--Advertisement--

UP: योगी के कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल नंदी का विवादित बयान, मुलायम सिंह को बताया रावण तो मायावती को कह गए सूर्पनखा

रविवार को फूलपुर उपचुनाव प्रचार में मंत्री नंदी बोले,मुलायम को रावण और मायावती को बताया शूर्पणखा.

Dainik Bhaskar

Mar 05, 2018, 01:03 PM IST
कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल नंदी। कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल नंदी।

इलाहाबाद. यूपी के कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल नंदी ने सीएम योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में एक विवादित बयान दिया है। रविवार को फूलपुर उपचुनाव प्रचार में नंदी ने मंच से अपने भाषण में मायावती को शूर्पनखा, मुलायम सिंह यादव को रावण तो शिवपाल यादव को कुंभकर्ण बता डाला। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तुलना भगवान राम से और योगी आदित्यनाथ की तुलना हनुमान से की। रविवार को फूलपूर में सीएम योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में हुई चुनावी सभा में मंत्री नंद गोपाल नंदी ने कहा कि शूर्पनखा ने भगवान राम से पूछा कि कलयुग में मेरा स्थान क्या होगा तो उन्होंने कहा तुम मायावती का रुप लोगी और राज करोगी परंतु उसमें भी तुम्हारा विवाह नहीं हो पाएगा।

वाराणसी में बोले-दलितों के घर मेरी और मेरी पत्नी की फोटो लगी है

-रविवार को विवादित बयान देने के बाद नंद गोपाल नंदी ने सोमवार को वाराणसी पहुँच कर मायावती पर पलटवार किया.
-उन्होंने कहा कि मायावती खुद बहुत कंफ्यूज हैं। दलित वोटो को मायावती ने बेचा है। दलितों के घरों में हमारी और हमारी पत्नी की तस्वीर लगी है। दलितों के सारे वोट बीजेपी को ही मिलेंगे।
-उन्होंने कहा मायावती का कभी दलितों की भलाई का एजेंडा ही नही था। दलितों के वोट को मायावती ने बेचा है। अब दलित समाज इनके बात में आने वाले नही है।

सपा-कांग्रेस से नहीं अतीक से है हमारा मुकाबला

-फूलपुर में बीजेपी प्रत्याशी के कंपीटिशन में कौन है के सवाल पर कहा कि किसी से कोई कॉम्पिटिशन नही है। कांग्रेस के प्रत्याशी को कोई नही जानता वो रेलवे में ठेकेदार है। सपा के भी फूलपुर में प्रत्याशी है। हमारी लड़ाई सपा से और न कांग्रेस है। अतीक अहमद बनाम हमारे (बीजेपी) प्रत्याशी में चुनाव है।

इन मामलों में चर्चा में रहे

- 26 जनवरी 2018 को अपने ड्राइवर को इलाहाबद चलने का दबाव बनाने पर न मनाने पर उसकी पिटाई कर दी थी। साथी की पिटाई से नाराज संघ सदस्यों मंत्री निवास घेर लिया था। यहीं नहीं राज्य संपत्ति के अधिकारियों का कहना है कि, बीते 11 महीनों में मंत्री के 9 ड्राइवर बदले जा चुके हैं।
- 14 नवंबर 2017 को नंदी का एक वीडियो वायरल हुआ था। जिसमें वह पार्टी वर्कर से पैर दवबाते हुए नजर आ रहे थे। नंदी के ऊपर के 23 मुकदमे चल रहे हैं।

घर के बाहर हुआ था बम से हमला


- वर्ष 2008 में बसपा के टिकट पर पहली बार विधायक बनने के बाद नंदी को मायावती सरकार में कैबिनेट मंत्री बनाया गया था। इस दौरान घर के बाहर बम से हुए हमले के बाद वह चर्चा में आए थे। इस हमले में पांच लोगों समेत मंत्री नंदी भी घायल हुए थे। फिलहाल इस मामले में दो साल की फरारी के बाद सपा के बाहुबली एमएलए विजय मिश्रा को मुंबई से अरेस्ट किया गया था।

तीन दिग्गज नेताओं को था हराया


-नंद गोपाल नंदी साल 2007 में बीएसपी के टिकट पर विधानसभा चुनाव में उतरे और विधायक बने थे।
-उस समय उन्होंने भाजपा के बड़े नेता केशरी नाथ त्रिपाठी और कांग्रेस की वरिष्ठ नेता रही रीता बहुगुणा जोशी और सपा के प्रत्याशी समेत तीन को हराकर चर्चा में आए थे।
-2012 में नंद गोपाल नंदी एक बार फिर बीएसपी के टिकट पर चुनाव लड़े, हालांकि इस बार उन्हें हार का सामना करना पड़ा।
- 2014 के आम चुनाव में नंदी कांग्रेस पार्टी से मैदान में उतरे लेकिन सफलता नहीं मिली।
-मात्र दसवी पास नंदी का इलाहाबाद के नामी व्यापारियों में उनका नाम हैं। इलाहाबाद में आपको नंदी ब्रांड का आटा, चावल , नमक, सरिया, सब मिल जाएगा।
-बताया जाता है कि, साल में 2012 में सपा के बाहुबली नेता विजय मिश्रा से नंद गोपाल नंदी की दुश्मनी हो गई।
-व्यापार और बाहुबली से बढ़ी दुश्मनी के बाद वह मौका देखकर उन्होंने बसपा से टिकट लेकर चुनाव लड़े और जीत गए।
-वर्ष 2014 के चुनाव में दिए अपने हलफनामे में नंद गोपाल गुप्ता नंदी की संपत्ति 95 करोड़ से ऊपर की बताई गयी है।

X
कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल नंदी।कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल नंदी।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..