--Advertisement--

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट ने की रैंगिग को लेकर कंप्लेन, कहा- सीनियर करते हैं मेरी पिटाई

पीड़ित छात्र HRD मंत्रालय की वेबसाइट पर शिकायत दर्ज कराई। इसके बाद इलाहाबाद यूनिवर्सिटी ने अपने संज्ञान में लिया है।

Danik Bhaskar | Dec 09, 2017, 09:20 AM IST
इलाहाबाद यूनिवर्सिटी ने इस मामले में पुलिस के पास अज्ञात के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। इलाहाबाद यूनिवर्सिटी ने इस मामले में पुलिस के पास अज्ञात के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है।

इलाहाबाद. इलाहबाद यूनिवर्सिटी के बीए (फर्स्ट ईयर) की पढ़ाई करने वाले एक स्टूडेंट ने एमएचआरडी की वेबसाइट में अपने साथ हुई इस रैगिंग की जानकारी देते हुए कार्रवाई की मांग की है। स्टूडेंट की शिकायत पर यूनिवर्सिटी प्रशासन ने मामले की जांच शुरु कर दी है। शिकायत में स्टूडेंट ने कहीं ये बात...

- पीड़ित छात्र का आरोप है की उसे सीनियर छात्र मानसिक रूप से प्रताड़ित करते हैं। अक्सर उसके साथ गालीगलौज की जाती है। उसके साथ मार पिटाई की जाती है।
- इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के चीफ प्रॉक्टर प्रो. रामसेवक दूबे ने कहा, " पीड़ित छात्र ने शिकायत में अपना नाम नहीं बताया, न ही ये साफ हो पाया है कि मामला किस हॉस्टल का है। रैगिंग लेने वाले किसी छात्र का नाम भी सामने नहीं आया है। इस मामले में अज्ञात के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के लिए कर्नलगंज थाने में शिकायत दी है।

रैंगिग को लेकर ये नियम

- UGC ने रैंगिग को लेकर नियम बनाए हैं। सिर्फ जूनियर के साथ मारपीट की ही नहीं किसी प्रकार के मानसिक प्रताड़ना को भी रैगिंग का हिस्सा माना जाएगा। रंग, जातीय, धार्मिक, राष्ट्रीयता आदि किसी प्रकार के भेदभाव को रैगिंग माना जाएगा। ऐसे मामलों में शामिल दोषी छात्र-छात्राओं पर रैगिंग के नियमानुसार ही कार्रवाई की जाएगी।


रैंगिग की शिकायत के लिए हेल्पलाइन

- रैगिंग रोकने के लिए सभी संस्थानों में एंटी रैगिंग स्क्वायड को पहले ही यूजीसी ने अनिवार्य बना दिया है। इसके साथ ही सेंट्रल हेल्पलाइन सर्विस भी मौजूद है। इसका नंबर 1800-180-5522 है।

बीए फर्स्ट ईयर स्टूडेंट ने ये शिकायत दर्ज कराई है। बीए फर्स्ट ईयर स्टूडेंट ने ये शिकायत दर्ज कराई है।
फिलहाल यूनिवर्सिटी के पास शिकायतकर्ता के नाम की कोई जानकारी नहीं हैे। फिलहाल यूनिवर्सिटी के पास शिकायतकर्ता के नाम की कोई जानकारी नहीं हैे।