Hindi News »Uttar Pradesh »Allahabad» Indian Army Day Special Story From Allahabad

शहीद के पेट में प्लांट कर दिया गया था 10 Kg का बम, इस हाल में थी Wife

आर्मी डे के मौके पर DainikBhaskar.com से बातचीत में शहीद की पत्नी का छलका दर्द।

सूर्य प्रकाश त्रिपाठी | Last Modified - Jan 15, 2018, 10:43 AM IST

  • शहीद के पेट में प्लांट कर दिया गया था 10 Kg का बम, इस हाल में थी Wife
    +7और स्लाइड देखें
    पत्नी ने बताया- शहादत से 15 दिन पहले ही प्रेग्नेंसी के बारे में बताया था। तब वो बहुत खुश हुए थे। (शहीद की पत्नी रेखा)

    इलाहाबाद(यूपी).15 जनवरी को आर्मी डे है। इलाहाबाद के शहीद सीआरपीएफ जवान बाबूलाल पटेल की फैमिली से DainikBhaskar.comने बात की। शहीद की पत्नी ने बताया, ''शहादत से 15 दिन पहले ही पति को प्रेग्नेंसी के बारे में बताया था। तब वो बहुत खुश थे। उनका सपना था- उन्हें संतान पापा कहकर बुलाए, लेकिन वो अधूरा ही रह गया।'' फोन कर कहा- आ रहा हूं घर, लेकिन आया पार्थिव शरीर...

    - गंगापार के नावबंगज थानाक्षेत्र स्थित मलाक बलऊ गांव के सीआरपीएफ जवान बाबूलाल पटेल की शहादत के 5 साल हो गए।
    - शहीद मां जगपती देवी और पिता मुन्नीलाल पटेल की इकलौती संतान था। 2006 में सीआरपीएफ में भर्ती हुआ।
    - पिता का कहना है, ''नक्सल प्रभावित इलाके में उसकी पोस्टिंग हुई। लगभग 6 साल तक वीरता के साथ देश सेवा की।''
    - ''7 जनवरी 2013 को झारखंड के लातेहार में नक्सलियों ने हमला कर दिया। इससे पहले बेटे का एक कॉल आया था। बोल रहा था कि जल्द ही घर आने वाला हूं, लेकिन उसकी शहीद होने की खबर मिली।''

    - ''इकलौते बेटे के पार्थिव शरीर देखते ही उसकी मां टूट गई। ऐसा लगा कि हाथ से जीवन ही फिसल गया हो।''

    लोग बुलाते हैं शहीद की मां
    - बेटे की यादों में खोई मां का कहना है, ''वो बचपन से ही पढ़ाई में अव्वल आता था। हाईस्कूल पास करते ही फौज की नौकरी के बारे में बात करता था।''
    - ''सेना में जाने की तैयारी करने में लगा रहता था। परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक न होने के बाद भी, सीआरपीएफ में भर्ती होने का सपना पूरा किया।''
    - ''उसे बचपन से ही शहीदों की कहानी सुनना पसंद था। लोग अब शहीद की मां के नाम से बुलाते हैं। यह सुनकर आंखों में आंसू आ जाते हैं।''

    - ''क्या पता था कि वो एक दिन ऐसे ही छोड़कर चला जाएगा। हमारा एक मात्र सहारा था और वो भी चला गया। देश की सलामती बेटे के शहीद होने से अगर है तो हम हर तकलीफ सहने को तैयार हैं।''


    प्रेग्नेंट Wife को मिली थी पति की मौत की खबर

    - साल 2008 में रेखा से शहीद की शादी हुई थी। पति की शहादत के 6 महीने बाद 2 जुलाई 2013 को बेटे अंश को दिया, जो अब साढ़े 4 साल का हो गया है।

    - पत्नी ने बताया, ''शहादत से 15 दिन पहले ही पति को प्रेग्नेंसी के बारे में बताया था। तब वो बहुत खुश हुए थे।''
    - ''सास-ससुर और बेटे की जिम्मेदारी में खुद को ढाले हुए हूं। पति की यादों के सहारे जिंदगी बिता रही हूं।''

