--Advertisement--

UP बोर्ड- अप्रैल 2018 में स्टूडेंट्स को मिलेंगी नई बुक्स, ये होंगे चेंजेज

यूपी बोर्ड के विद्यार्थियों के अभी तक जो पुस्तकें मिलती थीं, वो आकर्षक और टिकाऊ नहीं होती थीं।

Dainik Bhaskar

Dec 18, 2017, 01:44 PM IST
UP Boards book looks going to be changed

इलाहाबाद. यूपी बोर्ड अप्रैल-2018 से अच्छी क्वालिटी के पेपर और नए कलेवर साथ नई किताबें लागू करने जा रहा है। इसके लिए शासन से अनुमति मिल गई है। यूपी बोर्ड से जुड़े विद्यालयों में एनसीईआरटी की किताबें लागू हो रही हैं, जिसके प्रकाशन के लिए इसी सप्ताह टेंडर प्रक्रिया शुरू की जाएगी। अप्रैल 2018 से जो किताबें यूपी बोर्ड के छात्र-छात्राओं को मिलेगी वो चेंज रहेंगी।

एनसीईआरटी और यूपी बोर्ड के मानक में है इतना फर्क
- यूपी बोर्ड के विद्यार्थियों के अभी तक जो पुस्तकें मिलती थीं, वो आकर्षक और टिकाऊ नहीं होती थीं। वहीं एनसीईआरटी से प्रकाशित किताबें आकर्षक और टिकाऊ होती हैं।
- यूपी बोर्ड ने पिछले वर्ष जो किताबें प्रकाशित करवाई थी, उसके अंदर के पन्ने 60 GSM और कवर पेज 175 GSM का था। वहीं एनसीईआरटी की किताबों में अंदर के पेज 80 GSM और कवर पेज 220 GSM का होते हैं। साथ ही यह किताबें आकर्षक भी होती हैं।
- एनसीईआरटी की किताबों में विषय को समझाने के लिए रोचक तरीके से प्रस्तुत किया जाता है, जैसे कार्टून, चित्र आदि का ज्यादा यूज होता है। जो बच्चों को समझने में भी आसान होता है और रोचक भी लगता है।
- अप्रैल 2018 से जो किताबें यूपी बोर्ड के छात्र-छात्राओं को मिलेगी वो भी कार्टून चित्र आदि से सजी होंगी।

पहले चरण में 9th से 12th तक की 18 विषयों की किताबें होंगी लागू
- यूपी बोर्ड की सचिव नीना श्रीवास्तव ने बताया, यूपी बोर्ड पहले चरण में कक्षा 9 से 12 तक के 18 विषयों की नई किताबें लागू करेगा। एनसीईआरटी की किताबें जिस पेपर पर छपती हैं, उसी पर यूपी बोर्ड की भी किताबें छपेंगी। अभी जो किताबें यूपी बोर्ड के बच्चों को मिलती थीं, वो सस्ती होती थी। हमारी कोशिश रहेगी की बच्चों को एनसीईआरटी पैटर्न पर छपी किताबें भी कम कीमत पर उपलब्ध रहे।

X
UP Boards book looks going to be changed
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..