Hindi News »Uttar Pradesh »Allahabad» Mousumi Sachdeva Special Story In Allahabad

इस लेडी ने 3rd क्लास में लिखी थी पहली कविता, अब इस CM ने किया बुक लांच

इलाहाबाद में की मौसमी सचदेवा की बुक को दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल ने लांच किया।

सूर्य प्रकाश त्रिपाठी | Last Modified - Jan 13, 2018, 09:00 PM IST

  • इस लेडी ने 3rd क्लास में लिखी थी पहली कविता, अब इस CM ने किया बुक लांच
    +2और स्लाइड देखें
    मौसमी के पति सेना में है।

    इलाहाबाद (यूपी).मौसमी कलिता सचदेवा की किताब को दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने लांच किया। इन्होंने थर्ड क्लास से ही अपनी लेखनी से कविता गढ़ना शुरू कर दिया था। सच्ची घटना पर 'मेकिंग इम्पॉसिबल पॉसिबल' को 6 जनवरी को दिल्ली में लाॅच किया गया। मौसमी ने DainikBhaskar.com से अपनी जिंदगी और लेखन कला के बारे में अनुभव साझा किया।

    विदेशों में देती हैं ऑनलाइन कोचिंग...

    - मौसमी दिल्ली की रहने वाली हैं, इन्होंने प्रारंभिक शिक्षा दिल्ली से और फिर मास्टर की पढ़ाई गुवाहाटी से की। अंग्रेजी माध्यम से एमए और फिर मॉस कॉम किया।
    - इसके अलावा बीएड, आईटी और सीआईएसईएलटी, ब्रिटिश काउंसिल की डिग्री ली। मॉस कॉम के दौरान ये सोशल वर्क में एक्टिव हुई, इस दौरान ये दिल्ली की चेतान संस्था से जुड़ी।
    - बचपन से इंग्लिश में कविता लिखने वाली मौसमी अब तक कई बुक लिख चुकी हैं। वह अपनी कॉलेज में बैटमिंटन और रनिंग चैम्पिंयन भी रही हैं।
    - इनका 2 साल का बेटा भी है। ये स्लम एरिया के बच्चों के लिए स्कूल खोलना चाहती है और इंग्लिश पेपर के लिए अपनी रूचि के टॉपिक पर लिखती है।
    - अब तक 'जिंदगी रिवाइंड', 'लव रिमेंस अनडिफाइन' और अब 'मेकिंग इम्पॉसिबल पॉसिबल' बुक की लिख चुकी हैं। ये कई अफ्रीकी देशों में यूनिवर्सिटी के बच्चों को ऑनलाइन कोचिंग भी देती हैं।

    सच्ची घटना पर आधारित है ये स्टोरी
    - मौसमी ने कहा, ''जो भी कमाई बुक से होती है उसे गरीब बच्चों के लिए डॉनेट कर देती हूं। मैं खुद भी अपनी किताब खरीदती हूं। इन पैसों से स्लम के बच्चों के जरूरी सामान और चारीदती हूं।''
    - ''मुझे जानकारी अगर कोई बच्चा परेशान होता है तो मैं उसकी तुरंत मदद करती हूं। मेरी किताब सच्ची घटना पर आधारित है, इसमें बिहार का मेधावी बच्चा विजय कुमार को उसका भाई 6 साल की उम्र में ही दिल्ली बुला ले जाता है। वहां पर दोनों मजदूरी का काम करते हैं।''
    - ''इस दौरान दो जून की रोटी ने उसे पढ़ाई से दूर कर दिया था। इसके अलावा बस्ती के बच्चों के साथ नशे का आदि भी हो गया था। इस दौरान उसकी मुलाकात मंजुला दीदी नाम की ए‍क समाज सेविका से होती है, जो उसे मोटीवेट करती है।''
    - ''इसके बाद वह नशे से मुंह मोड़कर पढ़ाई की ध्यान लगाना शुरू करता है। पेट पालने के लिए रात में नौकरी करता है। बड़े होने पर वह अपने तरह के बच्चों के लिए काम करना शुरू कर देता है।''

  • इस लेडी ने 3rd क्लास में लिखी थी पहली कविता, अब इस CM ने किया बुक लांच
    +2और स्लाइड देखें
    दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल ने मौसमी के बुक को लांच किया था।
  • इस लेडी ने 3rd क्लास में लिखी थी पहली कविता, अब इस CM ने किया बुक लांच
    +2और स्लाइड देखें
    मौसमी को लिखने का बहुत शौक है।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Allahabad

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×