Hindi News »Uttar Pradesh »Allahabad» BSP Leader Rajesh Yadav Murder Case

BSP नेता हत्याकांड: जांच के दौरान स्पॉट पर दोहराया घटना का सीन

2 अक्टूबर की देर रात बसपा नेता राजेश यादव की हत्या कर दी गई थी।

DainikBHaskar.com | Last Modified - Nov 15, 2017, 10:17 AM IST

  • BSP नेता हत्याकांड: जांच के दौरान स्पॉट पर दोहराया घटना का सीन
    +2और स्लाइड देखें
    फॉरेंसिंक टीम ने गाड़ी के अंदर और बाहर गहन जांच की।
    इलाहाबाद.बसपा नेता राजेश यादव की हत्या की गुत्थी को सुलझाने के लिए मंगलवार को लखनऊ विधि विज्ञान प्रयोगशाला से आए एक्सपर्ट ने पूरे वारदात का सीन दोहराया। गाड़ी के अंदर और बाहर की गहन जांच की गई। इसके बाद ताराचंद हॉस्टल के बाहर घटना स्थल पर डॉ मुकुल को उस गाड़ी में बैठाकर डेमो कराया। डॉ ने ड्राइवर की सीट पर बैठकर गाड़ी चलाकर भी दिखाई। इसके बाद उनका लिखित बयान दर्ज किया गया। विधि विज्ञानशाला के डिप्टी डॉयरेक्टर अजय श्रीवास्तव की टीम के साथ मंगलवार को कर्नलगंज थाने पहुंचे। सीओ आलोक मिश्र और विवेचक अवधेश प्रताप सिंह से राजेश यादव हत्याकांड के बारे में पूछताछ की।
    मुख्य आरोपी डॉ मुकुल से की गई पूछताछ
    - इसके बाद सीसीटीवी फुटेज की गहन जांच पड़ताल की गई। उसमें दिख रहे आठों युवक के बारे में बातचीत की गई। फुटेज में ये भी दिखा कि बसपा नेता राजेश यादव की गाड़ी भी गुजरी थी। इसके बाद वहां मौजूद राजेश यादव की पत्नी मोनिका यादव से भी पूछताछ की गई।
    - इस दौरान मोनिका रोने लगीं और डॉ मुकुल पर ही साजिश रचने का आरोप लगाती रहीं। कर्नलगंज थाने के बाहर खड़ी राजेश यादव की फॉर्च्यूनर कार की जांच की गई।
    - चालक की सीट से लेकर गाड़ी के पीछे लगे गोली के सुराग को देखा और उसकी जांच की। आधे घंटे तक एक्सपर्ट ने गाड़ी के अंदर जांच में लगे कि कहीं कोई बुलेट तो नहीं है। वहां से कार की जांच के बाद नामजद आरोपी डॉ को बुलाया।
    पूरा सीन दोहराया, डाक्टर का बयान किया दर्ज
    - दोपहर में एक्सपर्ट ताराचंद छात्रावास पहुंचे और वहां पर पूरी सीन को दोहराया गया। राजेश के एक परिचत को राजेश की जगह गाड़ी में बैठा दिया गया। फिर बगल वाली सीट पर डॉ मुकुल बैठ गए।
    - घटनास्थल के चारों तरफ मुकुल के बयान के आधार पर आठ लोगों को खड़ा किया गया। डॉ मुकुल के मुताबिक, छात्रों के हंगामा कर रहे थे।
    - राजेश यादव ने गाड़ी का शीशा नीचे करके हाथ बाहर निकाले। इसके बाद वह पिस्टल से फायर किए थे। इस दौरान दो युवक दरवाजे के पास पहुंचे। जितनी दूरी पर डॉ ने आरोपी का होना बताया।
    - वहां पर एक दारोगा को खड़ा करके पिस्टल से गोली चलाने का सीन दोहराया गया। फिर एक्सपर्ट ने उसकी दूरी नापकर रजिस्टर में अंकित किया।
