Hindi News »Uttar Pradesh »Allahabad» Saint Organized National Seminar For Ganga Clean Mission

कुम्भ से पहले गंगा न हुई स्वच्छ तो सरकार को भुगतना पड़ेगा खामियाजा: स्वामी रामसुभग

इलाहाबाद में गंगा व किसान की व्यथा और दशा पर प्रकाश डालने के लिए राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jan 27, 2018, 06:08 PM IST

  • कुम्भ से पहले गंगा न हुई स्वच्छ तो सरकार को भुगतना पड़ेगा खामियाजा: स्वामी रामसुभग
    +1और स्लाइड देखें
    स्वामी रामसुभग देव ने कहा- पूर्व की सरकारों ने गंगा में बांध बनाकर उसके जल के प्रवाह को रोकने जैसा काम किया है, जिसकी वजह से गंगा का जल प्रवाह बाधित हुआ है।

    इलाहाबाद(यूपी). यहां शनिवार को गंगा व किसान की व्यथा और दशा पर प्रकाश डालने के लिए राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इस दौरान संगोष्ठी के संरक्षक स्वामी रामसुभग देव ने कहा, ''पूर्व की सरकारों ने गंगा में बांध बनाकर उसके जल के प्रवाह को रोकने जैसा काम किया है, जिसकी वजह से गंगा का जल प्रवाह बाधित हुआ है। कुम्भ से पहले गंगा को स्वच्छ व निर्मल करने का समय सरकार और प्रशासन को हमारी ओर से दिया जा रहा है। अगर यह काम नहीं हुआ तो उन्हें अपनी गलती का खामियाजा भुगतना पड़ेगा।''राम मंदिर निर्माण पर कहीं ये बातें...

    - मुख्य अथिति महामंडलेश्वर संतोष दास ने कहा, ''संत किसी एक का नहीं होता है, वो सारे जगत का होता है। चाहे किसी की भी सरकार रही हो, सनातन धर्म सभी की बात करता है।

    - राम मन्दिर के निर्माण के लिए जो भी दावे किए गए, उसे अब तक पूरा नहीं किया गया है। इसलिए यह भी एक चिन्तन का विषय है, सनातन धर्म में हिटलरशाही नहीं चलेगी। इस बात को सरकार को ध्यान में रखना चाहिए।''

    किसान का आत्महत्या करना: सरकार की गलत नीतियों का नतीजा है

    -एनडीएफ नेशनल डेमोक्रेटिक फ्रंट के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुन्ना यादव ने कहा, ''देश में कोई भी सरकार हो, लेकिन गंगा की सफाई और किसान की भलाई के बारे में अब तक कोई ठोस योजना सरकार नहीं बना पाई हैं।''

    - ''इसकी वजह से एक ओर गंगा की सफाई नहीं होने से वो लुप्त होने कगार पर पहुंच गई हैं। वहीं, दूसरी ओर किसानों को उपज का सही मूल्य न मिलने की वजह से वो आत्महत्या करने को मजबूर है।''

    - ''सरकार की गलत नीतियों का नतीजा है, जिसकी वजह से गंगा प्रदूषण के भंवर में फंसी हुई हैं। साथ ही किसान अपनी बदहाली को लेकर व्यथित है।''

  • कुम्भ से पहले गंगा न हुई स्वच्छ तो सरकार को भुगतना पड़ेगा खामियाजा: स्वामी रामसुभग
    +1और स्लाइड देखें
    गंगा व किसान की व्यथा और दशा पर प्रकाश डालने के लिए राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Allahabad News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Saint Organized National Seminar For Ganga Clean Mission
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Allahabad

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×