संकट मोचन हनुमान मंदिर के बाहर शनिवार की शाम भाजपा किसान मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने हनुमान चालीसा का पाठ किया और महाआरती की। इसमें भाजपा की पूर्व मेयर शकुंतला भारती भी मौजूद थीं। इस दौरान लोगों ने कहा कि, श्रावण मास चल रहा है और इन महीनों में भगवान का नाम लेना चाहिए। हम किसी की देखा देखी नहीं कर रहे। उन्हें (मुसलमानों को) आजादी है, तो क्या हम हनुमान चालीसा और आरती नहीं कर सकते? 

 

भाजपा किसान मोर्चा के तनुराग वार्ष्णेय ने कहा कि रोड पर महाआरती करने का मकसद कुछ भी नहीं है। जब मुस्लिम समुदाय रोड पर नमाज पढ़ सकता है तो क्या हम महाआरती नहीं कर सकते? इस महाआरती में तमाम भाजपाई मौजूद थे। पूर्व मेयर शकुंतला भारती ने कहा की वो अपनी नमाज पढ़ते हैं, हम महाआरती कर रहे हैं इसमें क्या बुराई की बात है? 

 

भाजपा महानगर महामंत्री मानव महाजन ने कहा की मीडिया ने शोर मचा रखा है की सड़क पर नमाज। ये मीडिया और जनता को अहसास दिलाना है कि नमाज सड़क पर होती है तो एक जनजागरूकता अभियान चलाया जाए। लोगों के मन में आए तो सही कि सड़क रोक कर नमाज पढ़ना क्या है? हिन्दू समाज अगर आरती कर रहा है तो एक सन्देश दे रहा है। हम सड़क नहीं रोकते। लोगों ने परंपरा को चालू किया। अब तक कोई बोलने वाला नहीं था कि नमाज सड़क पर पढ़ने का क्या मतलब है? अब ये बहस छिड़नी चाहिए। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना