--Advertisement--

किसी ने सड़कों पर गुजारी रातें-कोई पढ़ाई में था वीक..ऐसे हैं ये UP के सेलेब्स

DainikBhaskar.com आपको बॉलीवुड के कुछ ऐसे सितारों के बारे में बता रहा है, जो यूपी के हैं।

Dainik Bhaskar

Jan 23, 2018, 06:58 PM IST
Special story on UP Diwas

इलाहाबाद(यूपी). 24 जनवरी को यूपी दिवस के रूप में मनाया जाएगा। DainikBhaskar.com आपको बॉलीवुड के कुछ ऐसे सितारों के बारे में बता रहा है, जो यूपी के हैं। महानायक अमिताभ हरिवंश बच्चन से लेकर नसीरुद्दीन शाह तक फिल्मी दुनिया में नाम काम रहे हैं।

(आगे की स्लाइड में इन्फो में पढ़ें, UP के 7 सेलेब्स के इंटरेस्टिंग फैक्ट्स)


# नसीरुद्दीन शाह

- बाराबंकी के घोसि‍याना मोहल्‍ले के रहने वाले अली मोहम्मद के घर 20 जुलाई 1950 को नसीरुद्दीन शाह का जन्म हुआ था।
- शाह बचपन से ही पढ़ाई में कमजोर थे इस बात को लेकर अक्सर उनकी पिता से अनबन रहती थी। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन किया है।
- इस दौरान उनकी मुलाकात पाकिस्तान से मेडिकल की पढ़ाई करने आई परवीन मुराद से हुई।
- परवीन उम्र में शाह से 15 साल बड़ी थी, फिर भी प्यार हुआ और दोनों ने निकाह कर लिया
- निकाह के 10 महीने बाद परवीन ने बेटी हिबा को जन्म दिया। इसके बाद शाह ने दिल्ली के नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में एडमिशन लिया।
- इस दौरान परवीन से कम्युनिकेशन बंद कर दिया। शाह की बेरुखी देखते हुए परवीन अपनी बेटी को लेकर लंदन फिर वहां से ईरान चली गईं।
- इसी बीच दोनों का तलाक भी हो गया। इसके बाद शाह ने एक्ट्रेस रत्ना पाठक से शादी थी।

मिल चुका है पद्म भूषण अवॉर्ड

- शाह ने अपने कैरियर में कई अवॉर्ड जीते हैं, जिनमें तीन नेशनल फिल्म अवॉर्ड, तीन फिल्मफेयर अवॉर्ड और वेनिस फिल्म समारोह में एक पुरस्कार शामिल है। भारत सरकार ने उन्हें भारतीय सिनेमा में योगदान के लिए पद्म श्री और पद्म भूषण अवॉर्ड से सम्मानित किया है।

क्यों मनाया जाएगा UP दिवस?
- यूपी दिवस यहां पहली बार मनाया जा रहा है। इसकी शुरुआत राज्यपाल राम नाइक की पहल पर की गई है। नाइक के मुताबिक, जैसे हर प्रदेश अपने स्थापना दिवस को यादगार बनाने के लिए कुछ न कुछ प्रोग्राम करता है, हमें भी इसे सेलिब्रेट करना चाहिए।
- इसके बाद ही यूपी के सीएम आदित्यनाथ योगी ने 24 जनवरी को यूपी दिवस के रूप में मनाने की घोषणा कर दी।
- यूपी दिवस इसलिए भी खास है क्योंकि अभी हाल ही में 'वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट योजना' को लॉन्च किया गया है। जिसके जरिए हर जिले को उसकी खासियत के हिसाब से इंटरनेशनल मार्केट में ले जाने और ब्रांडिंग का मौका मिलेगा। इसके लिए यहां प्रदर्शनी लगाई जाएगी।

Special story on UP Diwas

# अमिताभ बच्चन
 
- इलाहाबाद के रहने वाले डॉ. हरिवंश राय बच्चन और तेजी बच्चन के घर 11 अक्टूबर 1942 को अमिताभ बच्चन का जन्म हुआ। 
- इनके पिता डॉ. हरिवंश राय बच्चन एक प्रसिद्ध हिंदी कवि थे, जबकि मां की थिएटर में गहरी रुचि थी।
- शुरू में इनका नाम इंकलाब रखा गया था, लेकिन बाद में फिर से अमिताभ नाम रख दिया गया। 
- अमिताभ के फिल्म लाइन में आने पर उनकी मां ने काफी हद तक सपोर्ट भी किया था। 
- मनायक अमिताभ हरिवंश बच्चन को पहली बार 1970 के दशक की शुरुआत में दीवार और जंजीर जैसी फिल्मों से फेम मिला।

 

मिल चुका है पद्म भूषण अवॉर्ड 
- बच्चन ने अपने करियर में कई प्रमुख पुरस्कार जीते हैं, जिसमें तीन नेशनल फिल्म अवॉर्ड, इंटरनेशनल फिल्म समारोहों और पुरस्कार समारोहों और चौदह फिल्मफेयर पुरस्कारों पर कई पुरस्कार हैं। 
- एक्टिंग के अलावा, बच्चन ने एक प्लेबैक सिंगर, फिल्म मेकर और टेलीविजन प्रेजेंटर के रूप में काम किया है। 

Special story on UP Diwas

# अनुष्का शर्मा 


- एक्ट्रेस अनुष्का शर्मा का जन्म अयोध्या में 1 मई 1988 को हुआ था। 2007 में फैशन डिजाइनर वेंडेल रॉड्रिक्स के लिए एक मॉडल के रूप में पहला ब्रेक मिला।
- फिर मॉडलिंग में करियर बनाने के लिए मुंबई चलीं गई। यशराज फिल्म्स में एक सफल ऑडिशन के बाद, तीन फिल्मों को साइन किया।
- 2008 में रिलीज हुई 'रब ने बना दी जोड़ी' फिल्म के साथ फिल्मी करियर की शुरुआत की।

टीनएज से ही झेला है रिजेक्शन, फेस पर भी हुए कमेंट्स
- एक इंटरव्यू में अनुष्का ने बताया था, ''15 साल की उम्र में मुझे रिजेक्शन झेलना पड़ा था, जिसके कारण मानसिक तौर पर नुकसान हुआ, साथ ही साथ मेरे आत्मसम्मान को भी धक्का लगा था।''
- ''मैंने तो ये तक सुना है कि कुछ ने ये भी कहा कि मेरा लुक अच्छा नहीं है। इतना ही नहीं कुछ ने तो मेरी फिजिक पर भी कमेंट्स किए।''
- ''पहली फिल्म 'रब ने बना दी जोड़ी' के समय मुझसे कहा था कि मेरे लुक वैसे नहीं है जैसा उन्होंने इस फिल्म की एक्ट्रेस के लिए सोचा है। उन्होंने मुझसे कहा था कि मुझे सिर्फ फिल्म में इसलिए साइन किया गया क्योंकि मुझमें टेलेंट है और मैंने ऑडिशन के समय इसे दिखाया भी।''

Special story on UP Diwas

# नवाजुददीन सिददकी 


- मुजफ्फरनगर जिले के बुधाना कस्‍बे में एक मुस्लिम परिवार में नवाजुददीन सिददकी का जन्म 19 मई 1974 हुआ था। 
- इनके पिता किसान हैं। उनके सात भाई और दो बहनें हैं। हरिद्वार की गुरुकुल कांगड़ी यूनिवर्सिटी से साइंस में ग्रेजुएशन किया है। 
- छोटे कस्बे की जिंदगी रास नहीं आई तो दिल्ली चले गए। जिंदगी चलाने का जरिया चाहिए था तो यह चौकीदार तक का काम करने से पीछे नहीं हटे, लेकिन इनके अंदर कुछ कर दिखाने का जज्बा था।
- दिल्‍ली के नेशनल स्‍कूल ऑफ ड्रामा से थियेटर से 1996 में ग्रेजुएट होकर निकले। इसके बाद साक्षी थिएटर ग्रुप के साथ काम भी किया।
- यहां इन्हें मनोज वाजपेयी और सौरभ शुक्ला जैसे कलाकारों के साथ काम करने का मौका मिला।


टर्निंग पॉइंट
- साल 2010 रिलीज हुई आमिर खान प्रोडक्शंस की पीपली लाइव ने इन्हें ऐक्टिंग की वजह से सबकी नजरों में ला दिया। 
- साल 2012 में कहानी, तलाश और पान सिंह तोमर जैसी फिल्मों ने बॉलीवुड में एकदम अलग किस्म के कलाकार के रूप में पहचान बनाई।
- गैंग्स ऑफ वासेपुर' (2014), 'द लंचबॉक्स' (2013) और 'बजरंगी भाईजान' (2015) जैसी फिल्मों में काम कर चुके हैं।  

Special story on UP Diwas

# राजपाल यादव

- एक्टर राजपाल यादव का जन्म शाहजहांपुर में 16 मार्च 1971 को हुई थी। जिले में थियेटर से जुड़कर कई नाटक किए। 
- इसके बाद 1992-94 के दौरान वे लखनउ के भारतेंदु नाट्य एकेडमी में थियेटर ट्रेनिंग के लिए आ गए। 
- वहां दो साल का कोर्स करने के बाद 1994-97 के दौरान वे दिल्ली के नेशनल स्कूल आॅफ ड्रामा चले गए। 
- इसके बाद वे 1997 में भारतीय फिल्म इंडस्ट्री में अपना करियर बनाने के लिए मुंबई आ गए। 


5 रुपए जेब में आने के बाद खुद को समझ रहा था राजा

- एक इंटरव्यू में राजपाल ने बताया था, '' एक बार शहर से घर लौट रहा था, साथ में बड़े भाई श्रीपाल यादव भी थे। देर हो जाने पर कोई सवारी नहीं मिल रही थी। उस समय मैं 65 किलोमीटर साइकिल चलाकर घर पहुंचा था। वो दिन आज भी मुझे याद है।''
- ''एक समय मेरे पास बिल्‍कुल पैसे नहीं थे, जेब खाली थी। बड़े भाई के पास एक रुपया था। हम स्‍टेशन के पास से गुजर रहे थे, वहां मेरी नजर बिक रही लाॅटरी पर पड़ी।''
- ''मैंने भैया से एक रुपए लिए और उससे लॉटरी खरीद ली। इसपर भाई ने मुझे काफी सुनाया भी था। दूसरे दिन जब मैं स्कूल के लिए शहर आया, तो लाॅटरी वाले के पास गया। मेरा 65 रुपए का इनाम निकला।''
- ''इसके बाद मैंने 65 रुपए लेकर 10 रुपए के टिकट और लिए। 5 रुपए अपने पास रखकर 50 रुपए भैया को दे दिए। 5 रुपए जेब में आने के बाद मैं खुद को राजा समझ रहा था। लेकिन भाई ने कहा, आज के बाद लाॅटरी नहीं खरीदना।''

Special story on UP Diwas

# अनुराग सिंह कश्यप

- फिल्म डायरेक्टर, प्रोडूसर व राइटर अनुराग सिंह कश्यप का जन्म 10 सितंबर 1972 को गोरखपुर जिले में हुआ था।
- इसके बाद अलग-अलग शहरों में पले-बढे। इन्होंने अपनी एजुकेशन देह्ररादून और ग्वालियर में की।
- फिल्में देखने का शौक बचपन से ही था, पर स्कूली शिक्षा के दौरान वो छूट गया। कॉलेज में थिएटर टोली से जुड़कर इंटरनेशनल फिल्म महोत्सव में उपस्थित हुए।
- इसके बाद फिल्में बनाने की इच्छा जागी। यहीं से उन्होंने अपने कैरियर की शुरुआत की। फिल्में बनाने की लालसा इन्हें 1993 में पॉकेट में 5 से 6 हजार रुपए लेकर मुंबई खींच आई। 
- 8 से 9 महीने काम की खोज में भटकते रहे। इस दौरान इन्हें कई बार सड़कों पर भी सोना पड़ा। 
- उनकी कुछ फिल्मों में इन शहरों की छाप देखने को मिलती हैं। जैसे इन्होंने अपनी 'गैग्स ऑफ वासेपुर' मूवी में खास तौर पर उस घर का यूज किया, जहां वो पले-बढे। 

Special story on UP Diwas

# रवि किशन शुक्ला

 

- एक्टर रवि किशन शुक्ला का जन्म 17 जुलाई 1971 में जौनपुर में हुआ था।  
- एक इंटरव्यू में बताया था, ''1990 में जब गांव छोड़कर वो मुंबई आ गए थे तब उनके पास न खाने के लिए पैसे थे और न सिर छुपाने के लिए कोई ठिकाना।'' 
- ''दो वक्त की रोटी के लिए रोज काम ढूंढता था। काम मिल जाता तो भर पेट खाता, नहीं तो भूखे पेट ही रात बितानी पड़ती थी।''

 

Special story on UP Diwas

# दिशा पटानी 

 

- एक्ट्रेस दिशा पटानी का जन्म बरेली में 13 जून, 1992 को हुआ था। इन्होंने करियर की शुरुआत कैडबरी डैरीमिल्क चॉकलेट के टीवी ऐड से की थी। 
- दिशा बचपन से ही पढ़ने में तेज रहीं। इसी वजह से साइंटिस्ट बनने का सपना देख रही थीं। हालांकि, किस्मत ने उनके लिए कुछ और चुना था। 
- 2011 में लखनऊ एमिटी यूनिवर्सिटी में बायोटेक की पढ़ाई करते हुए उन्होंने फैशन की फील्ड में अपनी किस्मत आजमाई। 2013 में वे 'फेमिना मिस इंडिया इंदौर' की रनर अप रही हैं। 
- 2015 में आईं तेलुगु फिल्म 'लोफर' से उन्होंने डेब्यू किया। इसी साल आई 'एम एस धोनी: द अनटोल्ड स्टोरी'(2016) उनकी पहली बॉलीवुड फिल्म बनीं।
- दिशा की बहन खुशबु पटानी सेना में केप्टन के पद पर तैनाद हैं। पिता जगदीश पटानी बरेली में रहते हैं। 

X
Special story on UP Diwas
Special story on UP Diwas
Special story on UP Diwas
Special story on UP Diwas
Special story on UP Diwas
Special story on UP Diwas
Special story on UP Diwas
Special story on UP Diwas
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..