    मुकुल के बयान पर उठ रहे सवालों से उलझता जा रहा मामला
    - डॉ पर शुरू से आरोप लग रहा था कि आटोमैटिक गाड़ी में बगल वाली सीट पर बैठकर गाड़ी नहीं चलाया जा सकता। इसका भी सीन दोहराया गया।
    - डॉ मुकुल सिंह ने बगल वाली सीट पर बैठकर गाड़ी चलाकर दिखाया। जैसे वो घटना के वक्त किए थे। सीन दोहराने के बाद एक्सपर्ट ने मुकुल को कर्नलगंज थाने ले गई, जहां बयान दर्ज किया।
    - पूछताछ के बाद डिप्टी डॉयरेक्टर ने उनका लिखित में बयान दर्ज किया। इस दौरान राजेश के बेटे आकाश ने भी कुछ बिंदुओं पर आपत्ति जताई। उसका कहना था कि गाड़ी आटोमैटिक चल रही थी। उसको रोकना संभंव नहीं था।
    - फिर कैसे डा. मुकुल सिंह वहां से कार चलाकर कैसे निकले, ये यक्ष प्रश्न बना हुआ है। दो अक्तूबर की रात राजेश यादव अपने मित्र डॉ के साथ ताराचंद छात्रावास में गए थे। जहां पर उनकी गोली मारकर हत्या कर दी गई।
    - राजेश यादव की पत्नी मोनिका यादव ने डॉ के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस इस मुकदमे में जग्गा और आशुतोष को अरेस्ट कर जेल भेज चुकी है। मुख्य शूटर आकाश समेत अन्य की तलाश की जा रही है।
    राजेश यादव का खून ही खोलेगा मौत का राज
    - बसपा नेता राजेश यादव मर्डर केस का पर्दाफाश अब वैज्ञानिक साक्ष्यों पर टिका है। मुख्य आरोपी डा.मुकुल के बयान और उनके गाड़ी चलाने के बाद भी कई ऐसे पहलू हैं। जिसकी जांच फोरेंसिक लैब में की जाएगी।
    - फॉरेंसिक एक्सपर्ट ने सीन दोहराने के बाद उसको साइंटिफिक तरीक से जांच करेगी। जिसके बाद परिणाम निकलेगा कि उन्होंने कितना सच बोला है।
    - फॉरेंसिक टीम के डिप्टी डॉयरेक्टर अजय श्रीवास्तव ने बताया कि डॉ मुख्य आरोपी मुकुल के बयान के आधार पर सीन दोहराया गया है। पुलिस या एक्सपर्ट ने कुछ नया नहीं किया है।
    डॉ मुकुल के बयान का नये सिरे से किया जाएगा अध्ययन
    - अब इसकी जांच की जाएगी कि उन्होंने जो कहानी बतायी,उसमें कितनी सच्चाई है। इस केस में सबसे अहम बसपा नेता का खून से सना वह कपड़ा है। जो घटना के समय उन्होंने पहन रखा था। उस कपड़े से एक्सपर्ट यह पता लगाएंगे कि जितनी दूरी से पिस्टल से गोली मारी गई थी।
    - क्या उससे उसी एंगल पर गोली लगेगी। दूसरा डॉ मुकुल ने एक ही फायर होने की बात कही थी। इसके लिए बसपा नेता राजेश यादव और डा. मुकुल सिंह की पिस्टल को जांच के लिए फोरेंसिक लैब भेजा गया है। उसकी रिपोर्ट भी कुछ हद तक इस जांच में जरूर मदद करेगी।
  • BSP नेता हत्याकांड: जांच के दौरान स्पॉट पर दोहराया घटना का सीन
    +2और स्लाइड देखें
  • BSP नेता हत्याकांड: जांच के दौरान स्पॉट पर दोहराया घटना का सीन
    +2और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Allahabad

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×