--Advertisement--

राजा भैया के पिता की करोड़ों की संपत्ति रिलीज, जब्त किए गए थे सोने से भरे 4 बॉक्स

2003 में मायावती सरकार ने जब्त की थी संपत्ति।

Danik Bhaskar | Dec 27, 2017, 08:23 AM IST
कुंडा विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय विधायक हैं राजा भैया। कुंडा विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय विधायक हैं राजा भैया।

प्रतापगढ़. जिले के भदरी रियासत के पूर्व राजा और पूर्व कैबिनेट मंत्री रघुराज प्रताप सिंह (राजा भैया) के पिता उदय प्रताप सिंह की करोड़ों रुपये की संपत्ति मंगलवार की शाम को कोषागार से रिलीज की गई है। यह संपत्ति डबल लॉकर में 14 साल तक रखी थी। जिलाधिकारी के आदेश पर आला अफसरों की मौजूदगी में हीरा-पन्ना और सोने से भरे चार बड़े बॉक्स में रखी संपत्ति रिलीज की गई है।

-बता दें कि वर्ष 2003 जू यूपी में मायावती की सरकार थी तब राजा भइया के खिलाफ चले अभियान में राजा भइया और उनके कई समर्थकों के खिलाफ पोटा की धाराएं भी लगाई गई थी। राजा भइया तमाम समर्थकों जेल में थे।
-राजा भइया के पिता उदय प्रताप सिंह के भदरी महल से 26 जनवरी, 2003 में पुलिस ने करोड़ों की संपत्ति बरामद की थी। कार्रवाई के बाद उसे जिला कोषागार के डबल लॉक में जमा करा दिया गया था।


-महल में करोड़ों रुपये की संपत्ति मिलने के बाद तत्कालीन जिला मजिस्ट्रेट की कोर्ट में मुकदमा प्रारंभ किया गया था। लेकिन 2012 में सपा की सरकार बनते ही राजा भैया और उदय प्रताप सिंह के खिलाफ लगे पोटा को हटा लिया गया था।
-तत्कालीन डीएम आरएस वर्मा ने मुकदमे का निपटारा करते हुए उदयप्रताप सिंह की जब्त संपत्ति जारी करने का आदेश दिया था, मगर मामला करोड़ों रुपये का होने के कारण आयकर विभाग में मामले में जांट शुरू की थी।
-आयकर विभाग से हरी झंडी मिलने के बाद मंगलवार को उसे रिलीज कर दिया गया।

कौन हैं राजा भैया


-राजा भैया यूपी के बाहुबली नेता माने जाते हैं।
-प्रतापगढ़ जिले की कुंडा विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय विधायक हैं। 2012 में सपा सरकार में वो प्रदेश में कैबिनेट मंत्री थे।

मायावती सरकार में जब्त की गई थी पिता की करोड़ों रुपए की संपत्ति । मायावती सरकार में जब्त की गई थी पिता की करोड़ों रुपए की संपत्ति ।
14 सालों बादकी गई रिलीज। 14 सालों बादकी गई रिलीज।