--Advertisement--

पत्नी ने बेच दिया सबकुछ,अब दाने-दाने को मोहताज है कांस्टेबल का परिवार

मदद के नाम पर पुलिस डिर्पाटमेंट से उसे एक पैसा नहीं मिला है

Dainik Bhaskar

Nov 29, 2017, 12:44 PM IST
फीस नहीं जमा होने की वजह से बच्चों की पढ़ाई बंद हो गई है। फीस नहीं जमा होने की वजह से बच्चों की पढ़ाई बंद हो गई है।

इलाहाबाद. सड़क हादसे में घायल यूपी पुलिस का एक कांस्टेबल जिंदगी और मौत के बीच झूल रहा है। 6 अक्टूबर 2017 को ड्यूटी के दौरान लवकुश सड़क हादसे में जख्मी हो गया था। इसके बाद कानपुर के नॉर्थ हास्पिटल में भर्ती कराया गया। लवकुश के परिजनों का आरोप है कि मदद के नाम पर पुलिस डिर्पाटमेंट से एक पैसा भी नहीं मिला है। बता दें कि इस हादसे के बाद से उसके रीढ़ की हड्डी में काफी चोटें आई है, जबकि उसके दोनों पैरों ने काम करना बंद किया। जमीन से लेकर जेवर सब बिक गया

-लवकुश की पत्नी आरती सोनकर ने बताया, "6 अक्टूबर से लेकर 16 नवंबर के बीच हमारे पति का इलाज चला। उसके बाद हमारे पास पैसे नहीं थे। इस वजह से उन्हें हम घर ले आए।"

- "अब तक पति के इलाज में करीब 20 लाख से ज्यादा रुपए लग गए है। 2 बीघे जमीन और जेवर सब बिक चुका है। फीस जमा नहीं होने की वजह से बच्चों की पढ़ाई बंद हो गई है। अब तो हमें सीएम योगी का ही सहारा है। मुझे उम्मीद है कि योगी आदित्यनाथ हमारी कुछ मदद करेंगे।"

- लवकुश के भाई वीरेन्द्र सोनकर ने कहा, " भाई के इलाज के लिए अब हमारे पास पैसे नहीं है। कर्ज लेकर उनका इलाज करा रहा हूं।"

- आईजी जोन रोमित शर्मा ने कहा,"उन्हें मामले की जानकारी नहीं है। अगर ऐसा है तो पता लगाकर पुलिस कांस्टेबल की हर संभव मदद की जाएगी।"

6 अक्टूबर 2017 को ड्यूटी के दौरान रोड एक्सीडेंट में घायल हुआ था। 6 अक्टूबर 2017 को ड्यूटी के दौरान रोड एक्सीडेंट में घायल हुआ था।
पैसों की कमी की वजह से परिजन कानपुर के हॉस्पिटल से घर लेकर आ गए। पैसों की कमी की वजह से परिजन कानपुर के हॉस्पिटल से घर लेकर आ गए।
X
फीस नहीं जमा होने की वजह से बच्चों की पढ़ाई बंद हो गई है।फीस नहीं जमा होने की वजह से बच्चों की पढ़ाई बंद हो गई है।
6 अक्टूबर 2017 को ड्यूटी के दौरान रोड एक्सीडेंट में घायल हुआ था।6 अक्टूबर 2017 को ड्यूटी के दौरान रोड एक्सीडेंट में घायल हुआ था।
पैसों की कमी की वजह से परिजन कानपुर के हॉस्पिटल से घर लेकर आ गए।पैसों की कमी की वजह से परिजन कानपुर के हॉस्पिटल से घर लेकर आ गए।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..