इलाहाबाद

--Advertisement--

दूधवाले से लेकर नाइ तक ऐसे हैं पुलिस के 8 कोड वर्ड्स, ये हैं उनके मतलब

इलाहाबाद.सीक्रेट कोड के जरिए माघ मेला पर पुलिस श्रद्धालुओं की सुरक्षा करेगी।

Danik Bhaskar

Jan 01, 2018, 10:14 AM IST
फोटो सिर्फ प्रेजेंटेशन के लिए है। फोटो सिर्फ प्रेजेंटेशन के लिए है।

इलाहाबाद(यूपी). 2 जनवरी से शुरू हो रहे माघ मेले पर कल्पवासियों के पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया है। मंगलवार को पहले स्नान पर्व पौष पूर्णिमा के दिन स्नानार्थियों की भीड़ लाखों में होगी। ऐसे में श्रद्धालुओं की सुरक्षा को लेकर पुलिस अफसरों ने 8 सीक्रेट कोड निकाले हैं। इनके जरिए पुलिस वायरलेस पर ही एक-दूसरे को तत्काल अलर्ट मोड पर लाएगी। कुछ ऐसे होंगे सीक्रेट कोड...

- हेलो चार्ली!, हेलो कमांडर!, हेलो टाइगर! प्लीज नोटेड..2 से 3 मिनट में पुलिस एक्सपर्ट की टीम मौके पर पहुंचे और कमान संभाले।

- 'दूधवाला या नाविक, नाई, बिखरे फूल, प्रसाद का डिब्बा, लाल चंदन, कमांडर, बालू की बोरी' आम बोलचाल की भाषा के सरल सीक्रेट कोड पुलिस यूज करेगी।

- ऐसे तमाम कोड हैं, जो पुलिस वाले आपस में बातचीत के दौरान यूज करेंगे। साथ ही, वायरलेस में ऐसे ही कोडवर्ड में संदेश पहुंचाए जाएंगे।

CCTV कैमरों से होगी चप्पे-चप्पे की निगरानी

- माघ मेला क्षेत्र में 45 सीसीटीवी कैमरों और 12 वाच टावरों से पल-पल की निगरानी की जाएगी। सात बड़े-बड़े स्थानों पर एलईडी टीवी लगाए जाएंगे।
- साथ में कंट्रोल रूम में पुलिस टीम बाकायदा हर सीसीटीवी कैमरे के जरिए चप्पे-चप्पे पर निगरानी करती रहेगी।

भीड़ की भगदड़ से बचने के लिए है ये उपाय
- एक पुलिस अधिकारी के मुताबिक, ''मान लीजिए संगम घाट पर बम पड़ा है तो पूरे माघ मेला क्षेत्र में भगदड़ मच सकती है। जिसे संभालना मुश्किल हो जाएगा।''
- ''लिहाजा इसके लिए कहा हम कोड वर्ड्स का यूज करेंगे। एग्जाम्पल के तौर पर माघ संगम घाट पर फूल, प्रसाद का पैकेट, इलायची दाने का पैकेट पड़ा है, देख लें।''
- ''इतना सुनते ही पुलिस की पूरी टीम बम डिस्पोजल दस्ते के साथ अलर्ट हो जाएगी। हालांकि, यह कोड पूरे महीने के लिए नहीं होते। इसमें बदलाव होता रहता है। इसके बारे में चुनिंदा पुलिसवालों को ही बताया जाता है।''


क्या कहते हैं एसपी ?
- माघ मेला एसपी नीरज पांडेय ने बताया, ''सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए पुलिस प्लान तैयार करती है, जिसे किसी से शेयर नहीं किया जाता है।''
- ''सुरक्षा का घेरा बनाया गया है, वह अभेद्य होगा। कई स्पेशल टीम के साथ ही सुरक्षाबलों को तैनात किया जाएगा। सीसीटीवी व ड्रोन कैमरे से भी मेला पर नजर रखी जाएगी।''

Click to listen..