--Advertisement--

योगी के मंत्री को जान से मारने की धमकी, BSP से शुरू की थी राजनीति

धमकी देने वाले के खिलाफ इलाहाबाद के जार्जटाउन थाने में FIR दर्ज कराई गई है।

Danik Bhaskar | Feb 09, 2018, 08:21 AM IST
नंद गोपाल नंदी योगी सरकार में स्टाम्प और नागरिक उड्डयन मंत्री हैं। फाइल नंद गोपाल नंदी योगी सरकार में स्टाम्प और नागरिक उड्डयन मंत्री हैं। फाइल

इलाहाबाद. प्रदेश के कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल गुप्ता 'नंदी' को जान से मारने की धमकी मिली है। ये धमकी गुरुवार को उन्हें फोन पर दी गई है। धमकी देने वाले के खिलाफ इलाहाबाद के जार्जटाउन थाने में FIR दर्ज कराई गई है। मोबाइल नंबर के आधार पर पुलिस ने शहर में ही स्थित एक बुलेट एजेंसी के मालिक के घर दबिश दी पर वह मौके पर नहीं मिला।


-हालांकि मंत्री को जब फोन पर धमकी मिली तो वह राजधानी लखनऊ में थे और वहीं से फोन करके उन्होंने अपने वकील सुभाष बाजपेई को फोन पर बताया कि, उन्हें अज्ञात नंबर से गाली-गलौज करते हुए जान से मारने की धमकी दी गई है।
-उन्होंने यह भी बताया कि, धमकी पूर्व बाहुबली मंत्री विजय मिश्र और दिलीप मिश्र का नाम लेकर दी गई है।
उसी के आधार पर उन्होंने जॉर्ज टाउन थाने में केस दर्ज कराया है।

क्या कहना है पुलिस का ?

-एसएसपी आकाश कुलहरि ने बताया, "पुलिस मामले को गंभीरता से लेकर जांच कर रही है। FIR में दर्ज मोबाइल नंबर के आधार पर कॉल डिटेल निकलवाई गई है। जिसमें शहर के ही एक बुलेट एजेंसी के मालिक रजत केशरवानी का नाम सामने आया है। नाम चिन्हित करने के बाद उसकी तलाश में दबिश दी गई लेकिन वह नहीं मिला।"
-वहीं, जॉर्ज टाउन थाना प्रभारी सन्तोष शर्मा ने कहा, 'शहर के एक बुलेट शोरूम से किसी ने मंत्री को फोन पर जान से मारने की धमकी दी है। उसकी तलाश की जा रही है।'

2010 में हो चुका है हमला

-मायावती सरकार में स्टांप एवं न्यायिक पर मंत्री रहते हुए 2010 में नंद गोपाल गुप्ता पर बम से हमला हो चुका है। जिसमें मंत्री नंदी गंभीर रूप से घायल हो गए थे। ये हमला मंत्री के घर के पास एक मोटरसाइकिल में किसी ने बम लगाकर किया था।

कौन हैं नंदगोपाल नंदी

नन्द गोपाल गुप्ता योगी सरकार में स्टाम्प और नागरिक उड्डयन मंत्री हैं।
-पहली बार वे वर्ष 2007 में बहुजन समाज पार्टी के लिए विधानसभा में इलाहाबाद विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से निर्वाचित हुए।
-2012 के विधानसभा चुनाव में वे इलाहाबाद दक्षिण सीट से समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार हाजी परवेज अहमद से हार गए थे। वर्तमान में वे भारतीय जनता पार्टी के विधायक और उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री हैं।

नंदी ने BSP से पहली बार चुनाव लड़ा था। नंदी ने BSP से पहली बार चुनाव लड़ा था।