    शहीद के पेट मे प्लांट कर दिया था 10 Kg का बम
    - मलाक बलऊ गांववालों के लिए 28 दिसंबर 2016 की सुबह दशहत भरी थी। झारखंड के लातेहार के कटिया जंगल में नक्सलियों ने हमला किया।
    - 13 जवान शहीद हुए, जिसमें बाबूलाल पटेल भी शामिल थे। नक्सलियों ने बाबूलाल की हत्या के बाद उनके पेट में 10kg बम प्लांट किया था।
    - उनका प्लान था कि पोस्टमॉर्टम के दौरान भारी विस्फोट कर कई लोगों को मौत के घाट उतार सके। लेकिन सुरक्षा एजेंसियों ने इसे नाकाम कर दिया।

    क्यों मनाते हैं आर्मी डे?
    - आर्मी डे, हर साल 15 जनवरी को लेफ्टिनेंट जनरल (बाद में फील्ड मार्शल) के. एम. करियप्पा के भारतीय थल सेना के मुख्य कमांडर का पदभार ग्रहण करने के उपलक्ष्य में मनाया जाता है।
    - उन्होंने 15 जनवरी 1949 को ब्रिटिश राज के समय के भारतीय सेना के अंतिम अंग्रेज शीर्ष कमांडर (कमांडर इन चीफ, भारत) जनरल रॉय बुचर से ये पदभार ग्रहण किया था।
    - इस दिन उन सभी बहादुर सेनानियों को सलामी भी दी जाती है, जिन्होंने कभी ना कभी अपने देश और लोगों की सलामती के लिए अपना सर्वोच्च न्योछावर कर दिया।

  • शहीद के पेट में प्लांट कर दिया गया था 10 Kg का बम, इस हाल में थी Wife
    +7और स्लाइड देखें
    शहीद माता-पिता की इकलौती संतान था। 2006 में सीआरपीएफ में भर्ती हुआ।
  • शहीद के पेट में प्लांट कर दिया गया था 10 Kg का बम, इस हाल में थी Wife
    +7और स्लाइड देखें
    शहादत के वक्त पत्नी ढाई महीने की प्रेग्नेंट थी। 6 महीने बाद 2 जुलाई 2013 को बेटे अंश को जन्म दिया।
  • शहीद के पेट में प्लांट कर दिया गया था 10 Kg का बम, इस हाल में थी Wife
    +7और स्लाइड देखें
    मां जगपती देवी ने बताया- बचपन से ही बेटा शहीद की कहानियां सुना करा था। क्या पता था कि एक दिन हमें भी छोड़कर चला जाएगा।
  • शहीद के पेट में प्लांट कर दिया गया था 10 Kg का बम, इस हाल में थी Wife
    +7और स्लाइड देखें
    मां ने बताया- आज लोग शहीद की मां के नाम से बुलाते हैं। यह सुनकर आंखों में आंसू आ जाते हैं।
  • शहीद के पेट में प्लांट कर दिया गया था 10 Kg का बम, इस हाल में थी Wife
    +7और स्लाइड देखें
    नक्सलियों ने शहीद बाबूलाल की हत्या कर उसके पेट में 10kg बम प्लांट कर दिया। प्लान था कि पोस्टमॉर्टम के दौरान भारी विस्फोट हो, जिसे सुरक्षा एजेंसियों ने नाकाम कर दिया।
  • शहीद के पेट में प्लांट कर दिया गया था 10 Kg का बम, इस हाल में थी Wife
    +7और स्लाइड देखें
    2006 में सीआरपीएफ में भर्ती होने के बाद 2008 में रेखा से शादी हुई थी।
  • शहीद के पेट में प्लांट कर दिया गया था 10 Kg का बम, इस हाल में थी Wife
    +7और स्लाइड देखें
    शहीद के परिजनों को तत्कालीन यूपी सीएम अखिलेश यादव ने 20 लाख की अनुग्रह राशि भी दी थी।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Allahabad News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Indian Army Day Special Story From Allahabad
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Allahabad

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×